नशे का इंजेक्शन लगा बनाता था बीवी का अश्लील वीडियो, विरोध पर : तलाक-तलाक-तलाक

नशे का इंजेक्शन लगाकर बनाता था बीवी का अश्लील वीडियो, विरोध पर बोला: तलाक-तलाक-तलाक Barabanki News
तीन तलाक का यह मामला बाराबंकी के मसौली थाना क्षेत्र का है। यहां एक पति ने ससुर के सामने ही पत्नी को तीन तलाक दे दिया। पीडि़ता के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

बाराबंकी,बाराबंकी में दहेज और गुल मंजन की आदत के चलते एक नवविवाहिता को उसके पति ने बेरहमी मारा पीटा और फिर पिता के सामने ही तीन तलाक देकर घर से भगा दिया. तलाक की बात सुनते ही लड़की के पिता बदहावास हो गए. पीड़ित लड़की के मुताबिक निकाह के बाद से ही ससुराल में उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था और पूरा परिवार अक्सर उसे मारता-पीटता था. इसके अलावा तीन तलाक के इस मामले में लड़की के गुल मंजन करने की आदत भी वजह बनी है. लड़की के पिता के मुताबिक निकाह में क्षमता के अनुसार उन लोगों ने दहेज दिया था।

तीन तलाक का यह मामला बाराबंकी के मसौली थाना क्षेत्र का है, जहां के निवासी मोहम्मद वैश का सात महीने पहले ही हसीन बानो से निकाह हुआ था. निकाह के बाद से ही वह अपनी बेगम को दहेज के लिए परेशान करता था. साथ ही उसके गुल मंजन की आदत से उसकी पिटाई भी करता था. युवती के पिता ने पुलिस को तहरीर देकर मामले की शिकायत की है.बीवी के गुल मंजन की लत से खफ़ा शौहर ने कहा... तलाक, तलाक, तलाक

3 लाख रुपए और बुलेट मांगने का आरोप
पुलिस को दी गई तहरीर के मुताबिक लड़की का पति मोहम्मद वैश दहेज के लिए उसके साथ अक्सर मारपीट करता था. लड़की के पिता ने बताया उन्होंने निकाह में अपने हैसियत के मुताबिक उन लोगों ने दहेज दिया था. लेकिन अब लड़की का पति 3 लाख रुपए और बुलेट गाड़ी की मांग कर रहा था. पीड़ित हसीन बानो ने बताया कि उसे गुल मंजन करने की आदत है, जिसे लेकर भी उसका पति उसे मारता था. लड़की के मुताबिक उसके पति की मोबाइल की दुकान है. वह हमेशा मोबाइल से उसका वीडियो बनाता और इंटरनेट पर डालने की धमकी देता. इन सब बातों से परेशान होकर मैंने अपने घर वालों को खबर की थी. पीड़ित हसीन बानो ने बताया कि सात महीने पहले ही मोहम्मद वैश के साथ उसका निकाह हुआ था. निकाह के बाद से ही उसका पति उसे बहुत मारता-पीटता था और नशे का इन्जेक्शन लगाकर मोबाइल से उसकी गंदी वीडियो बनाता रहता था. हसीन बानो के मुताबिक घर में वह जो खाना बनाती थी उसमें नमक और मिर्चा डाल दिया जाता था. पूरा घर मिलकर मुझे मारता था. एक दिन तो मिट्टी का तेल डालकर मुझे जलाने की कोशिश की जीने लगी, जिसके बाद घर से भागकर उसने अपने पिता को बुलाया. पिता के सामने ही उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया.
नशे का इंजेक्शन लगाकर बनता था गंदे वीडियो

लड़की के भाई सगीर ने बताया कि उसे गुल मंजन करने की आदत थी. वह अपने ससुराल में भी मंजन मांगती थी, लेकिन इस बात को लेकर उसका पति मोहम्मद वैश उसे वहां मारता-पीटता था. दहेज में 3 लाख रुपए और बुलेट गाड़ी की मांग भी करता था. भाई के मुताबिक बीते सात महीनों से उसकी बहन को ससुराल में काफी प्रताड़ित किया जा रहा था. सगीर ने बताया कि उसकी बहन के पति की मोबाइल की दुकान है और वह अक्सर नशे का इन्जेक्शन देकर उसकी बहन का गन्दा वीडियो बनाता था. इसके अलावा जबरन दवा खिलाकर बहन का बच्चा भी गिरवा दिया था.
पुलिस कर रही जांच

तीन तलाक के इस मामले में जब हमने पुलिस क्षेत्राधिकारी रामनगर उमाशंकर सिंह से बात की तो उन्होंने बताया कि यह उनके क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले थाना मसौली का प्रकरण है. थाने में मसौली की रहने वाली हसीन बानो ने प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि उनके पति मोहम्मद वैश द्वारा उनके घर वालों से दहेज की मांग की गई और दहेज की मांग न पूरी होने की दशा में उन्हें तीन तलाक दे दिया गया.
इस संबंध में मसौली के थाना प्रभारी द्वारा मौके पर जाकर प्रतिवादियों से बात करने का प्रयास किया गया मगर उनकी उपलब्धता न होने के कारण कोई साक्ष्य मिल नही पाए हैं. थाने पर प्रार्थना पत्र लेकर जांच की जा रही है. जैसे साक्ष्य मिलेंगे उसी के अनुसार कार्यवाई की जाएगी. तीन तलाक गम्भीर प्रकरण है और उसी के संबंध में सबूत जुटाए जा रहे हैं.
यहां एक पति ने ससुर के सामने ही पत्नी से कह दिया- तलाक तलाक तलाक। पीडि़ता के पिता के मुताबिक, निकाह के सात माह बाद से ही बेटी को प्रताडि़त करने लगा था। मायके जाने के लिए भी रोक थी। पीडि़ता के पिता की तहरीर पर मामले में पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया है, लेकिन मुकदमे में मात्र दहेज उत्पीडऩ की धाराएं लगाई गई हैं।

निकाह के सात माह झेला ये सब 

मामला मसौली थाना क्षेत्र का है। यहां के निवासी एक युवक का जहांगीराबाद थाना क्षेत्र की युवती से सात माह पहले निकाह हुआ था। आरोप है कि निकाह के दो माह बाद से ही वह पत्नी को दहेज (तीन लाख रुपये और बुलेट बाइक) के लिए परेशान करने लगा। पीडि़ता के मुताबिक, नशे का इंजेक्शन लगाकर मोबाइल से उसकी अश्लील  वीडियो बनाता रहता था। मायके जाने के लिए भी रोक थी। वहीं, पति को गुल मंजन की आदत का पता चला तो एतराज की आड़ में आए दिन मारना पीटना शुरू कर दिया।

गुल मंजन को लेकर पति-पत्नी में होता था झगड़ा
पीड़ित हसीन बानो ने बताया कि उसे गुल मंजन करने की आदत है, जिसे लेकर भी उसका पति उसे मारता था। लड़की के मुताबिक उसके पति की मोबाइल की दुकान है। वह हमेशा मोबाइल से उसका वीडियो बनाता और इंटरनेट पर डालने की धमकी देता। इन सब बातों से परेशान होकर मैंने अपने घर वालों को इसकी जानकारी दी थी।

नशे का इंजेक्शन लगाकर बनाता था अश्लील वीडियो
पीड़ित हसीन बानो ने बताया कि सात महीने पहले ही मोहम्मद वैश के साथ उसका निकाह हुआ था। निकाह के बाद से ही उसका पति उसे बहुत मारता-पीटता था और नशे का इंजेक्शन लगाकर बेहोश कर उसका मोबाइल से उसका गंदा वीडियो बनाता रहता था। हसीन बानो के मुताबिक एक दिन मिट्टी का तेल जालकर मुझे जलाने की कोशिश की जीने लगी, जिसके बाद घर से भागकर उसने अपने पिता को बुलाया। पिता के सामने ही उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया।

जांच में जुटी है पुलिस
तीन तलाक के इस मामले में क्षेत्राधिकारी रामनगर उमाशंकर सिंह ने बताया कि मसौली की रहने वाली हसीन बानो ने प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि उनके पति मोहम्मद वैश द्वारा उनके घर वालों से दहेज की मांग की गई और दहेज की मांग न पूरी होने की दशा में उन्हें तीन तलाक दे दिया गया। इस सम्बन्ध में मसौली के थाना प्रभारी द्वारा मौके पर जाकर प्रतिवादियों से बात करने का प्रयास किया गया मगर उनकी उपलब्धता न होने के कारण कोई साक्ष्य मिल नही पाए हैं । थाने पर प्रार्थना पत्र लेकर जांच की जा रही है जैसे साक्ष्य मिलेंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

यह गुल मंजन कर रहा बदलते वक्त के साथ होने का दावा और उड़ा रहे कानून की धज्जियां

खुलेआम प्रचार करता कंपनी

तम्बाकू के प्रयोग के रोकथाम के लिए कानून की किस तरह से एक कंपनी धज्जियां उड़ा रही है इसका जीता जागता नमूना बलरामपुर में देखा जा सकता है ।
राहत मार्का गुल के नाम से इस कंपनी द्वारा खुलेआम प्रचार किया जा रहा है । जबकि कानून के जानकार बताते हैं कि टोबैको प्रॉडक्ट का कोई भी विज्ञापन नही किया जा सकता है और पाउच पर वैधानिक चेतावनी बड़े अक्षरों में लिखना होता है ।
बताया जा रहा है कि राहत गुल द्वारा बलरामपुर और उसके आसपास के जिलों में अपना कारोबार फैला रखा गया है ।गौरतलब है कि इस तरह से कानून का मखौल उड़ा कर प्रचार किये जाने पर भी जिला प्रशासन और इससे जुड़े विभाग राहत गुल के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नही कर रहे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *