7 लाख रुपए नकली नोट , अंतरराष्ट्रीय गिरोह का भंडाफोड़

पुलिस को सूचना मिली थी कि नकली नोट का एक बड़ा खेप बंगाल से दिल्ली लाया जा रहा है, सूचना मिलने पर पुलिस ने घात लगाकर आरोपी को नकली नोटों के साथ गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार किये गये आरोपी ने बताया कि नकली नोटों की तस्करी बंगलादेश से भारत की जाती है और तस्करी के लिये भारत बंगलादेश बॉडर का इस्तेमाल किया जाता है.
नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नकली नोटों के तस्करी करने वाले अंतराष्ट्रीय गिरोह का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने मौके से एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किये गये शख्स का नाम अमर मंडल बताया जा रहा है जो कि पश्चिम बंगाल के मालदा का रहने वाला है. आरोपी के पास से 7 लाख के नकली नोट बरामद किये हैं, ये सभी नोट 500 और 2000 के मुद्रा मे थे.
पुलिस को सूचना मिली थी कि नकली नोट का एक बड़ा खेप बंगाल से दिल्ली लाया जा रहा है, सूचना मिलने पर पुलिस ने घात लगाकर आरोपी को नकली नोटों के साथ गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार किये गये आरोपी ने बताया कि नकली नोटों की तस्करी बंगलादेश से भारत की जाती है और तस्करी के लिये भारत बंगलादेश बॉडर का इस्तेमाल किया जाता है. ये नोट बंगाल, बिहार और दिल्ली मे असली नोटों के साथ मिला कर चलाया जाता रहा. इन नकली नोटों को असली से अलग पहचान करना मुश्किल हो जाता है. फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.
यूक्रेन में कार्ड क्लोन कर भारत में आ पैसे निकालते पकड़े गए
पश्चिमी दिल्ली इलाके में पुलिस ने दो विदेशी नागरिक को गिरफ्तार किया है. ये विदेश में कार्ड क्लोन कर दिल्ली आकर दिल्ली के अलग-अलग एटीम से कैश निकाल वापस यूक्रेन चले जाते थे. पकड़े गए आरोपियों के नाम मैखाइलो और मैकसिम है. आरोपियों के पास से 150 से ज्यादा क्लोन एटीम कार्ड और 4 लाख रुपये बरामद हुए हैं. बीट स्टाफ की सतर्कता से इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है. . आरोपियों के पास से 150 से ज्यादा क्लोन एटीम कार्ड और 4 लाख रुपये बरामद हुए हैं. बीट स्टाफ की सतर्कता से इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है.
बीट स्टाफ दिल्ली पुलिस की आई एंड इयर प्रोग्राम के तहत इन दोनों जालसाजों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक बीट स्टाफ ने देखा कि रजौरी गार्डन के नजदीक एक एटीम में एक विदेशी नागरिक को पैसे निकालने में काफी वक्त लग रहा था. उसे शक हुआ कही कुछ गड़बड़ है कि क्यों विदेशी नागरिक एटीम में इतनी देर में क्या कर रहा है. इसी बात को लेकर बीट स्टाफ ने वहां मौजूद रेहड़ी पटरी और ऑटो वालों और आस पास के दुकानदारों को अलर्ट किया कि अगर ये शख्स दोबारा दिखे तो तुरंत पुलिस को इतला करे.
दिल्ली पुलिस की आई एंड ईयर स्कीम काम आई. पास के दुकानदारों ने पुलिस को सूचना दी एक बार फिर दो विदेशी नागरिक एटीम मे पैसे निकालने आए हैं. फिर क्या था, पुलिस ने दोनों आरोपियों को एटीम में ही दबोचा सख्ती से पुछताछ की. पुछताछ के दौरान दोनों विदेशी नागरिक की तलाशी ली गई तो इनके पास से भारी मात्रा में क्लोन किए गए कार्ड और कैश बरामद हुआ.
पूछताछ में उन्होंने बताया कि यह लोग पिछले 8 महीने में 4 बार इंडिया आ चुके हैं और लाखों रुपए निकाल कर ले जा चुके हैं.
यह दोनों कार्ड की क्लोनिंग यूक्रेन में ही यूक्रेन के ही लोगों को करते थे. और वहां की पुलिस की नजर में ना आ सके इसलिए वहां से फ्लाइट पकड़कर इंडिया आते थे और यहां से एटीएम से कैश निकाल कर बाद में फिर वापस यूक्रेन चले जाते थे. इससे वहां की पुलिस को लगे कि कोई इंडियन कार्ड क्लोनिंग करके चीटिंग कर रहा है. अब दिल्ली पुलिस ने यूक्रेन दूतावास में जानकारी दे दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *