बिल के बाद भी तीन तलाक मामले कर रहे हैरान, किसी की काटी नाक तो किसी का हलाला

तीन तलाक : फाइल फोटो –

तीन तलाक बिल पास होने के बाद इसका प्रभाव कैसा है?  इससे मुस्लिम महिलाओं को कितना फायदा पहुंचा ? इसका अनुमान लगाना अभी जल्दबाजी होगा। इतना साफ है कि अब यह पहले जितना आसान नहीं रहा। सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त 2017 में तीन तलाक को गैर-कानूनी करार दिया था। तीन तलाक विधेयक लोकसभा में तीन बार पारित हुआ, लेकिन यह दो बार राज्यसभा में अटक गया।
केंद्र सरकार ने तीसरी बार इस विधेयक को राज्यसभा में पेश किया जहां उन्हें सफलता हासिल हुई। राष्ट्रपति की सहमति के बाद तीन तलाक का विधयेक अब कानून का रूप ले चुका है। इसके बाद भी कुछ ऐसे केस सामने आ रहे हैं जो आपको सोचने पर मजबूर कर देंगे।
उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में शादी के एक माह बाद ही नौकरी करने कुवैत गए शौहर ने दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर विवाहिता को व्हाट्सएप पर तलाक दे दिया। युवक ने तलाकनामे के अरबी व अनुवाद किए हुए कागजात भेजने के साथ ही मौखिक रिकॉर्डिंग भेजकर भी तलाक की पुष्टि की। पीड़िता ने आरोपी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की गुहार लगाई है।
तीन तलाक को भले ही आपराधिक बना दिया गया हो लेकिन इस तरह की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। ताजा मामला सीतापुर के खैराबाद कस्बे के तुर्क पट्टी मुहल्ले का है। यहां दहेज में बाइक न मिलने से नाराज एक शौहर ने अपनी पत्नी को तीन तलाक देने के बाद उसकी नाक काट दी। महिला को जख्मी हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
दहेज में दस लाख रुपये और कार की मांग पूरी नहीं होने ससुराल वालों ने विवाहिता मारपीट कर घर से निकाल दिया। साथ ही पति ने उसको एक बार में तीन तलाक भी दिया। तीन तलाक के बाद हलाला के नाम पर देवर ने दुष्कर्म किया।
जाजमऊ में निकाह के दस साल बाद बच्चे न होने पर एक शख्स ने दूसरा निकाह कर लिया। विरोध करने पर उसने अपनी पत्नी को पीटा और चाकू से कई वार किए। फिर एक साथ तीन तलाक दे दिया।

कुछ महिलाओं ने दिखाई हिम्मत

तीन तलाक कानून का असर नजर आने लगा है। मंगलवार को 26 साल पुराना घर टूटने से बचा। पति ने पत्नी को कागज पर तलाक लिखकर दिया था लेकिन नारी उत्थान केंद्र में पुलिसकर्मियों के सामने ही पत्नी ने कागज फाड़ दिया और कहा कि अब यह नहीं चलेगा। काउंसलर ने समझाया जिस पर पति भी मान गया। दंपती ने एक दूसरे का हाथ थामा और खुशी खुशी अपने घर की ओर चले गए हैं।भले ही कानून बन गया हो, लेकिन तीन तलाक के मामले नहीं थम रहे हैं। मथुरा के बाद अब फिरोजाबाद जिले में तीन तलाक का मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति ने शादी के 25 साल बाद अपनी पत्नी को तीन तलाक दे दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *