गुरुवार शाम 47 नये कोरोना केसों में 20 दून से,प्रदेश में 3305

उत्‍तराखंड में गुरुवार को कोरोना के 47 मामले आए सामने, 22 लोग हुए स्‍वस्‍थ
देहरादून,। कोरोना की दृष्टि से उत्तराखंड में हालात 50-50 रहे। एक ओर जहां 47 नए मामले सामने आए हैं तो दूसरी ओर 22 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज भी हो गए। अभी तक उत्तराखंड में कोरोना के 3305 मामले आए हैं जिनमें 2672 यानि 80.85 प्रतिशत लोग ठीक हो चुके हैं,जबकि 558 मरीज अलग-अलग अस्पतालों व कोविड केयर सेंटरों में भर्ती हैं। कोरोना संक्रमित 28 लोग राज्य से बाहर जा चुके हैं,जबकि 46 मरीजों की मौत भी अब तक हो चुकी है।
Coronavirus: उत्तराखंड में गुरुवार को मिले 47 नए पॉजिटिव केस,संक्रमितों का आंकड़ा 3300 पार
उत्तराखंड में गुरुवार को 47 और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इन्हें मिलाकर प्रदेश में संक्रमितों का आंकड़ा 3300 के पार पहुंच गया है। वहीं गुरुवार को 22 संक्रमित मरीजों को इलाज के बाद घर भेजा गया है। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने इसकी पुष्टि की है।
स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, आज 1847 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज देहरादून जिले में 20 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसमें दो स्वास्थ्य कर्मी,चार दिल्ली,एक नोएडा,एक गाजियाबाद,दो गुरुग्राम,एक यमुनानगर,एक मुंबई,एक मथुरा,एक संपर्क में आया मरीज है जबकि छह संक्रमितों की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है।
नैनीताल जिले में मिले 12 संक्रमितों में पांच दिल्ली,तीन बरेली,एक बिहार,दो संपर्क में आए मरीज हैं। जबकि एक संक्रमित की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। पौड़ी में पांच संक्रमित दिल्ली से आए हैं। टिहरी में पांच संक्रमितों में चार कुवैत और एक दिल्ली से आया है। ऊधमसिंह नगर जिले में तीन संक्रमितों में एक मुंबई से आया है। जबकि एक मरीज अन्य पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आया और एक संक्रमित की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। चंपावत में दो संक्रमित मिले हैं। इनमें एक दिल्ली और दूसरा नोएडा से लौटा है।
बता दें कि प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 3305 पहुंच गई है। अब तक प्रदेश में 2672 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। अभी भी 536 एक्टिव केस हैं। जबकि अब तक 46 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 81.85 फीसदी है।
आज मिले संक्रमित मामले
जिला मरीजों की संख्या
देहरादून 20
नैनीताल 12
पौड़ी 05
टिहरी 05
ऊधमसिंह नगर 03
चंपावत 03
स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही ना बरतें पुलिसकर्मी
हरिद्वार में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने कोरोना को लेकर किसी तरह की लापरवाही ना बरतने के निर्देश पुलिसकर्मियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने वाले पुलिसकर्मी अपना कोरोना टेस्ट जरूर कराएं।
रोशनाबाद पुलिस लाइन में सभागार में आयोजित मासिक अपराध गोष्ठी में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कोरोना के मद्देनजर सतर्कता बरतना बेहद ही आवश्यक है। संवेदनशील प्वाइंट पर ड्यूटी कर रहे कर्मचारी समय-समय पर मेडिकल परीक्षण कराते रहें।
क्षेत्राधिकारी को निर्देश दिया कि सप्ताह मे एक दिन अपने अपने सर्किल के एक थाने में जनता की शिकायतों का निरस्तारण करें। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद अब फरियादी आने लगे है,लिहाजा शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए समस्याओं का निराकरण करेa।
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्‍स) ऋषिकेश में एक नर्सिंग ऑफिसर सहित पांच लोगों की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जनसंपर्क अधिकारी के मुताबिक एम्स में कार्यरत एक नर्सिंग ऑफिसर के अतिरिक्त राजस्थान से एम्स में नर्सिंग ऑफिसर की जॉइनिंग करने आए एक व्यक्ति की जॉइनिंग से पूर्व कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अतिरिक्त तीन अन्य पॉजिटिव ऋषिकेश आसपास क्षेत्र के हैं।
इनमें तीन मौत बुधवार को रिपोर्ट हुई हैं। इनमें 79 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में हुई है। वह पहले से ही कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे थे। हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट में भी एक 52 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई है। पौड़ी जिले के बेस अस्पताल कोटद्वार में 51 वर्षीय जिस व्यक्ति की मौत हुई है उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। अस्पताल पहुंचने से पहले ही व्यक्ति ने दम तोड़ दिया था।
इधर, स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को सर्वाधिक 2776 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें 2748 की रिपोर्ट निगेटिव और 28 की पॉजिटिव आई है। देहरादून में नौ लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। हरिद्वार में भी एक स्वास्थ्य कर्मी समेत छह लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। पौड़ी में चार नए मामले आए हैं। इनमें तीन की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लग पाई है,जबकि एक शख्स दिल्ली से लौटा हुआ है। उत्तरकाशी में भी दिल्ली व हरियाणा से लौटे चार लोग पॉजीटिव पाए गए। ऊधमसिंहनगर में तीन लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं नैनीताल में भी दिल्ली से लौटे दो लोग संक्रमित मिले हैं।

दो चिकित्सकों सहित नौ संक्रमित

दून में मरीजों का ग्राफ कम होने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा रिपोर्ट में भी जिले में नौ में कोरोना की पुष्टि हुई है। अभी तक देहरादून में कोरोना के 785 मामले आ चुके हैं। जिनमें 621 स्वस्थ हो चुके हैं। 118 एक्टिव केस हैं। कोरोना संक्रमित 19 लोग राज्य से बाहर जा चुके हैं, जबकि 27 की अब तक मौत हो चुकी है। इनमें हरिद्वार निवासी एक व्यक्ति की मौत बुधवार को रिपोर्ट हुई है।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर बीसी रमोला ने बताया कि नौ मामलों में कोरोना की पुष्टि हुई है, उनमें दो लोग पहले से दून अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि कांवली रोड निवासी एक युवक में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। एम्स ऋषिकेश से छह लोग की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
इनमें कोलकता से वापस आई एक महिला चिकित्सक व नोएडा से लौटे एक जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर भी शामिल हैं। वहीं, शामली निवासी एक व्यक्ति भी कोरोना संक्रमित मिला है। सड़क दुर्घटना में घायल यह शख्स कुछ दिन पहले एम्स में भर्ती हुआ था। इसके अलावा धारीवाला, हरिद्वार निवासी एक व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि हुई है। वह अपने चोटिल बच्चे को लेकर एम्स की इमरजेंसी में आया था। जहां उसका सैंपल लिया गया था। अस्पताल में भर्ती वीरपुर खुर्द ऋषिकेश निवासी शख्स और ओपीडी में इलाज के लिए पहुंचे शिवालिक नगर हरिद्वार निवासी एक व्यक्ति की रिपोर्ट भी पॉजिटिव है।
भट्ठा गांव में चार पॉजिटिव,प्रशासन अलर्ट
तीन दिनों में भट्ठा गांव में चार लोग के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर स्थानीय प्रशासन ने गांव के एक भाग को कंटेनमेंट जोन घोषित करने को जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। उधर,नगर पालिका ने पूरे गांव को सैनिटाइज कर दिया है। वहीं सावधानीवश गांव में पुलिस भी तैनात कर दी गई है।
परगनाधिकारी प्रेमलाल ने बताया कि कुछ दिन पहले भट्ठा गांव में हरियाणा से एक युवक, उसकी पत्नी, बच्चा व करीबी रिश्तेदार आया था। इन सभी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिस पर प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया है। फिलहाल एहतियातन गांव के एक हिस्से के चारों ओर बल्लियां बांध कर अन्य लोगों का प्रवेश निषेध किया गया है।
कोविड-19 नोडल अधिकारी एवं मसूरी पालिका के ईओ आशुतोष सती ने बताया कि पालिका द्वारा पूरे भट्टा गांव को सैनिटाइज किया गया है। कोतवाल देवेंद्र असवाल ने बताया कि एहतियातन गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है।
ग्रामसभा भट्ठा-क्यारकुली की प्रधान कौशल्या रावत ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए गांव के सात घरों को बेरिकेडिंग लगाकर सील किया गया है। कोरोना संक्रमित लोगों के परिजनों व उनके संपर्क में आए लोगों की कोविड रिपोर्ट आने तक अपने घरों में ही रहने व अत्यंत जरूरी होने पर ही मास्क पहनकर घरों से बाहर आने को कहा गया है
उत्‍तराखंड में गुरुवार को कोरोना के 47 मामले आए सामने, 22 लोग हुए स्‍वस्‍थ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *