बाइक की नंबर प्लेट पर लिखा- ‘आई त लिखाई’, पुलिस ने कहा- ‘जब लिखाई तब थाने से जाई’

पुलिस ने जब बाइक सवार से बाइक के पेपर मांगे तो उसके पास बाइक का कोई पेपर मौजूद नहीं था. पुलिस द्वारा पूछने पर कि यह नंबर प्लेट पर क्या लिखवाया है? उसने कहा कि अभी रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं मिला.
वाराणसी: नए मोटर व्हिकल एक्ट में ज्यादा जुर्माना के प्रावधान के बाद से जनता ट्रेफिक नियमों को लेकर और भी ज्यादा सतर्क हो गई है. बावजूद इसके अभी भी काफी लोग ट्रेफिक नियमों की अनदेखी कर रहे हैं. इस बीच उत्तर प्रदेश के वाराणसी से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर आप अपनी हंसी शायद ही रोक पाएं.
दरअसल वाराणसी में पुलिस ने एक बुलेट बाइक सवार को रोका, जिसकी नंबर प्लेट पर लिखा था ‘आई त लिखाई’ मतलब जब नंबर आएगा तब लिखवा लेंगे. इसपर पुलिस शख्स और उसकी बाइक को थाने में ले गई और कहा- ‘ठीक हो जब नंबर लिखाई तब थाने से जाई’ मतलब जबतक बाइक की प्लेट पर नंबर नहीं लिखा जाएगा थाने से नहीं जाने दिया जाएगा. बता दें कि वाराणसी में आमतौर पर इसी तरह की भाषा का इस्तेमाल किया जाता है. ये भाषा भोजपुरी है.
बता दें कि वाराणसी के एसएसपी के निर्देश पर शहर भर में सुरक्षा के मद्देनज़र वाहनों की कड़ी चेकिंग का अभियान चलाया जा रहा है. पुलिस ने जब बाइक सवार से बाइक के पेपर मांगे तो उसके पास बाइक का कोई पेपर मौजूद नहीं था. पुलिस द्वारा पूछने पर कि यह नंबर प्लेट पर क्या लिखवाया है? उसने कहा कि अभी रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं मिला. इसलिए यह लिखवाया है. इसके बाद पुलिस ने शख्स की बाइक को जब्त कर लिया.
जिंदगी अनमोल है, वाहन चलाते समय नियमों का पालन करें
मुजफ्फरनगर। एमजी पब्लिक स्कूल में सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत यातायात नियमों के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से जन जागरण को रैली निकाली गई। रैली के माध्यम से नागरिकों को यातायात के नियमों के प्रति जागरूक किया गया। लोगों ने कहा कि जिंदगी अनमोल है, सभी को यातायात के नियमों का पालन अवश्य करना चाहिए।
रैली का शुभारंभ विद्यालय के निदेशक जीबी पांडे व प्रधानाचार्या मोनिका गर्ग ने हरी झंडी दिखाकर किया। रैली में बैनर और स्लोगन के माध्यम से छात्र-छात्राओं ने यातायात नियमों के पालन के लिए लोगों को प्रेरित किया। छात्र-छात्राओं ने हाथों में स्लोगन की तख्तियां लेकर नागरिक को यातायात नियमों के प्रति संवेदनशील बनने और सुरक्षित यातायात को लेकर जागरूक रहने का संदेश दिया। कॉलेज परिसर से शुरू हुई यातायात जागरूकता रैली सरकुलर रोड पर जनजागरण करते हुए गुजरी। इस दौरान बच्चों ने लोगों को तेज गति से वाहन न चलाने, वाहन चलाते समय मोबाइल फोन का प्रयोग न करने, हेलमेट और सीट बेल्ट का सदैव प्रयोग करने के लिए प्रेरक संदेश दिया। रैली में स्कूल के शिक्षक शिक्षिकाओं के साथ ही समस्त स्टाफ का सहयोग रहा। प्रधानाचार्य मोनिका गर्ग ने कहा छात्रों से कहा कि वह अपने घर पर परिजनों को इसके लिए प्रेरित करें कि दोपहिया वाहन पर बिना हेलमेट के सफर न करें। हम अपने घर और आसपास से इस बदलाव की शुरूआत कर सकते हैं। यातायात नियमों का पालन करना हमारी ही सुरक्षा के लिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *