श्रीनगर में मलिक ने फहराया तिरंगा, सीमा पर गोलीबारी

जम्मू कश्मीर: राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने फहराया तिरंगा, कहा- आतंकियों ने हार मान ली है। कार्यक्रम में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल काले चश्मे में अलग अंदाज में राज्यपाल मलिक से बात करते नजर आए।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने बताया कि बुधवार को श्रीनगर सहित कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में प्रतिबंधों में ढील दी गई. हालांकि,घाटी में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ प्रतिबंध जारी हैं.

jammu kashmir governor satya pal malik hoists national flag, says Terrorists have given up

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि सशस्त्र बलों की सतत कार्रवाई से आतंकवादियों ने हार मान ली है. जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद यह पहला स्वतंत्रता दिवस है. मलिक ने गुरुवार को श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में तिरंगा फहराया. ध्वजारोहण के बाद उन्होंने अर्धसैनिक बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस की परेड का निरीक्षण किया.

ANI

 @ANI

Jammu & Kashmir Governor Satya Pal Malik at Sher-i-Kashmir stadium in SRINAGAR: I assure the people of Jammu & Kashmir that their identity is not on the line, it hasn’t been tampered with. The constitution of India allows different regional identities to flourish. https://twitter.com/ANI/status/1161861421623369729 

ANI
@ANI
 Jammu & Kashmir Governor Satya Pal Malik at Sher-i-Kashmir stadium in SRINAGAR: The changes that the Central Government has brought are not only historic but also open a new door for the development of the people of Jammu-Kashmir, & Laddakh.
 कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि केंद्र के फैसले के बाद लोगों को अपनी पहचान को लेकर चिंतित होने की जरूरत नहीं है. भारतीय संविधान विभिन्न भाषाओं, संस्कृति, जीवन शैलियों को फलने-फूलने की गारंटी देता है।

उन्होंने कहा कि सरकार की नीति आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने की है और सशस्त्र बलों की सतत कार्रवाई से आतंकवादियों ने हार मान ली है. मलिक ने कहा कि आतंकवादियों की भर्ती और जुमे की नमाज के बाद पत्थराव की घटनाओं में भारी कमी आई है.

इस बीच, संविधान के अनुच्छेद-370 के तहत राज्य को मिला विशेष दर्जा खत्म करने के मद्देनजर यहां प्रतिबंध लागू रहा. जम्मू-कश्मीर प्रशासन के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने बताया कि बुधवार को श्रीनगर सहित कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में प्रतिबंधों में ढील दी गई. हालांकि,घाटी में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ प्रतिबंध जारी हैं. अधिकारी ने बताया कि पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद से कश्मीर में शांति बनी हुई है. इसलिए सरकार ने कई इलाकों में लागू निषेधाज्ञा में ढील दी है.

  • इस बीच पाकिस्तान ने सीमा पर लगातार गोलीबारी कर घुसपैठ की कोशिश में लगे आतंकियों को कवर देने की कोशिश की जिसे सुरक्षा बलों ने विफल कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *