माथे टीका लगा आदिल और शादाब ने हनुमान मंदिर में की तोड़-फोड़,तनाव

“दोनों युवक स्कूली छात्राओं के साथ रोज मंदिर आते थे और माथे पर टीका लगाकर हिन्दू लड़कियों को अपने प्रेम जाल में फँसाते थे। कुछ दिनों पहले मंदिर में माँस भी फ़ेका गया था, जिसके लिए इन दोनों युवकों को ही…”

उत्तर प्रदेश के बिजनौर ज़िले में पंचमुखी हनुमान मंदिर में मुस्लिम समुदाय के आदिल और शादाब नाम के दो युवकों द्वारा तोड़-फोड़ की ख़बर सामने आई है। इस दौरान उन दोनों को लोगों ने पकड़ लिया। मामले की सूचना मिलने पर एसपी कई थानों की पुलिस के साथ मंदिर पहुँचे, जिसके बाद आदिल और शादाब को हिरासत में ले लिया गया। इलाक़े में तनाव की स्थिति से निपटने के लिए भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया गया है। फ़िलहाल, हल्दौर पुलिस में दोनों युवकों से पूछताछ जारी है।

बिजनौर के राम चौराहे पर स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर की कमिटी ने बुधवार (31 जुलाई 2019) को सुबह मुस्लिम समुदाय के दो युवकों को उस समय रंगे हाथों पकड़ लिया, जब दोनों माथे पर टीका लगा मंदिर में घुस गए और वहाँ की मूर्तियों को तोड़ने लगे। इस दौरान मूर्तियों के टूटने की आवाज़ें बाहर आ रही थीं। तभी लोगों ने मौक़े पर पहुँचकर दोनों युवकों को रंगे हाथों पकड़ लिया। लोगों का कहना है कि मुस्लिम समुदाय के दोनों युवकों ने माथे पर टीका लगा रखा था, जिससे उन पर कोई शक़ न करे कि वो हिन्दू नहीं हैं।

Divya Kumar Soti
@DivyaSoti

Aadil and Shadab befriended two Hindu girls by impersonating as Mayank and Rahul. Then both went to Panchmukhi Hanuman Temple with their girlfriends, got Tilak applied on forehead by Pujari and broke Maa Durga Murti at the first opportunity. https://m.jagran.com/uttar-pradesh/bijnor-into-the-temple-broke-the-statue-of-mother-19450506.html 

View image on TwitterView image on Twitter

मंदिर कमिटी की शिक़ायत पर घटना स्थल पर पहुँची पुलिस ने दोनों आरोपितों को हिरासत में ले लिया। इस घटना से मंदिर के आसपास लोगों की काफ़ी तादाद में भीड़ इकट्ठी हो गई। लोगों का कहना है कि कुछ दिनों पहले मंदिर में माँस भी फ़ेका गया था, जिसके लिए इन दोनों युवकों को ही दोषी ठहराया गया था। लेकिन, किसी तरह का तनाव उत्पन्न न हो इसलिए मंदिर कमिटी ने इस बात को दबा दिया था। लेकिन, अब यह मामला मंदिर में घुसकर मूर्तियों को खंडित करने का है, जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

ख़बर में इस बात का भी उल्लेख है कि दोनों युवक ईंट और पत्थर से भवानी माँ की मूर्ति को खंडित कर रहे थे। इस घटना से इलाक़े में भारी तनाव हो गया है, हिन्दू धर्म के लोग काफ़ी आहत हैं।

घटना की सूचना जब सदर एसडीएम सदर को मिली तो उन्होंने भी मौक़े पर पहुँचकर मुआयना किया। सदर एसडीएम और पुलिस क्षेत्राधिकारी ने मुआयने के बाद खंडित मूर्तियों का निरीक्षण कर दोनों युवकों को पुलिस हिरासत में भेज दिया।

ख़बर के अनुसार, एसपी बिजनौर संजीव त्यागी ने बताया कि मंदिर कमिटी ने मूर्ति खंडित करने के अलावा हिन्दू लड़कियों को प्रेमजाल में फँसाने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने पुलिस को बताया कि दोनों युवक स्कूली छात्राओं के साथ रोज मंदिर आते थे और माथे पर टीका लगाकर हिन्दू लड़कियों को अपने प्रेम जाल में फँसाते थे।

पुलिस की जाँच में पता चला है कि दोनों युवकों ने हिन्दू नाम से मंदिर में प्रवेश किया था और इस दौरान दोनों के साथ दो छात्राएँ भी थीं। मंदिर कमिटी पदाधिकारी अखिल कुमार अग्रवाल ने दोनों युवकों के ख़िलाफ़ मूर्ति खंडित करने की जानकारी दी। शहर कोतवाल आरसी शर्मा के अनुसार, आरोपित शहर के मोहल्ला मिर्दगान निवासी आदिल (पुत्र राशिद) और मोहल्ला कस्साबान निवासी शादाब (पुत्र यासीन) के ख़िलाफ़ तहरीर मिली है। फ़िलहाल, पुलिस मामले की जाँच में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *