विदेशी शराब उत्पादक कंपनी पर आयकर छापा,मिली सात अरब अघोषित आय 

पिछले हफ्ते भी आयकर विभाग  देश ने विभिन्न हिस्सों में छापेमारी की थी.आयकर विभाग ने बीयर और विदेशी शराब बनाने वाली कंपनी के ठिकानों पर छापा मारा है. इस छापेमारी में आयकर विभाग को 700 करोड़ की अघोषित आय का पता चला है. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक आयकर विभाग ने तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा में 6 अगस्त को छापा मारा था.आयकर विभाग की छापेमारीआयकर विभाग की छापेमारी

नई दिल्ली, 11 अगस्त ! आयकर विभाग ने बीयर और विदेशी शराब बनाने वाली कंपनी के ठिकानों पर छापा मारा है. इस छापेमारी में आयकर विभाग को 700 करोड़ की अघोषित आय का पता चला है. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक आयकर विभाग ने तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा में 6 अगस्त को  तलाशी और जब्ती अभियान (Search & Seizure Operation ) चलाया है. तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा के विभिन्न स्थानों पर 55 स्थानों पर तलाशी शुरू की गई है. 6 अगस्त को तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा में विभिन्न स्थानों पर आयकर विभाग द्वारा तालाशी अभियान को अंजाम दिया गया है. इस छापेमारी में अभी तक 700 करोड़ रूपये की अघोषित आय का पता लगा है, जिसका कर भुगतान के दौरान डिस्क्लोज नहीं किया गया था. थी. ये कंपनी बीयर और विदेशी शराब बनाती है..

आयकर विभाग ने सर्च ऑपरेशन 6 अगस्त को किया था. मंगलवार को हुए इस सर्च ऑपरेशन में कंपनी के 55 ठिकानों पर छापेमारे हुई थी. इसमें तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा में कंपनी की संपत्तियों पर सर्च ऑपरेशन किया था. यह संपत्ति कंपनी के प्रमोटर, प्रमुख कर्मचारी की थी. सर्च ऑपरेशन कुछ महीने पहले मिली जानकारी के आधार पर चलाया गया. आयकर विभाग को जानकारी मिली थी कि कंपनी द्वारा आयकर की चोरी की गई है. इसमें कहा गया था कि कंपनी अपनी उत्पादन प्रक्रिया में खर्च बढ़ाकर टैक्स बचा रही है.सर्च एक्शन के दौरान, आयकर विभाग को कई ऐसे साक्ष्य हाथ लगे हैं जिससे साफ होता है कि कंपनी ने टैक्स बचाने के लिए हेराफेरी की है. सबूतों में सप्लायर से खरीदे गए सामान के बिल हैं और बोतलें हैं, ये सामान बनाने का मुख्य सामान है. वहीं सप्लायर को पूरी पेमेंट करने के लिए चेक और आरटीजीएस के बजाए नकदी का इस्तेमाल भी हो रहा था. सप्लायर को कुछ पैसे आरटीजीएस से मिलते थे तो ज्यादातर पैसे नकद दिए जाते थे. सर्च के दौरान आयकर विभाग को पता चला कि कंपनी की कर योग्य आय 300 करोड़ रुपए है. तलाशी की कार्रवाई के दौरान एक गुप्त सूचना के आधार पर आयकर विभाग के अधिकारियों के कंपनी कर्माचारियों को ट्रैक किया और उन्हें रोककर कार से 4.5 करोड़ रुपए बरामद किए.

चार राज्यों में IT के छापे, 700 करोड़ रुपये के काले धन का पता चलाआयकर विभाग का चार राज्यों में छापा
आयकर विभाग  ने तमिलनाडु में बीयर और भारतीय निर्मित विदेशी शराब के प्रमुख उत्पादकों में से एक के खिलाफ 6 अगस्त को तलाशी और जब्ती अभियान चलाया है. तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा के विभिन्न स्थानों पर 55 स्थानों पर तलाशी शुरू की गई है. 6 अगस्त को तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और गोवा में विभिन्न स्थानों पर आयकर विभाग द्वारा तालाशी अभियान को अंजाम दिया गया है. इस छापेमारी में अभी तक 700 करोड़ रूपये की अघोषित आय का पता लगा है, जिसका कर भुगतान के दौरान डिस्क्लोज नहीं किया गयाइससे पहले भी आयकर विभाग देश ने विभिन्न हिस्सों में छापेमारी की है. शुक्रवार को असम में आयकर विभाग की एक बड़ी टीम ने कई व्यापरियों के अलावा एक चार्टड अकाउंटेंट के यहां भी छापेमारी थी. छापेमारी के दौरान आयकर विभाग की टीम ने आय से संबंधित के दस्तावेज जब्त किए. एक अगस्त को राजस्थान के कोटा जिले में आयकर विभाग की टीम ने 5 बड़े व्यापारियों के यहां छापेमारी की थी. इसके लिए आयकर विभाग की टीम 180 गाड़ियों के साथ पहुंची थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *