सीबीआई ही करेगी सुशांत मामले की जांच, महाराष्ट्र सरकार दबाव में

सुशांत मामले में फैसला:सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए; कहा- निष्पक्ष जांच से उन बेकसूरों को इंसाफ मिलेगा, जो बदनाम करने की कैंपेन के शिकार हुए
सुशांत की गर्लफ्रेंड रह चुकीं रिया चक्रवर्ती ने पटना में दर्ज केस को मुंबई ट्रांसफर करने की अपील की थी।
कोर्ट ने कहा- सुशांत टैलेंटेड एक्टर थे, उनका परिवार और फैन्स जांच के नतीजों का इंतजार कर रहे
मुंबई पुलिस को सीबीआई जांच में सहयोग के आदेश, कोर्ट ने कहा- पटना में सही एफआईआर हुई थी
नई दिल्ली, मुम्बई, पटना:एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच सीबीआई ही करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को यह आदेश दिया। कोर्ट ने कहा “निष्पक्ष जांच के जरिए सही बातें सामने आएंगी तो, निश्चित ही उन बेकसूरों को इंसाफ मिलेगा, जो बदनाम करने की कैंपेन के शिकार हुए हैं। सीबीआई जांच के फैसले से पिटीशनर (रिया) को भी न्याय मिल पाएगा, क्योंकि उन्होंने खुद भी इसकी मांग की थी।” सुशांत की गर्लफ्रेंड रह चुकीं रिया चक्रवर्ती ने पटना की जांच को मुंबई ट्रांसफर करने की अपील की थी।

सुप्रीम कोर्ट के 35 पेज के आदेश की 5 बड़ी बातें
1. बिहार पुलिस ने जो एफआईआर दर्ज की, वह सही थी।
2. सीबीआई जांच की सिफारिश भी कानून के मुताबिक की गई।
3. मुंबई पुलिस जांच में सहयोग करे, जो भी सबूत जुटाए हैं, उन्हें सीबीआई को सौंपे।
4. कोई और एफआईआर दर्ज होती है तो, उसकी जांच भी सीबीआई करेगी।
5. सुशांत टैलेंटेड एक्टर थे। उनके परिवार के लोग, दोस्त और फैन्स जांच के नतीजों का इंतजार कर रहे हैं, ताकि अटकलें खत्म हो सकें। इसलिए, निष्पक्ष और प्रभावी जांच जरूरी है।

अब आगे क्या?
सीबीआई मुंबई पुलिस को चिट्ठी लिखकर कहेगी कि पिछले 2 महीने में जो भी सबूत जुटाए हैं, वे सौंपे जाएं। न्यूज एजेंसी आईएएनएस के सूत्रों के मुताबिक सीबीआई यह मांग भी करेगी कि मुंबई पुलिस ने जिन-जिन लोगों के बयान दर्ज किए और इस मामले से जुड़े जो भी गैजेट्स हैं, उन्हें सौंपा जाए।

रिया ने कहा- कोई भी एजेंसी जांच करे, सच नहीं बदलेगा
रिया के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा, “रिया जरूरत पड़ने पर सीबीआई के सामने पेश होंगी। उन्होंने मुंबई पुलिस और ईडी को भी सहयोग किया था। रिया ने कहा है कि भले ही कोई भी एजेंसी जांच करे, लेकिन सच नहीं बदलेगा।”

नीतीश कुमार ने कहा- इस मामले का चुनाव से कोई मतलब नहीं
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, “इस मामले का राजनीति से कोई रिश्ता नहीं, बल्कि कानून से है। यह साबित हो गया कि लोगों को न्यायसंगत बात करनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ हो गया कि हमने जो भी कदम उठाए, वे सही थे। यह न्याय की जीत है। अब सही तरीके से जांच होगी और न्याय मिलेगा, इसका हमें भरोसा है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किसी और की बात की कोई वैल्यू नहीं। इस मामले का चुनाव से कोई रिश्ता नहीं है।

एक्टर अक्षय कुमार ने कहा- हमेशा सच की जीत होनी चाहिए

सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने कहा, “हमें बहुत जल्द इंसाफ मिलने की उम्मीद है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सुशांत का परिवार खुश है।”
सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट किया- “भगवान आपका शुक्रिया! आपने सभी की प्रार्थना सुन ली!! लेकिन, यह शुरुआत है…सच की तरफ पहला कदम है। सीबीआई पर पूरा भरोसा है।”
बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा, “सुप्रीम कोर्ट का फैसला 130 करोड़ भारतीयों की भावना की जीत है। सुशांत के केस में हमने अभी तक जो काम किया वह कानूनी रूप से किया। हमारा अफसर मुंबई गया तो उसे क्वारैंटाइन कर दिया गया, यह गलत था। मुझे विश्वास है कि सुशांत केस में नतीजा निकलेगा, क्योंकि यह हिंदुस्तान की लड़ाई है। कुछ लोगों को बेचैनी थी कि इस मामले में कुछ खुलासा नहीं हो जाए।”
सीबीआई जांच को लेकर रिया ने पहले क्या कहा था?
रिया ने कहा था कि बिहार में की जा रही जांच को आधार मानते हुए सीबीआई को केस ट्रांसफर करना गैर-कानूनी है। अगर कोर्ट खुद सीबीआई से जांच करवाने का फैसला लेता है, तो फिर कोई आपत्ति नहीं होगी।

केंद्र सरकार ने क्या जवाब दिया था?
सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा था कि सीबीआई जांच का फैसला सही है। मेहता ने मुंबई पुलिस के तरीके पर भी सवाल उठाए थे। उनका कहना था कि मुंबई पुलिस ने कोई एफआईआर दर्ज नहीं की, फिर 56 लोगों को समन भेजकर उनके बयान दर्ज कैसे कर लिए?

केस ट्रांसफर मामले में किसने क्या जवाब दिया था?


बिहार सरकार: राज्य सरकार की तरफ से पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल मनिंदर सिंह ने कहा था कि बिहार के मुख्यमंत्री ने इस मामले में कोई दखल नहीं दिया। सीबीआई जांच की सिफारिश संबंधित अफसरों की सलाह पर की गई थी।

रिया के वकील: उन्होंने बिहार पुलिस के केस पर सवाल उठाए थे। उनका कहना था कि इस मामले का बिहार पुलिस की एफआईआर से कोई कनेक्शन नहीं है। वहां भेदभाव होने की आशंका है। स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

महाराष्ट्र सरकार: वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने जवाब दिया था कि राज्य सरकार ने बंद लिफाफे में जांच रिपोर्ट सौंप दी है। बिहार सरकार ने यह केस बड़ी आसानी से अपने यहां ट्रांसफर कर लिया, जबकि यह उसके न्याय क्षेत्र में नहीं आता।

रिया चक्रवर्ती: पटना पुलिस के केस को जीरो एफआईआर मानते हुए इसे मुंबई ट्रांसफर किया जाए। सुशांत के पिता ने मुझ पर गलत आरोप लगाए हैं। मेरे सभी फाइनेंशियल ट्रांजैक्शंस एकदम साफ हैं।

सुशांत के पिता: केके सिंह ने अपने वकील नितिन सलूजा के जरिए एफिडेविट देकर कहा था कि रिया ने गवाहों पर असर डालना शुरू कर दिया है। उसने सीबीआई जांच की बात से भी यू-टर्न ले लिया।
बिहार सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी
सुशांत के पिता केके सिंह ने रिया के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज करवाई थी। उनका आरोप है कि रिया ने सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाया। दूसरी तरफ बिहार सरकार ने इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की थी, जिसे केंद्र ने मान लिया। उसके बाद सीबीआई ने रिया समेत कुछ लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था।
सुशांत का शव 14 जून को मुंबई में उनके फ्लैट में लटका मिला था। पुलिस ने इसे आत्महत्या का केस बताया। लेकिन, सुशांत के फैन्स, परिवार वालों और कई नेताओं ने हत्या का शक जताते हुए सीबीआई जांच की मांग उठाई थी।

ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. सुशांत की मौत में नया दावा:पूर्व मैनेजर ने कहा- सुशांत को स्टाफ ने मिलकर मारा, वे दरवाजा बंद करके नहीं सोते थे; भाई नीरज बोले- गवाहों की हत्या हो सकती है

2. सुशांत केस में ईडी के सूत्रों का दावा:एक्टर ने दो-तीन साल में 30-35 करोड़ रुपए कमाए थे, न वे आर्थिक तंगी में थे और न ही उन्हें काम मिलने में दिक्कत हो रही थी

3. रिया चक्रवर्ती का नया दावा:एक्ट्रेस के वकील ने कहा- मौत से पहले सुशांत फोन पर रोते थे,परिवार को मुंबई बुला रहे थे,जब उनकी बहन आने को तैयार हुईं तो उन्होंने रिया को उनके घर भेज दिया

सुशांत केस की सीबीआई जांच पर प्रतिक्रियाएं

:शिवसेना गृहमंत्री के इस्तीफे पर बोली- अगर इस्तीफे की बात निकलेगी तो दिल्ली तक जाएगी; भाजपा ने कहा- महाराष्ट्र सरकार को आत्मचिंतन करना चाहिए
एक्ट्रेस सुशांत के चचेरे भाई और भाजपा नेता नीरज सिंह बबलू ने कहा कि अब सुशांत को न्याय मिलेगा
कंगना रनोत ने कहा कि यह मानवता की जीत है, हमें सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिला
एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच अब सीबीआई ही करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को यह फैसला सुनाया। इस पर कांग्रेस और भाजपा के साथ बॉलीवुड से भी प्रतिक्रियाएं आई हैं। भाजपा नेता किरीट सौमैया ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से इस्तीफा मांगा है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि इस फैसले के बाद महाराष्ट्र सरकार को आत्मचिंतन करना चाहिए।
विपक्ष के आरोपों पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि मुंबई पुलिस ने सुशांत की मौत के मामले में कानून के तहत काम किया। जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे सही नहीं हैं। जो लोग सरकार में हैं, वे कानून को जानते हैं। मुंबई पुलिस कमिश्नर या हमारे एडवोकेट जनरल इस फैसले पर बात कर सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर मेरा कमेंट करना ठीक नहीं होगा। उन्होंने ने कहा कि गृह मंत्री का इस्तीफा मांगा जा रहा है, अगर इस्तीफे की बात निकलेगी तो दिल्ली तक जाएगी। हमारे राज्य की न्याय व्यवस्था देश में सबसे बेहतर है। कोई भी कानून से ऊपर नहीं है।
नीतीश कुमार ने कहा- हमारा हर कदम न्यायसंगत था
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब उन्हें (सुशांत) न्याय मिलेगा। हमने सभी कदम कानून के तहत उठाए। वे न्यायसंगत थे। हमारा इस केस से जो भी रिश्ता है वह सिर्फ न्याय से जुड़ा है। इसे राजनीति या चुनाव की नजर नहीं देखना चाहिए।

अक्षय कुमार ने कहा- हमेशा सच की जीत होनी चाहिए

अक्षय कुमार ने कहा कि हमेशा सच की जीत होनी चाहिए। कंगना रनोट ने कहा कि यह मानवता की जीत है। उधर, भाजपा नेता किरीट सौमैया ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अशोक देशमुख से इस्तीफा मांगा है।

कंगना ने एसएसआर वॉरियर्स को बधाई दी

सुशांत की बहन ने कहा- आखिरकार, जांच सीबीआई को मिली

सुशांत के भाई और भाजपा नेता नीरज सिंह बबलू ने कहा, ‘हमारे परिवार ने सुप्रीम कोर्ट और उन सभी को धन्यवाद दिया जो न्याय के लिए इस आंदोलन का हिस्सा थे। अब, सुशांत को न्याय मिलेगा।’

किसने क्या कहा?

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा, ‘अब न केवल सच्चाई सामने आएगी, बल्कि वे नाम भी सामने आएंगे, जो जांच को रोकने के पीछे थे। मुझे उम्मीद है कि कोर्ट के आदेश से सुशांत के परिवार को राहत मिली है।’
बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश से कोर्ट पर लोगों का भरोसा मजबूत हुआ है। देश को भरोसा दिलाया है कि सुशांत की मौत के मामले में न्याय दिया जाएगा।’
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा- ‘सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुशी हुई। यह न्याय की जीत है। सुशांत की मौत के मामले में मैंने 30 जून को सीबीआई डिमांड की मांग की थी। बिहार सरकार 42 दिन बाद जागी।’
शरद पवार के पोते ने कहा- सत्यमेव जयते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *