आजम पर एक्शन? लोस स्पीकर बोले- सभी से बात कर लेंगे फैसला

शुक्रवार को कई पार्टियों की महिला सांसदों ने सदन में आजम खान के बयान की निंदा की और लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से एक्शन लेने की मांग की. इस बीच स्पीकर का कहना है कि वह सभी दलों के नेताओं से इस मुद्दे पर बात करेंगे.

आजम खान के बयान पर जारी है विवादआजम खान के बयान पर जारी है विवाद

नई दिल्ली :लोकसभा में एसपी नेता आजम खान के बयान पर हंगामा जारी है। बीजेपी नेताओं ने आजम खान से माफी मांग की है। बीजेपी नेता स्मृति ईरानी और रविशंकर प्रसाद ने आजम खान के निलंबन की मांग की है। बीजेपी के साथ कई अन्य दलों के सदस्यों ने भी आजम खान के बयान का विरोध किया है। वहीं कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि वे महिलाओं के अपमान का विरोध करते हैं। चौधरी ने इस मामले को संसदीय कमिटी को भेजने की मांग की।  उत्तर प्रदेश के रामपुर से समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की टिप्पणी पर शुक्रवार को भी लोकसभा में विवाद हुआ. शुक्रवार को कई पार्टियों की महिला सांसदों ने सदन में आजम खान के बयान की निंदा की और लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से एक्शन लेने की मांग की. इस बीच स्पीकर का कहना है कि वह सभी दलों के नेताओं से इस मुद्दे पर बात करेंगे.

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा कि वह जल्द ही सभी पार्टियों के नेताओं से इस मसले पर बात करेंगे. स्पीकर ने कहा कि उन्होंने हर किसी की बात सुन ली है, जल्द ही इस मसले पर फैसला किया जाएगा.

गौरतलब है कि गुरुवार को तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान जब आजम खान बोलने खड़े हुए तो हंगामा हो गया. उन्होंने उस दौरान स्पीकर की चेयर पर बैठीं बीजेपी सांसद रमा देवी को लेकर कुछ ऐसा कह दिया कि उन शब्दों को लोकसभा की कार्यवाही से हटा दिया गया.

आजम खान के बयान के बाद गुरुवार को भी सदन में जोरदार हंगामा हुआ था. तब भी ओम बिड़ला ने आजम खान से अपने शब्द वापस लेने की मांग की थी, उनके समर्थन में समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव भी खड़े हुए थे, लेकिन उनकी भी भाजपा सांसदों से तू-तू मैं-मैं हो गई थी.

शुक्रवार सुबह बीजेपी सांसद रमा देवी ने भी आजम खान पर कड़ी कार्रवाई की अपील की थी. रमा देवी ने कहा था कि आजम खान इससे पहले भी महिलाओं के लिए अमर्यादित टिप्पणी करते आए हैं, ऐसे में वह लोकसभा स्पीकर से मांग करती हैं कि आजम खान की सदस्यता रद्द कर दी जाए.

आजम के खिलाफ महिला सांसदों का हल्ला बोल

                        à¤¨à¤µà¤¨à¥€à¤¤ राणा, मिमी चक्रवर्ती (फोटो: LSTV) सांसद नवनीत राणा, मिमी चक्रवर्ती  की.

शुक्रवार को सदन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी,टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती समेत अन्य महिला सांसदों ने आजम खान के बयान की निंदा की.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में कहा कि मेरे 7 साल के संसदीय कार्यकाल में किसी पुरुष ने इस तरह की हिमाकत नहीं की, यह मामला न सिर्फ महिला से जुड़ा है बल्कि पूरे समाज से जुड़ा है और इसपर सख्त संदेश जाना चाहिए. NBTस्मृति ईरानी ने कहा कि कल यह सदन शर्मसार हुआ है और यह पूरे देश ने देखा है. महिला किसी भी पक्ष की हो इस सदन का विशेषाधिकार  है और किसी को महिला के अपमान का हक नहीं है. आजम खान ने इस्तीफे की बात कहकर ड्रामा किया है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह ऐसा सदन नहीं कि जहां पुरुष किसी महिला की आंखों में झांकने के लिए आते हैं। यह पूरा देश ने देखा है कि कैसे यह सदन शर्मसार हुआ। इस सदन में बातचीत प्रिविलेज होती है, अगर महिला के साथ ऐसी बदतमीजी सदन के बाहर होती, तो वह पुलिस का संरक्षण मांगती। हम चुपचाप बैठकर मूकदर्शक नहीं बन सकते।

बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने भी विरोध जताते हुए कहा कि जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया गया वह शर्मनाक है। उन्होंने कहा, ‘माननीय रमा जी वरिष्ठ और सुलझी हुई नेता हैं। वह अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठी थीं। उनके खिलाफ जो टिप्पणी की गई वह इतने शर्मिंदगी भरे थे कि बोल नहीं सकता हूं। आजम को या तो माफी मांगें या फिर उनको सदन से अंदर आने पर सस्पेंड किया जाए।

“एक सांसद के नाते पूरे सदन को मेरी अपील है कि यह संदेश भेजें कि सदन में किसी महिला का अपमान करने के लिए सांसद का विशेषाधिकार का इस्तेमाल नहीं होगा।”-स्मृति ईरानी, लोकसभा में
वहीं लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि वह इस घटना का समर्थन नहीं करते हैं, लेकिन जिनके खिलाफ शिकायत है, उनका पक्ष भी सुना जाना चाहिए। बीजेपी सांसदों ने इस पर जबर्दस्त हंगामा किया। चौधरी ने कहा कि एथिक्स कमिटी इस पर विचार कर सकती है।
बीजेपी के साथ टीएमसी, डीएमके समेत कई अन्य दलों ने आजम खान के बयान का विरोध किया। टीएमसी सांसद मिमि चक्रवर्ती ने कहा कि पार्टियों से वैचारिक तौर पर मतभेद हो सकता है, लेकिन महिलाओं के सम्मान पर पूरे सदन करे एकजुट होना चाहिए।
बंदायूं से बीजेपी सांसद संघमित्रा मौर्या ने कहा, ‘कल जो सदन में हुआ है, हमारे की बीच के एक सांसद, जो पीठासीन अधिकारी के रूप में सदन में बैठी थीं, उन पर अशोभीय कॉमेंट किया गया। आजम खान को इसके लिए माफी मांगनी पड़ेगी। उन्होंने इस्तीफे के बात की है, हमें इस्तीफा नहीं, उनकी माफी चाहिए। उन्हें माफी मांगनी होगी।तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती ने भी आजम खान के बयान की निंदा की. उन्होंने कहा कि जब मैं पहली बार संसद में आई थी, तो हर किसी ने खुले दिल से मेरा स्वागत किया था. लेकिन अब जिस तरह की बात सामने आई है, वह बिल्कुल गलत है. मिमी ने कहा कि कोई भी सदन में खड़ा होकर महिला के खिलाफ गलत टिप्पणी नहीं कर सकता है, आप स्पीकर से नहीं कह सकते हैं कि मेरी आंखों में देखें. उन्होंने कहा कि सदन को एक साथ होकर इस पर फैसला लेना चाहिए.

View image on Twitter

उत्तर प्रदेश से सांसद अनुप्रिया पटेल ने भी आजम खान के बयान की निंदा की. उन्होंने कहा कि कल के बयान के बाद लोकतंत्र का मंदिर ही नहीं बल्कि पूरा देश शर्मशार हुआ है, हम लोकतंत्र में इतनी आस्था रखते हैं तो वहां हमने कैसे नुमाइंदे चुनकर भेजा है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस तरह के बयान के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. हम लोग यहां पर महिला और चेयर का सम्मान करने के लिए बैठे हैं.

इन सभी सांसदों के अलावा भी अमरावती से सांसद नवनीत राणा, कनिमोझी, सुप्रिया सुले ने भी आजम खान के बयान की निंदा की. गौरतलब है कि इससे पहले भाजपा सांसद रमा देवी ने भी आजम खान से माफी मांगने की मांग की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *