मुख्तार के बेटे के घर से हथियारों का जखीरा, इटली और ऑस्ट्रिया में बनी गन भी

अब्बास अंसारी के घर से बरामद किया गया असलहों का जखीरा।
बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास के दिल्ली स्थित घर पर पुलिस ने की छापेमारी
जांच के दौरान उप्र पुलिस ने विदेशी असलहों के साथ ही 4,331 कारतूस बरामद किए
पुलिस और डीएम के अनुमति के बिना ही लाइसेंस दिल्ली के पते पर किए गए ट्रांसफर
नई दिल्ली/लखनऊ. उत्तर प्रदेश पुलिस ने विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी के दिल्ली स्थित घर से कई विदेशी-देसी असलहे और हजारों कारतूस बरामद किए। छापेमारी में लखनऊ पुलिस के साथ दिल्ली पुलिस की टीम भी शामिल थी। छापेमारी में पुलिस टीम को अब्बास के घर से इटली की डबल बैरल बंदूक, स्लोवेनिया से मंगवाई गई सिंगल बैरल गन समेत कई विदेशी असलहे बरामद किए। पुलिस बरामद असलहों को लखनऊ ले आई।
लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि 12 अक्टूबर को महानगर कोतवाली में अब्बास अंसारी के खिलाफ शस्त्र लाइसेंस के मामले में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि अब्बास की लोकेशन दिल्ली में है। पुलिस को अब्बास के बसंतकुंज स्थित किराए के मकान का पता चला। पुलिस ने सर्च वॉरंट के आधार पर बुधवार को यहां छापेमारी की थी।
कई महीनों से चल रही थी पड़ताल

सूत्रों के मुताबिक, एसटीएफ कई महीनों से मुख्तार और उसके करीबियों के नाम से जारी शस्त्र लाइसेंस की पड़ताल कर रही थी। जांच में पता चला कि अब्बास के लखनऊ के पते पर बने लाइसेंस पर डबल बैरेल बंदूक खरीदी गई हैं।
लाइसेंस दिल्ली ट्रांसफर करा लिए गए
पुलिस, डीएम की अनुमति के बिना ही यह लाइसेंस दिल्ली के पते पर ट्रांसफर करवा लिया गया। लाइसेंस ट्रांसफर होने के बाद 5 असलहे और खरीदे गए। असलहे दिल्ली और यूपी दोनों जगह प्रयोग किए जा रहे थे। इंस्पेक्टर महानगर अशोक सिंह ने बताया कि जांच के दौरान अब्बास घर पर नहीं मिला।
4,331 कारतूस बरामद किए गए

अब्बास के घर से पुलिस को इटली की डबल बैरल बंदूक, स्लोवेनिया से मंगवाई गई सिंगल बैरल गन, लखनऊ से खरीदी गई साउथ कैटाफिल की मैगनम राइफल, दिल्ली से खरीदी गई डबल बैरल गन, मेरठ से खरीदी गई यूएस मेक रिवॉल्वर, स्लोवेनिया से आयात की गई राइफल, सात अलग-अलग बोर के बैरल, ऑस्ट्रिया की तीन पिस्टल की बैरल, ऑस्ट्रिया की दो मैगजीन, एक लोडर और अलग-अलग बोर के 4,331 कारतूस बरामद किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *