उत्तराखंड कांग्रेस ने फूंका भाजपा का पुतला, विधायक DNA जांच को तैयार

कांग्रेस ने फूंका भाजपा का पुतला, दुष्कर्म के आरोपी विधायक पर कार्रवाई न होने पर जताई नाराजगी
देहरादून 22 अगस्त। महिला से दुष्कर्म के आरोपित द्वाराहाट विधायक महेश नेगी के खिलाफ कार्रवाई न होने से नाराज महानगर कांग्रेस ने भाजपा और प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। महानगर कांग्रेस ने आरोप लगाए कि पुलिस सरकार के दबाव में निष्पक्ष जांच नहीं कर पा रही है। जिससे महिला को न्याय के लिए भटकना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जल्द इस मामले में ठोस कार्रवाई नहीं की गई तो कांग्रेस आंदोलन को और उग्र करेगी। आपा के बाद आज कांग्रेस ने प्रदेश भर में इस संबंध में प्रदर्शन किए।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्वान और महानगर कांग्रेस के अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने शनिवार को कांग्रेस भवन के बाहर बाद पुतला दहन कार्यक्रम किया। लालचंद शर्मा ने कहा कि महिला द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच के साथ ही जल्द डीएनए जांच भी होनी चाहिए।
साथ ही उन्होंने सवाल उठाया कि अगर विधायक ने कोई अपराध नहीं किया है तो उन्होंने अब तक मीडिया के सामने आकर अपनी सफाई में कुछ क्यों नहीं कहा। भाजपा का बेटी बचाओ का नारा महज एक जुमला है।
पुतला दहन कार्यक्रम में पूर्व विधायक राजकुमार, डॉक्टर प्रतिमा सिंह, पार्षद नीनू सहगल, रमेश कुमार मंगू, अमित भंडारी, डॉक्टर विजेंद्र पाल, मोहन गुरुंग, मनीष कुमार, महेंद्र रावत, अनूप कपूर, आनंद त्यागी, सूरत सिंह नेगी आदि शामिल थे।
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि इस मामले में पुलिस प्रशासन सरकार के दबाव में काम कर रहा है। विधायक की पत्नी की ओर की गई शिकायत पर तो पुलिस ने जांच शुरू कर दी है, लेकिन महिला के आरोपों की जांच नहीं की जा रही है।
यह पहली बार है जब कांग्रेस इस मुद्दे पर खुलकर सामने आ रही है। अभी तक कांग्रेस सिर्फ विधायक की डीएनए जांच की ही मांग कर रही थी। उधर, कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री नवीन जोशी ने भी प्रदेश सरकार पर विधायक को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। जोशी का कहना है कि मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।
विधायक दुष्कर्म प्रकरण: भाजपा एमएलए महेश नेगी डीएनए जांच के लिए तैयार
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि द्वाराहाट विधायक महेश नेगी डीएनए जांच के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। कहा कि विधायक पुलिस जांच टीम को भी पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने चेताया कि अगर विधायक के खिलाफ लगे आरोप साबित हो जाते हैं तो सरकार व संगठन सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाएगी। गौरतलब है कि आरोपी महिला ने विधायक पर दुष्कर्म के आरोप लगाते हुए डीएनए जांच की मांग उठाई थी।
द्वाराहाट के भाजपा विधायक महेश नेगी पर लगे दुष्कर्म के आरोपों पर बोलते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है। विधायक के खिलाफ निष्पक्ष जांच की जा रही है। जांच में विधायक नेगी व उनकी पत्नी पूरा सहयोग कर रहे हैं। जांच टीम पर किसी भी तरह से कोई दबाव नहीं है।
गौरतलब है कि इससे पहले विधायक ने जांच कर रही पुलिस टीम को उनकी पत्नी व आरोपी महिला की व्हाट्सएप चैट मैसेज भी पुलिस को उपलब्ध करवा दिए हैं। सूत्रों के अनुसार, चैट हिस्ट्री को मुकदमे में अहम साक्ष्य माना जा रहा है। इससे पहले, जांच टीम ने पीड़ित महिला सहित उसकी भाभी के भी बयान दर्ज किए थे।
विधायक प्रकरण में 60 पेज का रिकार्ड पुलिस को दिया
द्वाराहाट विधायक प्रकरण में कांग्रेस भी पूरी तरह सक्रिय हो गई है। द्वाराहाट से कांग्रेस के पूर्व विधायक मदन बिष्ट ने दून में पुलिस अफसरों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि पुलिस को उन्होंने केस से जुड़े दस्तावेज उपलब्ध करवाए हैं। जिनमें फोन कॉल रिकार्ड, महिला के साथ विधायक की फोटो, वीडियो कॉलिंग की फोटो के अलावा व्हाट्सएप चैट भी है।
पुलिस ने दर्ज किए विधायक नेगी के बयान
सीओ सदर अनुज कुमार ने बताया कि शुक्रवार शाम को विधायक महेश नेगी को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया था। विधायक से दो-तीन विषयों पर जानकारी ली गई है। सीओ ने बताया कि विधायक बयान दर्ज कराने के बाद चले गए।
विधायक महेश नेगी से दो बार हुई पूछताछ
दुष्कर्म के आरोपों में घिरे भाजपा विधायक महेश नेगी की पुलिस ने दो बार पूछताछ हुई है। इस हफ्ते पुलिस ने बुधवार और फिर शुक्रवार को पूछताछ की। सूत्रों की मानें तो कई घंटों तक चली पूछताछ में विधायक ने अपने-आप को निर्दोष बताते हुए पुलिस को साक्षय भी सौंपे हैं।
महिला से पूछताछ, सैन्यकर्मी डाक से भेजेगा बयान
विधायक महेश नेगी प्रकरण में ब्लैकमेलिंग के आरोपों में घिरी महिला से जांच अधिकारी ने पुन: पूछताछ की है। जांच अधिकारी ने महिला की भाभी और पति को नोटिस जारी कर बयान के लिए बुलाया है। महिला के पति (सैन्यकर्मी) ने जान का खतरा जताते हुए डाक के माध्यम से बयान देने की बात कही है।
द्वाराहाट से भाजपा विधायक महेश नेगी की पत्नी ने नेहरू कालोनी थाने में अल्मोड़ा निवासी एक महिला समेत चार लोगों पर ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं, महिला ने भी विधायक महेश नेगी पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। महिला ने अपनी बच्ची और विधायक का डीएनए टेस्ट मिलान की मांग की है।
इस मामले की जांच कर रहे सीओ सदर अनुज कुमार ने शनिवार को महिला को कार्यालय बुलाकर पूछताछ की। सीओ ने विधायक की पत्नी के आरोपों और महिला की तहरीर के संबंध में पूछताछ की।
सीओ अनुज ने बताया कि महिला की भाभी और पति को नोटिस जारी कर बयान के लिए बुलाया है। इसके बाद महिला की मां को भी बुलाया जाएगा। बताया कि महिला के पति ने डाक से बयान भेजने की बात कही है। बताया कि मामले की जांच की जा रही है। ेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *