65 वर्षीय वृद्ध ने 28  वर्षीय युवती से किया हलाला, अब छोड़ने से इंकार

बरेली से एक अजीब मामला सामने आया है. हलाला के लिए युवती ने बुजुर्ग से शादी की लेकिन अब वो तलाक देने से इंकार कर रहा है. युवती ने न्याय की गुहार लगाई है.65-year-old elderly man halala marriage with 28 years old woman bareillyबरेली: तीन तलाक और हलाला की एक घटना ने मियां-बीवी को अजीब मुसीबत में डाल दिया है। युवक ने गुस्से में आकर बीवी को तीन तलाक कह दिया। गुस्सा ठंडा हुआ तो बीवी (28 साल) को फिर से पाने के लिए 65 साल के कुंवारे बुजुर्ग से हलाला कराया। हलाला के बाद बुजुर्ग ने बीवी को छोड़ने से इन्कार कर दिया है। अब तलाक से जुदा हुआ यह जोड़ा मदद के लिए मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी के पास पहुंचा। मामला उत्तराखंड के खटीमा का है। एक युवक-युवती की शादी वर्ष 2010 में हुई थी। बरेली में तीन तलाक का एक ऐसा केस सामने आया है, जिसमें हलाला करने वाला व्यक्ति महिला  को तलाक ही नहीं दे रहा. हलाला करने वाले उस 65 साल के बुजुर्ग का दिल महिला पर आ गया है. अब पहला शौहर परेशान है. वहीं महिला ने भी हलाला करने वाले बुजुर्ग से पीछा छुड़वाने के लिए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन से मदद की गुहार लगाई है.

उत्तराखंड के खटीमा की जूही का निकाह खटीमा के ही मोहम्मद जावेद के साथ 2010 को हुआ था. तीन साल तक मियां-बीवी के बीच सबकुछ ठीक ठाक चला और फिर मामूली कहासुनी पर झगड़ा हो गया था. गुस्से में आकर 2013 में जावेद ने जूही को तीन बार तलाक बोलकर सारे रिश्ते तोड़ दिए थे.
लेकिन कुछ दिन बाद जावेद को अपनी गलती का अहसास हुआ तो दोनों ने फिर साथ रहने का फैसला किया. दोनों को दोबारा एक साथ रहने के लिए जूही को हलाला की रस्म से गुजरना था. परिवार वालों ने बरेली के एक 65 वर्षीय बुजुर्ग के साथ हलाला कराने के लिए रजामंदी दे दी.
नवंबर, 2016 में जूही के साथ हलाला की रस्म अदा की गई. शर्त यह भी थी कि हलाला के बाद बुजुर्ग उसे तलाक दे देगा, मगर बुजुर्ग की नीयत फिसल गई और उसने तलाक देने से इनकार कर दिया. अब पहला शौहर जूही के साथ फिर से निकाह करना चाहता है लेकिन हलाला करने वाले ने उसे छोड़ने से इंकार कर दिया.हलाला के बाद उन्होंने महिला को तलाक देने से मना कर दिया। यह कहते हुए कि उन्हें हलाला की बात नहीं बताई गई थी। यह पता होता तो निकाह नहीं करते। अब बीवी को तलाक नहीं दूंगा। घर बचाने की गुहार तलाक और हलाला से जुदा हुआ यह जोड़ा शनिवार को मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी के पास पहुंचा और पूरा किस्सा सुनाया। फरहत नकवी ने जब निकाह-हलाला करने वाले बुजुर्ग से फोन पर बात की तो उन्होंने कहा कि मेरे मियां-बीवी के रिश्ते नहीं बने हैं। मैं तलाक नहीं दूंगा। वहीं, जोड़ा अपने बच्चों की खातिर किसी भी सूरत में दोबारा एक होने के लिए बुजुर्ग से गुहार लगा रहा है, लेकिन वह राजी नहीं हो रहे।
तलाक नहीं तो कराएंगे खुला
तीन तलाक पीड़ित महिलाओं की आवाज़ उठाने वाली केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी की बहन  मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी ने बताया कि अगर बुजुर्ग तलाक नहीं देंगे तो महिला के पास खुला का अधिकार है। शहर काजी के निर्देश पर खुला के जरिये उन्हें दूसरे शौहर से आजादी दिला युवती को उसके पहले पति के पास वापस भेजने का प्रयास करेंगे.
हलाला से परेशान जूही और जावेद के दो बेटे हैं. तीन तलाक के बाद एक बेटा पिता और दूसरा मां के हिस्से में आ गया. दोनों बच्चे मां-बाप की याद में रोते रहते हैं. यही वजह है कि मियां-बीवी के रिश्तों में प्यार भर आया. दोनों फिर से साथ रहने के लिए राजी हो गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *