अभी भी ‘हिंदुत्व’ विचारधारा के साथ हूं और रहूंगा:उद्धव ठाकरे

उद्धव ठाकरे ने कहा- मैं अभी भी ‘हिंदुत्व’ की विचारधारा के साथ हूं और रहूंगा
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं अभी भी हिंदुत्व की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा।
मुंबई, । महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आज विधानसभा में अपनी विचारधारा को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मैं अभी भी हिंदुत्व की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा। बता दें कि महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी के साथ शिवसेना के सरकार बनाने पर विचारधारा को लेकर सवाल उठ रहे थे। लोगों का कहना है कि महाराष्ट्र में विपरीत विचारधारा की सरकार है।
इस पर सफाई देते हुए सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं भाग्यशाली मुख्यमंत्री हूं क्योंकि जिन्होंने मेरा विरोध किया वे अब मेरे साथ हैं और जो मेरे साथ थे, वे अब विपक्ष में हैं। मैं यहां अपनी किस्मत और लोगों के आशीर्वाद की वजह से हूं। मैंने कभी किसी को नहीं बताया कि मैं यहां आऊंगा लेकिन मैं आ गया। मैंने देवेंद्र फडणवीस से बहुत सी चीजें सीखी हैं और मैं हमेशा उनका दोस्त रहूंगा।
उन्होंने कहा कि मैं अभी भी ‘हिंदुत्व’ की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा। पिछले 5 वर्षों में, मैंने कभी भी सरकार के साथ विश्वासघात नहीं किया। उन्होंने देवेंद्र फडणवीस से कहा कि मैं आपको ‘विपक्ष का नेता’ नहीं बल्कि ‘जिम्मेदार नेता’ कहूंगा। अगर आप हमारे लिए अच्छे होते तो यह सब नहीं होता।
फडणवीस को दिया गया विपक्ष के नेता का दर्जा
महाराष्ट्र भाजपा विधायक दल के नेता देवेंद्र फडणवीस को रविवार को विधानसभा में नेता विपक्ष बनाया गया।विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने सदन में इस आशय की घोषणा की। पटोले ने कहा कि विधानसभा में भाजपा को विपक्षी पार्टी का दर्जा दिया गया है और फडणवीस विपक्ष के नए नेता होंगे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और कुछ मंत्रियों ने फडणवीस को बधाई दी। फडणवीस राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हैं।
संजय राउत ने फडणवीस पर साधा निशाना
शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सत्ता हासिल करने में जल्दबाजी और बचकानी टिप्पणियां महाराष्ट्र में भाजपा को ले डूबी और फडणवीस को विपक्ष में बैठना पड़ गया। राउत ने शिवसेना के मुखपत्र सामना में अपने रोखठोक स्तंभ में दावा किया कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, राकांपा सुप्रीमो शरद पवार और कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के साथ आने से महाराष्ट्र में जो हुआ वह देश को भी स्वीकार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *