WHO की कोरोना वैक्सिनेशन प्रोग्राम से अतिउत्साहित होने के खिलाफ चेतावनी

WHO का बड़ा बयान:दुनिया की कोई भी वैक्सीन 50 फीसदी तक भी कोरोना को रोकने में असरदार नहीं, बड़े पैमाने पर टीकाकरण 2021 तक भी नहीं हो सकेगा
विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रवक्ता डॉक्टर मारग्रेट हैरिस ने कहा- उम्मीद की जाती है वैक्सीन कम से कम 50 फीसदी तो असरदार हो
हैरिस ने कहा- वैक्सीन लाखों लोगों को दी गई, लेकिन यह मानकों के मुताबिक कितनी असरदार साबित हुई मालूम नहीं
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वैक्सीन पर बड़ा बयान दिया है। संगठन का कहना है कि बड़े पैमाने पर कोरोना के टीकाकरण की उम्मीद अगले साल मध्य तक भी नहीं की जा सकती। अभी भी दुनियाभर में वैक्सीन के ट्रायल पूरे नहीं हुए हैं।
विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रवक्ता डॉक्टर मारग्रेट हैरिस ने कहा, दुनियाभर की कई वैक्सीन एडवांस स्टेज के क्लीनिकल ट्रायल में हैं। इनमें से कोई भी वैक्सीन कोरोना को रोकने में 50 फीसदी तक भी असरदार साबित नहीं हुई है। महामारी के इस दौर में किसी भी वैक्सीन से यह उम्मीद की जाती है कि यह कम से कम 50 फीसदी तो असरदार हो।

तीसरे चरण के ट्रायल में लम्बा समय लगेगा
डॉक्टर हैरिस के मुताबिक, रूस ने अपनी वैक्सीन का दो महीने से भी कम समय में ट्रायल पूरा करके अप्रूव कर दिया। इसकी निंदा दुनियाभर के कई वैज्ञानिकों और सरकारों ने की है। इसके अलावा अमेरिकी कम्पनी फाइजर का कहना है, उनकी वैक्सीन अक्टूबर तक लोगों तक पहुंच जाएगी।
उन्होंने कहा कि हर वैक्सीन का तीसरा चरण काफी लम्बा समय लेता है। इसके बाद ही पता चलेगा कि यह कितनी कारगर है। ऐसे में हम अगले साल के मध्य तक बड़े पैमाने पर कोरोना के टीकाकरण की उम्मीद नहीं कर सकते।

कौन सी वैक्सीन पर मानकों पर खरी,पता नहीं
डॉक्टर हैरिस का कहना है, दुनियाभर में जो भी वैक्सीन के ट्रायल चल रहे हैं, उन्हें आपस में आंकड़े और परिणाम साझा करने की जरूरत है। वैक्सीन लाखों लोगों को दी जा चुकी है, लेकिन हमें यह नहीं पता कि कौन सी वैक्सीन मानकों के मुताबिक कितनी असरदार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *