बागपत, । कांवड़ यात्रा में लोगों के साथ हरिद्वार से गंगा जल लाने वाले युवक इरशाद को उसी के संप्रदाय के लोगों ने पीटने के बाद उसका वीडियो भी वायरल कर दिया है। मामला तूल पकडऩे पर पुलिस का कहना है कि मामला इनके आपसी विवाद का है। जांच के बाद ही कोई कार्रवाई होगी।हालांकि इस मामले में बड़ौत के सर्कल ऑफिसर आर के कुशवाह का कहना है कि कांवड़ और जल लाने का कोई मामला नहीं है. यह पड़ोसियों का निजी झगड़ा है. इस मामले में शिकायत मिली है. मामला दर्ज किया जा रहा है.

बागपत में बड़ौत के बड़का गांव निवासी इरशाद ने कोतवाली में बताया कि वह अपने दोस्तों के साथ हरिद्वार गया था। वह भी वहां से एक बोतल में गंगाजल लेकर घर आ गया। इसकी जानकारी मोहल्ले के युवक को हुई तो उसने हरिद्वार जाने और गंगा जल लाने पर आपत्ति जता दी। इसके बाद उसके साथ गाली-गलौच करते हुए मारपीट कर दी। उनका कहना था कि ऐसा करना उनके धर्म के खिलाफ है। विरोध करने पर आरोपित ने उसके पिता के साथ भी मारपीट की। पीडि़त ने आरोपित के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।

सीओ रामानन्द कुशवाहा ने बताया कि इरशाद जब हरिद्वार से आ रहा था तो भगवा बनियान पहने था। उसका किसी ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। दोनों का आपसी पुराना झगड़ा है मामले की जांच की जा रही है। एसएसआई जाहिद खान ने बताया कि दोनों का आपसी पुराना झगड़ा है मामले की जांच की जा रही है। उधर, हिंदू जागरण मंच के युवा जिलाध्यक्ष अंकित बड़ौली ने बताया कि इस मामले में आरोपित युवक के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

गौरतलब है कि बीते वर्ष रंछाड गांव का बाबू खां भी कांवड़ लाया था। इसके बाद उसके परिवार के लोगो ने बाबू खां के साथ मारपीट करते हुए उसे मस्जिद में नमाज पढऩे से रोक दिया था।