अमृता एम्स में भर्ती, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज परिजनों समेत घर में क्वारंटाइन

कैबिनेट मंत्री महाराज की पत्नी कोरोना पॉजिटिव आने बाद एम्‍स ऋषिकेश में भर्ती
कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव ने आने के बाद उन्‍हें एम्‍स ऋषिकेश में भर्ती किया गया है ।
देहरादून, । कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी एवं पूर्व मंत्री अमृता रावत की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव ने आने के बाद रविवार सुबह उन्‍हें एम्‍स ऋषिकेश में भर्ती किया गया है। साथ ही संपर्क में आए लोगों को क्वारंटाइन करने की प्रक्रिया जारी है। सभी लोगों के सैंपल भी लिए जा रहे हैं। प्रारंभिक तौर पर उनके पति सतपाल महाराज समेत संपर्क में आए 41 लोग चिह्नित किए गए हैं। सभी को क्वारंटाइन किया जा रहा है। महाराज और उनके परिवार के सदस्य घर पर ही क्वारंटाइन हो गए हैं। जिला प्रशासन के मुताबिक मामले में अन्य संपर्कों की भी तलाश की जा रही है। वहीं, शनिवार को भी प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 33 और मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 751 हो गई है।

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज का आवास देहरादून में म्यूनिसिपल रोड पर है। इसका दूसरा हिस्सा सर्कुलर रोड पर भी खुलता है। हाल में दिल्ली से कुछ लोग उनके यहां आए थे, जिन्हें सर्कुलर रोड की तरफ खुलने वाले गेस्ट हाउस व कार्यालय में क्वारंटाइन किया गया। महाराज व उनका परिवार म्यूनिसिपल रोड की ओर तरफ वाले आवास में रहता है।

इस बीच कैबिनेट मंत्री महाराज की पत्नी एवं पूर्व मंत्री अमृता रावत की तीन दिन पहले तबीयत खराब हुई। शनिवार सुबह एक निजी लैब में उनकी कोरोना जांच कराई गई। शाम को मिली रिपोर्ट में वह कोरोना पॉजिटिव निकलीं। कैबिनेट मंत्री महाराज के विशेष कार्याधिकारी अभिषेक शर्मा ने इसकी पुष्टि की। बताया कि स्वास्थ्य विभाग की जो भी दिशा-निर्देश होंगे, उसका पालन किया जाएगा। कैबिनेट मंत्री महाराज और उनका परिवार घर पर ही क्वारंटाइन में है।
उधर, पूर्व मंत्री अमृता रावत के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक कैबिनेट मंत्री महाराज के स्वजनों ने खुद पहल कर महाराज समेत संपर्क में आए स्वजनों व स्टाफ के 41 लोगों की सूची सौंपी है। पूर्व मंत्री अमृता रावत को एम्स अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। कैबिनेट मंत्री महाराज की भी कोरोना जांच होगी। जिलाधिकारी डॉक्टर आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि अन्य लोगों की कांट्रेक्ट टेसिंग की जा रही है। प्राइमरी कांटेक्ट में आए लोगों को क्वारंटाइन करने के साथ ही इनकी कोरोना जांच होगी। इसके बाद सेंकेंडरी कांटेक्ट भी क्वारंटाइन होंगे।

सतपाल महाराज के घर से लगी गली सील

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के घर की म्यूनिसिपल रोड की गली सील की जा रही है। डीएम डॉ.आशीष श्रीवास्तव ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह भी देखा जाएगा कि महाराज के आवास में सकरुलर रोड से किसी की आवाजाही तो नहीं। यदि ऐसा पाया गया तो इसे भी सील किया जाएगा। उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री महाराज संक्रमित निकले तो पूरा मंत्रिमंडल होगा क्वारंटीन
कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज – फोटो : फाइल फोटो
कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव
शुक्रवार को कैबिनेट की बैठक में मौजूद थे मंत्री सतपाल महाराज

उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर काफी सतर्क रहने वाले कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के घर तक कोरोना संक्रमण पहुंच गया। शनिवार को देहरादून की एक निजी लैब में उनकी पत्नी अमृता रावत में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।
महाराज का सैंपल भी पॉजिटिव निकला तो मंत्रिमंडल को क्वारंटीन होना पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि, शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में महाराज भी मौजूद थे। प्रदेश में जब कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आया था तो सतपाल महाराज ही एक मात्र ऐसे मंत्री थे, जो कैबिनेट में संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनकर गए थे।
इस पर सहयोगी मंत्रियों ने मजाक भी किया था। 23 मई को अपने आवास पर उन्होंने प्रदेश के लोक कलाकारों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में बाकायदा संक्रमण से बचाव के लिए फेस ग्लास पहना था। इतनी एहतियात बरतने के बाद भी कोरोना वायरस संक्रमण उनके घर तक पहुंच गया। शनिवार को उनकी पत्नी में कोरोना संक्रमण पाया गया। इससे पूरे स्वास्थ्य विभाग भी हड़कंप मचा हुआ है।
स्टाफ व अन्य लोगों को कर रहे चिन्हित
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की गाइड लाइन के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की टीम महाराज का सैंपल जांच के लिए भेजेगी। यदि जांच में महाराज का सैंपल पॉजिटिव आता है तो मंत्रिमंडल भी क्वारंटीन किया जाएगा।

शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में महाराज की अन्य मंत्रियों और अधिकारियों से मुलाकात हुई थी। पिछले एक सप्ताह में महाराज और उनके स्टाफ से मिलने वालों को चिन्हित किया जा रहा है। हालांकि इस बीच महाराज कर्जन रोड स्थित अपने आवास पर रहे। लेकिन उनसे लोग मिलने आते थे। कुछ दिन पहले ही दिल्ली आश्रम से तीन लोग उनके आवास स्थित कार्यालय में आए थे। प्रशासन ने तीन लोगों को क्वारंटाइन करा दिया था।
पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 751

उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार नहीं थम रही है। प्रवासियों की वापसी होने के बाद संक्रमित मरीजों की संख्या कई गुणा बढ़ गई है। शनिवार को भी प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 33 और मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 751 हो गई है। जिनमें अब तक 105 मरीज स्वस्थ होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके हैं। जबकि अलग-अलग अस्पतालों में 636 संक्रमित मरीज भर्ती हैं। पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत भी हो चुकी है, जबकि तीन मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *