सुशांत सिंह के 15 करोड़ गायब होने का मामला, फिल्म निर्देशक के स्टिंग में खोला भेद

क्या है सुशांत के 15 करोड़ रुपये ‘गायब’ होने का राज, स्ट‍िंग ऑपरेशन में निर्माता ने खोला राज
हालांकि, रिया ने ये भी साफ किया कि सुशांत और फिल्म निर्माताओं ने इस संबंध में औपचारिक एग्रीमेंट पर साइन नहीं किए थे. रिया ने कहा, “यह एक मौखिक डील थी. कागजात पर कुछ भी साइन नहीं किए गए थे. दुर्भाग्य से, उसके बाद जल्दी ही लॉकडाउन हो गया. मई में शूटिंग शुरू किए जाना प्रस्तावित था और कॉन्ट्रेक्ट पर काम मार्च-अप्रैल में होना था, लेकिन चीजें टलती गईं, इसलिए कोई ट्रांजेक्शन नहीं हुआ

मो. हिज्बुल्लाह/अरविंद ओझा
मुंबई,07 सितंबर 2020,तंंं।सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर एक्टर के घरवालों ने 15 करोड़ रुपए हड़पने का शक जताते हुए उंगली उठाई थी और जांच की मांग की थी. जैसे कि प्रवर्तन निदेशालय (ED) एक्टर की इस कथित रकम से जुड़े लेनदेन की तलाश में जुटा है, इंडिया टुडे की जांच से सामने आया है कि प्रस्तावित एक फिल्म प्रोजेक्ट से जुड़ी इस रकम का संभवत: एक्टर को भुगतान हुआ ही नहीं था.

फिल्म प्रोजेक्ट के बारे में रिया के दावे

“>आजतक/इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में रिया चक्रवर्ती ने जोर देकर कहा था कि एक्टर ने अपने परिवार को लेखक-निर्देशक रूमी जाफरी और निर्माता वासु भगनानी की ओर से प्रस्तावित फिल्म में खुद को कास्ट किए जाने के बारे में बताया था. रिया ने कहा, “सुशांत और वासु सर की मीटिंग में सुशांत को शायद 15 करोड़ रुपए साइनिंग अमाउंट दिए जाने पर सहमति बनी. सुशांत इसको लेकर बहुत खुश थे. ये फरवरी महीने की बात है.”

हालांकि, रिया ने ये भी साफ किया कि सुशांत और फिल्म निर्माताओं ने इस संबंध में औपचारिक एग्रीमेंट पर साइन नहीं किए थे. रिया ने कहा, “यह एक मौखिक डील थी. कागजात पर कुछ भी साइन नहीं किए गए थे. दुर्भाग्य से, उसके बाद जल्दी ही लॉकडाउन हो गया. मई में शूटिंग शुरू किए जाना प्रस्तावित था और कॉन्ट्रेक्ट पर काम मार्च-अप्रैल में होना था, लेकिन चीजें टलती गईं, इसलिए कोई ट्रांजेक्शन नहीं हुआ.”

इंडिया टुडे ने फिल्ममेकर की जांच की तो क्या आया सामने?

इंडिया टुडे की इंवेस्टीगेटिव टीम ने चक्रवर्ती के दावों की पड़ताल की और प्रस्तावित फिल्म के लेखक-निर्देशक रूमी जाफरी से संपर्क किया. जाफरी से केस के सिलसिले में विभिन्न एजेंसियों की ओर से पूछताछ की जा रही है.

जाफरी ने कबूल किया कि उन्होंने राजपूत के साथ एक फिल्म प्रोजेक्ट पर बात की थी, जिसमें एक्टर और रिया दोनों साथ काम करते, लेकिन लॉकडाउन की वजह से एग्रीमेंट पर साइन नहीं किए जा सके थे.

जाफरी- “हां, हमारे पास एक फिल्म प्रोजेक्ट था.”

रिपोर्टर- “ऐसी अटकलें हैं कि 15-18 करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन हुआ?”

जाफरी- “इस इंडस्ट्री में कोई निर्माता 15 करोड़ रुपए, यहां तक कि टॉप स्टार्स को भी नहीं देता. ये तो पूरी प्राइस भी नहीं थी, साइनिंग अमाउंट तो एक तरफ छोड़ो. पैसा क्यों दिया जाना चाहिए था? पहली बात, एग्रीमेंट पर साइन ही नहीं हुए थे. ये उसका (सुशांत का) दुर्भाग्य था. लॉकडाउन हो गया.”

इस बात से अनजान कि उन्हें छुपे कैमरे से शूट किया जा रहा है, जाफरी ने जोर देकर कहा कि औपचारिक तौर पर साइन किए बिना ही स्टार को 15 करोड़ का भुगतान किए जाने का सवाल ही नहीं था.

‘गॉड तुस्सी ग्रेट हो’ फेम राइटर जाफरी ने ये भी बताया कि फिल्म प्रोजेक्ट्स के लिए साधारण तौर पर भुगतान किस्तों में होता है. जाफरी ने कहा,

“आप एक निर्देशक हैं, एक हीरो हैं या एक हीरोइन, हैं, पहले रकम को लेकर सहमति बनती है. मिसाल के लिए रूमी जाफरी को 100 रुपये का भुगतान करने का एक एग्रीमेंट है, भुगतान का तरीका कुछ इस प्रकार होगा: साइनिंग अमाउंट के रूप में पांच प्रतिशत, जिसे मैं 10 प्रतिशत तक ले जाने के लिए बात कर सकता हूं. फिर प्री प्रोडक्शन स्टेज में पांच प्रतिशत, फिर पहले और दूसरे शेड्यूल में, फिर डबिंग के दौरान और आखिर में रिलीज के दौरान.”

सुशांत के पिता केके सिंह ने एफआईआर में अपने बेटे के खाते से 15 करोड़ रुपये के गबन का आरोप लगाया है, साथ ही रिया और उनके सहयोगियों की जांच की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *