गोपेश्वर, चमोली : मामूली कहासुनी पर एक युवक ने जिलाधिकारी के वाहन का शीशा चकनाचूर कर दिया। यही नहीं जिलाधिकारी के चालक से भी अभद्रता की। घटना से डीएम का मासूम बेटा डर गया था, हालांकि उसे चोट नहीं आई। जिलाधिकारी के वाहन चालक पुष्कर लाल की शिकायत पर आरोपित युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया है।घटना के वक्त वाहन में जिलाधिकारी का बच्चा और उसकी देखरेख के लिए रखी युवती मौजूद थी।

प्ले स्कूल के बजाय आंगनबाड़ी केंद्र में कराया अपने बेटे का दाखिला

जिलाधिकारी स्वाति एस. भदौरिया ने अपने करीब दो साल के बेटे अभ्युदय का दाखिला प्ले स्कूल के बजाय आंगनबाड़ी केंद्र में किया है। मंगलवार से बच्चे को नियमित रूप से केंद्र में दाखिला दिलाया गया है।
आज के दौर में जहां लोग अपने बच्चों को छोटी उम्र से ही प्राइवेट प्ले स्कूलों में दाखिला करवा रहे हैं। लेकिन जिलाधिकारी ने अपने बच्चे का आंगनबाड़ी केंद्र में दाखिला करवा कर लोगों को केंद्र सरकार की इस कल्याणकारी योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजना है। इसका सभी को फायदा लेना चाहिए।जिलाधिकारी के वाहन में तोड़फोड़

जिलाधिकारी के वाहन से उनका चालक पुष्कर लाल सुबह उनकी बेटी को गोपेश्वर गांव के आंगनबाड़ी केंद्र छोड़ने जा रहे थे। बताया गया कि मंदिर मार्ग पर डीएम का वाहन से सड़क किनारे खड़ी मोटर साइकिल पर टक्कर लग गई, जिससे मोटर साइकिल नीचे गिर गई। इस दौरान मंदिर मार्ग पर नाई की दुकान में काम कर रहे मुहम्मद फैजान (पुत्र मंजूर अहमद निवासी मोहल्ला पानीबाग नजीबाबाद बिजनौर (उत्तर प्रदेश) ने आव देखा न ताव, डीएम के वाहन पर कैंची से कई वार कर शीशे को चकनाचूर कर दिया।

वाहन चालक पुष्कर लाल ने बचाव किया तो आरोपित वाहन चालक के साथ भी अभद्रता पर उतर आया। मामले की जानकारी के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तत्काल आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने आरोपित के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की मांग की। मामले में पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर 81 पुलिस एक्ट में बंद किया है। गोपेश्वर थाने के एसआइ ऋषिकांत पटवाल ने बताया कि आरोपित को गुरुवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। जिलाधिकारी स्वाति एस. भदौरिया ने कहा कि वाहन का शीशा टूटा है। घटना से बच्चा डर गया था, पर किसी को चोट नहीं आई है।