कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय से आईआईएम बैंगलोर के साथ महात्मा गांधी नेशनल फैलोशिप प्रोग्राम लान्च

प्रोग्राम का लान्च गुजरात, कर्नाटक, मेघालय, राजस्थान, उत्तरप्रदेश और उत्तराखण्ड के 75 ज़िलों में किया गया
देहरादून, 10 अक्टूबर, 2019: ज़िला स्तर पर कौशल विकास को बढ़ावा देने के प्रयास में कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय ने आज दो-वर्षीय फैलोशिप प्रोग्राम, महात्मा गांधी नेशनल फैलोशिप प्रोग्राम के लान्च के लिए इण्डियन इन्सटीट्यूट आफ मैनेजमेन्ट (आईआईएम) बैंगलोर के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं।
संकल्प ( Under Skills Acquisition and Knowledge Awareness for Livelihood Promotion)के तहत डिज़़ाइन किया गया यह फैलोशिप प्रोग्राम राष्ट्रीय, राज्य एवं ज़िला स्तर पर विभिन्न कार्यक्रमों के संचालन एवं कार्यान्वयन में कर्मचारियों की अनुपलब्धता की समस्या को हल करने में मदद करेगा।
इस प्रोग्राम के लिए योग्य फैलोज़ की उम्र 21-30 वर्ष के बीच होनी चाहिए, उनके पास किसी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए और साथ ही उनके लिए भारत का नागरिक होना भी ज़रूरी है। इसके अलावा फील्डवर्क में आधिकारिक भाषा की दक्षता भी अनिवार्य है।
प्रशिक्षण के दौरान फैलोज़ को राज्य कौशल विकास मिशन के तहत काम करने का मौका मिलेगा, वे ज़िला स्तर पर मौजूद खामियों और चुनौतियों को दूर करने में योगदान दे सकेंगे। इससे कौशल प्रोग्रामों में स्थानीय नियोजन, सामुदायिक इन्टरैक्शन और परिणाम प्रबंधन को प्रोत्साहन मिलेगा। फेलोज़ को पहले साल में रु 50,000 का भत्ता तथा दूसरे साल में रु 60,000 का भत्ता दिया जाएगा। पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद उन्हें आईआईएम बैंगलोर की ओर से पब्लिक पालिसी एण्ड मैनेजमेन्ट में प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा।,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *