शामली। धर्म परिवर्तन के मामले में अभी तक हिंदू धर्म को छोडऩे के बाद मुस्लिम धर्म अपनाने के मामले बड़ी संख्या में सामने आए है, लेकिन उत्तर प्रदेश के शामली में इसके इतर प्रकरण सामने आया है। यहां पर एक मुस्लिम युवक ने हिंदू धर्म अपना लिया है। उसने अपने साथ ही बेटे का नाम भी बदल दिया है। कल ही उसने पूजा-पाठ किया। अब उसका इरादा दीपावली पर लक्ष्मी-गणेश की पूजा करने का है।

शामली के निवासी शहजाद ने धर्म परिवर्तन कर लिया। उसने अपना व बेटे का नाम भी बदल दिया। खुद का नाम संजू राणा व बेटे का शेखर राणा रखा। शहजाद की पत्नी तथा एक बेटे ने धर्म परिवर्तन से इन्कार कर दिया। शहजाद ने बताया कि मेरे सपने में श्रीराम आए थे, इसके बाद उसका इरादा हिंदू धर्म अपनाने का हो गया। हरेंद्र नगर शामली निवासी शहजाद (पुत्र गफ्फार) ने अपने धर्म परिवर्तन के लिए जिलाधिकारी को शपथ पत्र दिया। शपथ पत्र के अनुसार शहजाद ने अपना नाम बदलकर संजू राणा रख लिया है।
उसने लिखा कि उसके पूर्वज सदियों पहले हिंदू धर्म त्यागने के बाद मुस्लिम हो गए थे। इसके बाद भी उसकी आस्था हिंदू धर्म में रही। अब उसने बिना किसी भी दबाव तथा जोर जबरदती के इस्लाम धर्म को त्यागकर दुबारा हिंदू धर्म को अपना लिया है। उसने बताया कि एक रात उसने सपने में भगवान श्रीराम का विराट स्वरूप देखा, इसके बाद से ही हिंदू धर्म में वापसी का मन बना लिया। इसके बाद उसने अपना नाम संजू राणा तथा बेटे समर राणा का नाम शेखर राणा रख दिया है। पत्नी और नौ साल के बेटे ने धर्म परिवर्तन नहीं किया है। इस संबंध में जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने कहा कि शपथ पत्र देने वाले को कार्रवाई के लिए एसपी के पास भेज दिया गया है।

सपने में भगवान राम ने दिए दर्शन

शहजाद ने बताया कि दो महीने पहले वह घूमने के लिए मनाली (हिमाचल प्रदेश) गया। वहां एक प्राचीन मंदिर में उन्होंने मत्था टेका। कुछ दिन पहले उन्हें सपने में भगवान राम दिखाए दिए। उनसे बातचीत भी हुई। उन्हें अपनी मानसिक दशा के बारे में भी बताया। शहजाद का कहना है कि प्रभु ने सपने में दर्शन दिए तो सोच लिया कि अब धर्म बदल लिया है। इसके बाद शहजाद ने शामली के डीएम से धर्म परिवर्तन कर हिंदू धर्म अपनाने की बात कहते हुए पूजा पाठ करने की अनुमति की अर्जी लगाई है।

शहजाद उर्फ संजू का कहना है कि काफी समय से उनके सपने में भगवान श्रीराम आते थे और उनसे हिंदू धर्म अपनाने की बात कहते थे। इस कारण कल उन्होंने जय श्रीराम के नारे लगाते हुए हिंदू धर्म अपना लिया। शहजाद परिवार के साथ शामली के डीएम ऑफिस पर पहुंचे और प्रार्थना पत्र देते हुए हिंदू धर्म अपनाने की अनुमति प्रदान करने की बात कही।संजू का कहना है कि उनके पूर्वज हिंदू थे, जिन्हें कुछ लोगों ने मुस्लिम बना दिया था। आज वह फिर से हिंदू धर्म अपना रहे हैं।

संजू का कहना है कि भगवान श्रीराम को वह अपना इष्ट देवता मानते हैं। आज से वह हिंदू धर्म के रीति रिवाज के अनुसार जीवन यापन करेंगे। संजू ने कलेक्ट्रेट में बने शिव मंदिर में पूजा अर्चना भी की और भगवान शिव व श्रीराम के नारे लगाए।