मंगल दोपहर नये 77 कोरोना केसों में टिहरी से 43 ,प्रदेश में 1488

उत्तराखंड में कोरोना के 77 मामले, कोरोना संक्रमित महिला समेत दो की मौत
उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। वहीं कोरोना संक्रमित महिला की मौत हो गई। …

देहरादून,। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आज 77 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, कोरोना संक्रमित महिला और होम क्वारंटाइन में रह रहे वृद्ध की मौत हुई है। कोरोना संक्रमित महिला सहारनपुर की रहने वाली थी और उसका अस्पताल में इलाज चल रहा था। वहीं, जिस जन की होम क्वारंटाइन में मौत हुई वो एक जून को दिल्ली से लौटा था। प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमित 15 लोगों की मौत हो चुकी है।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा जा रहा है। मंगलवार को 77 नए मामले सामने आए हैं,जिनमें टिहरी गढ़वाल 43,पिथौरागढ़ सात,हरिद्वार चार,नैनीताल चार, पौड़ी गढ़वाल चार,रुद्रप्रयाग चार,अल्मोड़ा एक,बागेश्वर तीन, देहरादून तीन और निजी लैब के चार मामले शामिल हैं। वहीं, 35 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेशभर में अब कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 1488 तक पहुंच गया है, जबकि 749 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। इसके साथ ही 719 एक्टिव केस हैं।

कोरोना संक्रमित महिला की मौत

श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित 89 वर्षीय महिला की मौत हो गई। शेरपुर चांचक सहारनपुर निवासी महिला को आठ जून को श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती किया गया था। उसे सांस लेने में दिक्कत, उच्च रक्तचाप समेत अन्य स्वास्थ्य समस्याएं थी। कोविड गाइडलाइन के अनुसार भर्ती होने पर महिला का सैंपल जांच के लिए भेजा गया। सोमवार रात रिपोर्ट पॉजिटिव आई। महिला को दून अस्पताल शिफ्ट किया जाता, इससे पहले ही उसकी मौत हो गई। पुलिस-प्रशासन को इसकी सूचना दे दी गई है। कोरोना की गाइलाइन के अनुसार लक्खीबाग श्मशानघाट में महिला की अंत्येष्टि की जाएगी।

होम क्वारंटाइन में वृद्ध की मौत

होम क्वारंटाइन में एक वृद्ध की मौत हो गई। वह एक जून को पत्नी के साथ दिल्ली से आए थे। तब से होम क्वारंटाइन थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जानकारी ली। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को ने मौके पर पहुंचकर कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया। पुलिस के मुताबिक आवास विकास,होली चौक निवासी 85 वर्षीय नंद थपलियाल और उनकी पत्नी रामेश्वरी देवी दिल्ली गए हुए थे। एक जून को वह दिल्ली से रुद्रपुर पहुंचे। सोमवार शाम को नंद ने परिजनों को घबराहट होने की बात कही। इसके बाद देर रात अचानक उनकी मौत हो गई।

कोरोना संक्रमित के अंतिम संस्कार को ले नाला पानी शमशान घाट में हंगामा

मुरादाबाद के कोरोना संक्रमित वृद्ध की मौत के बाद अंतिम संस्कार के लिए शव को नालापानी स्थित श्मशान घाट ले जाया गया। यहां एक बार फिर स्थानीय लोगों ने हंगामा कर दिया। स्थानीय लोगों ने कहा कि दो दिन पहले ही संक्रमित आढ़ती के अंतिम संस्कार को लेकर भी हंगामा हुआ था। उस दौरान तय किया गया था कि अब दोबारा यहां पर कोरोना संक्रमित का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा,लेकिन दो दिन बाद ही दोबारा ये किया जा रहा है। इससे क्षेत्र के लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। फिलहाल,कुछ लोग इसके लिए तैयार हो गए हैं, जबकि कुछ लोग अब भी इसका विरोध कर रहे हैं। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी लोगों को समझाने में लगे हुए हैं।
लक्खी बाग में कोरोना पॉजिटिव के दाह संस्कार को लेकर हंगामा

वहीं आज देहरादून के लखीबाग श्मशान घाट में कोरोना पॉजिटिव के दाह संस्कार को लेकर स्थानीय लोगों ने हंगामा कर दिया। जानकारी के मुताबिक एसडीएम, सीओ सिटी शेखर सुयाल, एसएचओ शिशु पाल नेगी लखीबाग श्मशान घाट में प्रबंधन समिति के साथ बैठक करने पहुंचे थे। उन्होंने समिति के लोगों को कोरोना पॉजिटिव का दाह संस्कार करने में सहयोग करने की अपील की। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सदस्यों को जागरूक करते हुए अनावश्यक विरोध से बचने को कहा। समिति के सदस्यों ने प्रशासन की गाइडलाइन का पालन करने पर हामी भरी, लेकिन इसी बीच स्थानीय लोगों ने विरोध शुरू कर दिया।
लोगों का कहना है कि लखीबाग श्मशान आबादी वाले क्षेत्र में है, इसलिए यह संवेदनशील क्षेत्र है। यहां के बजाय चंद्रबनी व अन्य इलाकों को विकल्प के रूप में लेना चाहिए। पुलिस ने लोगों को मनाने की कोशिश की,लेकिन लोगों ने सहमति नहीं दी। इसके बाद प्रशासन व पुलिस की टीम चली गई।
प्रदेश में मरीजों का रिकवरी रेट एक बार फिर बढ़ कर 51 फीसद पहुंच गया है। सोमवार को 186 मरीज इस बीमारी से जंग जीत अपने घर चले गए हैं। पौने तीन महीने के अंतराल में यह पहला मौका जब एक दिन में इतनी संख्या में मरीजों को अस्तपालों से छुट्टी मिली है। इससे पहले एक जून को 120 मरीज स्वस्थ हुए थे। इस बीच,56 और मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 28 टिहरी,नौ हरिद्वार,छह देहरादून,चार पौड़ी,बागेश्वर,चंपावत व रुद्रप्रयाग में दो-दो और चमोली,नैनीताल व ऊधमसिंहनगर में कोरोना का एक-एक नया मामला आया है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को 697 सैंपल की जांच रिपोर्ट मिली है। जिनमें 641 की रिपोर्ट नेगेटिव और 56 केस पॉजिटिव हैं। राज्यभर के अस्पतालों में उपचार करा रहे जिन 186 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया उनमें नैनीताल से सबसे ज्यादा 83 मामले हैं। देहरादून में 31,चंपावत और पिथौरागढ़ से 20-20,ऊधमसिंहनगर से 17,बागेश्वर से 7,चमोली से पांच,अल्मोड़ा से 2 और हरिद्वार से एक मरीज डिस्चार्ज किया गया है।

मुरादाबाद निवासी बुजुर्ग का अंतिम संस्कार

मुरादाबाद के 80 साल के वृद्ध का आज अंतिम संस्कार होगा। वृद्ध के परिजन मुरादाबाद से सोमवार शाम को दून पहुंच गए। रविवार देर रात एक निजी अस्पताल से रेफर होने के बाद वृद्ध की दून अस्पताल में मौत हो गई थी। उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव थी। उप चिकित्सा अधीक्षक डाक्टर एनएस खत्री ने बताया कि परिजन दून पहुंच गए हैं। पुलिस एवं प्रशासन की टीम ने अंतिम संस्कार के लिए पूरी तैयारी कर ली है। मंगलवार सुबह अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। उनके अस्पताल में भर्ती बेटे की कोरोना जांच रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।

रुड़की में देर रात कोरोना संदिग्ध की मौत

रुड़की सिविल अस्पताल में भर्ती एक कोरोना संदिग्ध मरीज की मौत हो गई है। दरअसल,रुड़की निवासी मरीज को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसका सैंपल भी जांच को भेजा गया था। चिकित्सकों ने बताया कि अभी सैंपल की जांच रिपोर्ट नहीं आई थी। मगर सोमवार देर रात उसके फेफड़ों ने अचानक काम करना बंद कर दिया। चिकित्सकों ने उसे बचाने के प्रयास किया,लेकिन उसने दम तोड़ दिया है। इस संबंध में अस्पताल प्रशासन ने उच्च अधिकारियों को सूचना दे दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *