शनिवार 950 का नया रिकॉर्ड,दून से 226;प्रदेश करीब 24 हजार

उत्तराखंड में कोरोना के रिकॉर्ड 950 मामले,18 संक्रमितों की मौत
देहरादून, 05 सितंबर। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। शनिवार को रिकॉर्ड 950 मामले सामने आए हैं,जिनमें सबसे अधिक 226 देहरादून से हैं। इसके अलावा 175 ऊधमसिंह नगर, 133 हरिद्वार, 113 नैनीताल, 71 पौड़ी गढ़वाल, 69 उत्तरकाशी, 55 टिहरी गढ़वाल, 32 अल्मोड़ा, 30 चमोली, 17 रुद्रप्रयाग, 14 चंपावत, आठ पिथौरागढ़ और सात बागेश्वर में सामने आए हैं। वहीं, 535 ठीक हुए हैं, जबकि 18 की मौत हुई है। प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 23961 हो गई है। इनमें से 15982 स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 7575 केस एक्टिव हैं, जबकि 330 की अबतक मौत हो चुकी है। इसके अलावा 74 राज्य से बाहर जा चुके हैं।

दून मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की मौत

दून मेडिकल कालेज अस्पताल में कोरोना संक्रमित दो और मरीजों की मौत हो गई। गुरुद्वारा रोड करनपुर निवासी 48 वर्षीय व्यक्ति को तीन सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था। गंभीर निमोनिया और रेस्पिरेटरी फेलियर मौत की वजह बना। वहीं पीडब्ल्यूडी कालोनी हरिद्वार निवासी व्यक्ति को चार सितंबर अस्पताल में भर्ती को किया गया था। गंभीर निमोनिया, एक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम व रेस्पिरेटरी फेलियर मौत का कारण बना।

आठ चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों में कोरोना की पुष्टि,स्वास्थ्य केंद्र बंद

हरिद्वार जिले के मंगलौर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आठ चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके चलते स्वास्थ्य केंद्र को फिलहाल बंद कर दिया गया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र 12 चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मी हैं। इनमें आठ की रिपोर्ट पॉजिटिव आई हैं, जबकि अन्य चार की जांच होनी अभी शेष है।
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शनिवार को 9620 सैंपलों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। 950 सैंपलों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कोरोना काल में एक दिन में मिलने वाले संक्रमित मरीजों और मरने वालों का रिकॉर्ड है। तीन सितंबर को प्रदेश में सबसे अधिक 946 संक्रमित मरीज मिले थे।
तीन दिन में मिले 2727 कोरोना मरीज

प्रदेश में कोरोना संक्रमण में हर दिन नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। बीते तीन दिन में प्रदेश में 2727 संक्रमित मिले हैं और 42 मरीजों की मौत हुई है। देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल जिले में तेजी से बढ़ रहे संक्रमण को लेकर स्थिति गंभीर हो रही है।
पूर्व सांसद बाबा और कोतवाल कोरोना पॉजिटिव
पूर्व सांसद केसी सिंह बाबा और काशीपुर कोतवाल चंद्रमोहन सिंह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बाबा को इलाज के लिए गुरुग्राम (हरियाणा) और कोतवाल को दिल्ली रेफर किया गया गया है।
कोरोना के नोडल अधिकारी डॉक्टर अमरजीत ने बताया कि पूर्व सांसद केसी सिंह बाबा की तबीयत खराब होने पर शुक्रवार शाम उन्हें सरकारी अस्पताल लाया गया था। वहां रेपिड एंटीजन टेस्ट में पूर्व सांसद पॉजिटिव पाए गए। उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
डॉक्टर अमरजीत ने बताया कि 31 अगस्त को भेजे गए आरटीपीसीआर सैंपल में कोतवाल चंद्रमोहन सिंह में कोरोना की पुष्टि हुई है, उन्हें दिल्ली भेजा गया है। कोतवाल चंद्रमोहन 31 अगस्त से सरकारी आवास में क्वारंटीन थे। प्रभारी कोतवाल का चार्ज सतीश कापड़ी को सौंपा गया है।
विज्ञापन
कैबिनेट मंत्री पांच दिन को आइसोलेट
शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक कोरोना पॉजीटिव के संपर्क में आने के कारण शनिवार शाम को अगले पांच दिन के लिए आइसोलेट हो गए हैं। इससे पहले मंत्री ने जनसमस्याएं सुनने के साथ मायादेवी मंदिर में हवन में हिस्सा लिया था। कई संगठनों के कार्यकर्ताओं ने उनसे मिलकर अपने मांग पत्र भी दिए। सूत्रों का कहना है कि मंत्री का करीबी कोरोना संक्रमित पाया गया है।
प्रशासन ने शनिवार शाम मीडिया से शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के आगामी पांच दिन के लिए आइसोलेट होने की जानकारी साझा की। बताया गया है कि कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने के कारण कैबिनेट मंत्री ने यह फैसला लिया। कहा गया कि इस अवधि में मंत्री कौशिक किसी से नहीं मिलेंगे। जनसमस्याओं के निस्तारण को कार्यालय में संपर्क करने का अनुरोध किया गया है।
मंत्री के आइसोलेट में जाने की खबर मिलते ही शहर में हड़कंप मच गया। दरअसल मंत्री कौशिक ने शनिवार दोपहर को कार्यालय में जनसमस्याएं सुनने के बाद कई संगठनों के ज्ञापन भी लिए। इसी बीच मंत्री कौशिक मायादेवी मंदिर परिसर में पहुंचकर मंदिर की ऊंचाई बढ़ाने की अनुमति मिलने और कोरोना के खात्मे को आयोजित हुए हवन में भाग लिया था। मालूम हो कि इससे पहले तीन दिन तक आइसोलेट रहने के बाद कैबिनेट मंत्री एक सितंबर को बाहर आए थे। इसके अलावा भाजपा पार्षद के पति भी कोरोना पॉजीटिव मिलने के बाद शनिवार को अस्पताल में भर्ती हो गए।
रानीपुर कोतवाली दो दिन को बंद
हरिद्वार की रानीपुर कोतवाली में मुंशी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया है। आनन-फानन में कोतवाली के पूरे परिसर को सैनिटाइज कराया गया। रानीपुर कोतवाली प्रभारी की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है, लेकिन 10 दिन से जांच के लिए बाहर होने के कारण उन्हें आइसोलेट कर दिया गया।
फिलहाल कोतवाली को दो दिन के लिए पाबंद कर दिया गया है। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि अब दो दिनों तक गैस प्लांट चौकी से कोतवाली का कामकाज होगा। इसके साथ ही कोतवाली में मौजूद सभी कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट भी कराया जाएगा। कोतवाली के मुंशी की रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद संपर्क में अन्य कर्मचारियों को क्वांरटीन कर दिया गया है।
उत्तराखंड में कोरोना के सक्रिय केस सात हजार पार
मैदान से लेकर पहाड़ तक रोजाना संक्रमण के कई मामले मिलने से चिंता ही नहीं, बल्कि चुनौतियां भी बढ़ रही हैं। सरकारी महकमों में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। एहतियात के तौर पर कई दफ्तरों को दो-तीन दिन के लिए बंद कर दिए गए हैं।

502 रोगी अस्पताल से घर

प्रदेश के विभिन्न सरकारी अस्पतालों व कोविड-केयर सेंटर से 502 मरीज डिस्चार्ज भी किए गए हैं। इनमें हरिद्वार व टिहरी से 107-107 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इसके अलावा देहरादून से 95, ऊधमसिंह नगर से 85, चमोली से 52, उत्तरकाशी से 25, नैनीताल से 21 व पौड़ी से दस मरीज शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *