घोंचू बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित

देहरादून, । बीजेपी ने जहरीली शराब कांड के जिम्मेदार अजय सोनकर उर्फ घोंचू को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्काषित कर दिया है। इस दौरान पार्टी के महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने पार्टी कार्यकर्ताओं को कहा कि वो सतर्क रहें, जिससे संदिग्ध प्रवृत्ति का कोई भी शख्स पार्टी का सक्रिय सदस्य या पदाधिकारी न बन पाए।
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट जी के निर्देश पर महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने अजय सोनकर उर्फ घोंचू को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से तत्काल प्रभाव से निष्कासित कर दिया है। उन्होंने कहा कि अजय सोनकर कांग्रेस के पार्षद रहे और पिछले विधानसभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। लेकिन क्षेत्रीय जनता ने उनके संबंध में जो जानकारी दी है और पुलिस कार्रवाई का संज्ञान लेते हुए उनके खिलाफ निष्कासन की कार्रवाई की गई है।
बता दें कि वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी का सदस्यता, सक्रिय सदस्यता और बूथों के चुनाव चल रहे हैं। ऐसे में गोयल ने सभी को सतर्क रहने के निर्देश देते हुए कहा कि भाजपा का परिवार बहुत बड़ा हो रहा है। ऐसे में संदिग्ध प्रवृत्ति का कोई शख्स इस मौके का फायदा उठाकर बीजेपी का सक्रिय सदस्य या किसी भी स्तर का पदाधिकारी न बन पाए।
बता दें कि मुंबई से लौटे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार रात पथरिया पीर में हुए जहरीली शराब कांड के मामले में गृह, आबकारी व पुलिस विभाग के अधिकारियों को तलब किया था। उन्होंने इस घटना और इसके बाद की गई कार्रवाई की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने साफ किया कि अगर किसी के संरक्षण की बात सामने आती है तो इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। साथ ही अवैध शराब पर अंकुश लगाने के मद्देनजर आबकारी एक्ट में संशोधन की जरूरत हो तो इसका प्रस्ताव तैयार किया जाए।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मुख्य आरोपित को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। वह आदमी चाहे धरती पर हो, आसमान में अथवा पाताल में, हर हाल में पकड़ा जाना चाहिए। उन्होंने इस बात पर सख्त नाराजगी जताई कि शहर के बीचों बीच इतना सबकुछ चल रहा हो और हमारी एजेंसियों को पता तक न चले, यह कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि पूरे घटनाक्रम की गहराई से हर पहलू की बारीकी से जांच की जाए और जो भी दोषी पाया जाए, उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।
वहीं मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी को अभियान चलाने के निर्देश दिए और कहा कि इसमें जिन लोगों की मिलीभगत हो उन्हें पकड़कर सख्त से सख्त एक्शन लिया जाए। उन्होंने कहा कि अवैध शराब के धंधे में लिप्त तत्वों के खिलाफ कार्रवाई को और सख्त करने के लिए आबकारी एक्ट में किसी प्रकार के संशोधन की जरूरत हो तो उसका प्रस्ताव तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि अवैध शराब और नशे के कारोबार को रोकने में आमजन का भी सहयोग लिया जाए।
बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार, प्रमुख सचिव आनंदवर्द्धन, सचिव नितेश झा, आइजी गढ़वाल रेंज अजय रौतेला, आबकारी आयुक्त सुशील कुमार, डीएम देहरादून सी.रविशंकर व एसएसपी अरुण मोहन जोशी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *