रविवार 239 नये कोरोना केस,150 हरिद्वार,58 दून से, प्रदेश में हुए 4515

4515 हुई संक्रमितों की संख्या
उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 239 नए मामले सामने आए हैं जिनमें सबसे अधिक 150 मामले हरिद्वार से हैं। …देहरादून, उत्तराखंड में कोरोना के रिकॉर्ड नए मामले सामने आए हैं। प्रदेशभर में 239 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। तकरीबन चार माह के अंतराल में एक दिन में पहली मर्तबा इतने लोग संक्रमित पाए गए हैं। इससे पहले 29 मई को राज्य में 216 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। हरिद्वार में सर्वाधिक 150 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके अलावा 58 देहरादून, 13 ऊधमसिंह नगर, सात नैनीताल, पांच उत्तरकाशी, चार पौड़ी गढ़वाल, एक-एक मामले चमोली और पौड़ी में सामने आए हैं। वहीं, 35 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। रिकवरी दर भी 69 फीसद पर पहुंच गई है, जबकि जुलाई शुरुआत में ये अस्सी फीसद से ऊपर पहुंच गई थी।
स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को 2505 लोगों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है,जबकि 239 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। 2573 लोगों के सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजे गए हैं। प्रदेश में अब संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 4515 हो गया है, जिनमें से 3116 लोग पूरी तरह से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। वर्तमान राज्य में 1311 मामले एक्टिव हैं,जबकि 52 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 36 मरीज राज्य से बाहर चले गए । बता दें कि अबतक 104118 लोगों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है। वहीं, 8104 सैंपलों की रिपोर्ट का इंतजार है।

मोदी ने ली कोरोना संक्रमित सैनिकों की जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से फोन पर बात कर राज्य में कोरोना पाजिटिव पाए गए सैनिकों के बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री ने कोरोना संक्रमित हुए सैनिकों के स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए कहा कि राज्य सरकार और सेना के अधिकारी आपसी समन्वय बनाए रखते हुए इनके समुचित इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि सेना से लगातार संपर्क किया गया है और हर आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। मुख्यमंत्री ने राज्य में कोविड-19 की पूरी स्थिति की जानकारी देते हुए कहा कि पिछले दिनों कोरोना पाजिटिव मामलों में वृद्धि हुई है, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। राज्य में सर्विलांस और सैंपलिंग में काफी बढोतरी की गई है। आइसीयू, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सपोर्ट की सुविधाएं भी लगातार बढाई जा रही हैं।

एम्स में 14 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

वहीं, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स संस्थान में पिछले 24 घंटे में 14 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें एम्स में कार्यरत एक सिक्योरिटी सुपरवाइजर और नर्स भी शामिल हैं। फिलहाल, इस इसको लेकर स्टेट सर्विलांस ऑ​फिसर को सूचित कर दिया गया है।

एयरपोर्ट में दो लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि

जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर रविवार को बाहर से आने वाले दो यात्री एयरपोर्ट में जांच करने पर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिन्हें एम्स ऋषिकेश भर्ती कराया गया है। वहीं, 16 जुलाई को एयरपोर्ट पर आने वाले देहरादून के तीन सेना के जवान भी जांच के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। डोईवाला हॉस्पिटल अधीक्षक डॉक्टर केएस भंडारी ने बताया कि इसमें से एक फौजी दुधली और दो फौजी देहरादून के थे। रिपोर्ट आने के बाद दुधली निवासी फौजी को दून हॉस्पिटल भर्ती करा दिया गया, जबकि परिवार के सदस्यों को होम क्वारंटाइन किया गया है। जिस होटल में यह फौजी ठहरे थे उस होटल को एहतियात के तौर पर सील कर दिया गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बरसात को देखते हुए राज्य में आपदा प्रबंधन पर भी विशेष ध्यान देने की बात कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से आवश्यकतानुसार हर सहयोग दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 और आपदा प्रबंधन की निरंतर समीक्षा की जा रही है।

देहरादून में रविवार को आए कोरोना के 48 और नए मामले

रविवार को देहरादून में 48 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसमें सेना के दस जवान कोरोना पाजीटिव निकले। कुछ दिन पहले संक्रमित मिले मच्छी बाजार के कपड़ा व्यापारी की पत्नी व बेटा भी संक्रमित निकले। सेलाकुई स्थित फैक्ट्री के छह कर्मचारियों में भी कोरोना की पुष्टि है। वहीं सात मरीज संदिग्ध के तौर पर पहले ही दून अस्पताल में भर्ती है। शहर के गांधीग्राम,पीडब्ल्यूडी कालोनी, माजरा, वाणी विहार, जीएमएस रोड,जाखन,तपोवन कालोनी आदि से भी मामले आए।

उत्‍तराखंड में कोरोना संक्रमित 52 लोगों की अब तक हो चुकी है मौत

उत्तराखंड में कोरोना का दिनोंदिन बढ़ता ग्राफ डराने लगा है। एक तरफ जहां रिकवरी रेट लगातार गिर रहा है, एक्टिव केस भी फिर एक हजार से ऊपर पहुंच गए हैं। जबकि 15 दिन पहले ही भर्ती मरीजों की संख्या पांच सौ से नीचे आ गई थी। शनिवार को भी प्रदेश में कोरोना के 174 नए मामले आए। पिछले कुछ दिनों में जिस तेज रफ्तार से मामले बढ़े हैं, उनसे न केवल आमजन बल्कि सरकार की भी चिंता बढ़ा दी है।

प्रदेश में अब तक कोरोना के 4276 मामले आ चुके हैं। जिनमें 3081 स्वस्थ हो गए हैं। वर्तमान में 1108 एक्टिव केस हैं, जबकि 35 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं। कोरोना संक्रमित 52 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। इनमें रुड़की निवासी कैंसर पीड़ित 52 वर्षीय व्यक्ति की शनिवार को एम्स ऋषिकेश में मौत हुई है। मृतक में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार,शनिवार को 3236 सैंपल की रिपोर्ट मिली,जिनमें 3062 की रिपोर्ट निगेटिव व 174 मामले पॉजिटिव हैं। इनमें सर्वाधिक 50 मामले देहरादून जिले से हैं। जिनमें सेना के 17 जवान व एक स्वास्थ्य कर्मी भी शामिल हैं। ऊधमसिंह नगर में भी 45 मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है। जिनमें छह स्वास्थ्य कर्मी व 12 पूर्व में संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के संपर्क में आए लोग हैं। 27 की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं चल पाई है।

नैनीताल में 36 नए केस मिले हैं जिनमें दो कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए लोग,दो गर्भवती और दो फ्लू ओपीडी में पहुंचे लोग हैं। गाजियाबाद से लौटे एक व्यक्ति में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। 29 अन्य लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लगी है। हरिद्वार में भी 27 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। पिथौरागढ़,उत्तरकाशी व टिहरी में तीन-तीन नए मामले हैं। अल्मोड़ा में सात लोग संक्रमित मिले हैं। इनमें एक स्वास्थ्य कर्मी और दो लोग दिल्ली व एक आगरा से लौटा जन भी शामिल है।

60 मरीज हुए स्वस्थ

शनिवार को 60 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। इनमें 38 ऊधमसिंह नगर,16 देहरादून,दो बागेश्वर,दो चंपावत,एक रुद्रप्रयाग व एक टिहरी से है।

एसजीआरआर की शिक्षिका के संक्रमित होने से हड़कंप

श्री गुरु रामराय पीजी कॉलेज की शिक्षिका के कोरोना संक्रमित पाए जाने से कॉलेज प्रशासन में हड़कंप मच गया है। चिंता की बड़ी वजह यह है कि शिक्षिका दो दिन पहले हरेला पर्व पर कॉलेज की ओर से आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम में भी शामिल हुई थीं। शनिवार को अचानक तबीयत खराब होने पर उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद शिक्षिका को दून अस्पताल भेजा गया।
एसजीआरआर कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर वीए बौड़ाई ने शिक्षिका के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी डीएम डॉक्टर आशीष श्रीवास्तव को पत्र भेजकर दी। साथ ही उच्च शिक्षा निदेशक हल्द्वानी को भी इस बारे में सूचित किया। प्रोफेसर बौड़ाई ने बताया कि जिला प्रशासन रविवार को जानकारी देगा कि शिक्षिका के सीधे संपर्क में आए कितने स्टाफ व अन्य लोगों को क्वारंटाइन होना होगा। कोरोना संक्रमित शिक्षिका कॉलेज परिसर से बाहर रहती हैं,इसलिए कॉलेज को सील करने की आवश्यकता नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *