कांग्रेस विधायक अदिति सिंह को सरकार ने दी Y+ श्रेणी सुरक्षा

यूपी विधानमंडल का विशेष सत्र : शिवपाल सिंह यादव ने कहा- CM सीएम योगी आदित्यनाथ मेहनती तथा ईमानदारशासन के निर्देश पर गुरुवार सुबह से ही अदिति सिंह की सुरक्षा में गाड़ी के साथ एक एस्कॉर्ट और दो अतरिक्त गनर तैनात किया गया है।
लखनऊ, । उत्तर प्रदेश सरकार ने रायबरेली से कांग्रेस की इकलौती विधायक अदिति सिंह की सुरक्षा में बढ़ोतरी की है। उत्तर प्रदेश विधानमंडल के विशेष सत्र में कांग्रेस के बहिष्कार के बाद भी शामिल होने वाली विधायक अदिति सिंह को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है।
शासन के निर्देश पर गुरुवार सुबह से ही अदिति सिंह की सुरक्षा में गाड़ी के साथ एक एस्कॉर्ट और दो अतरिक्त गनर तैनात किया गया है। अब उनके हर जगह पर आवागमन के दौरान उनके साथ सुरक्षा स्कोर्ट भी चलेगा। माना जा रहा है कि अदिति सिंह को कांग्रेस के बहिष्कार के बाद भी विशेष सदन सदन में भाग लेने और सत्ता की तरफ से विपक्ष वाला असली साथ देने का ईनाम मिला है। पार्टी से लाइन से अलग हटकर विशेष विधानसभा सत्र में भाग लेने पहुंचीं कांग्रेस विधायक अदिति सिंह को योगी आदित्यनाथ सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है।
कांग्रेस की तरफ से विधानसभा कार्यवाही में पहुंचीं अदिति सिंह ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि प्रदेश में पानी और गरीबी की कई समस्याएं हैं। सफाई और पानी जैसी समस्याओं पर मैंने हमेशा काम किया। प्रदेश के कई जनपदों में आर्सेनिक पानी की समस्या है, जिसके लिए मैं चाहती हूं टंकी लगनी चाहिए।
रेन वाटर हार्वेस्टिंग समेत पानी के लिए बड़े पैमाने पर काम होना चाहिए। सौर ऊर्जा और वैकल्पिक ऊर्जा के विभिन्न स्रोतों पर काम होना चाहिए। कांग्रेस की पदयात्रा में शामिल न होकर विशेष सत्र में आने पर अदिति ने कहा कि चाहे वह धारा 370 रही हो या अन्य कोई बात, उन्होंने सरकार का समर्थन किया है।
उन्होंने मैं एक पढ़ी लिखी विधायक हूं, जो चीज मुझे सही लगी उस पर मैंने अपनी बात रखी है। बीते दिनों रायबरेली में जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ प्रस्ताव पेश होने को लेकर रायबरेली टोल प्लाजा पर अदिति सिंह पर हमला हुआ था।

बसपा के दो विधायक व एक एमएलसी भी पहुंचे विधान भवन, कार्यवाही में शामिल

बसपा के विधायक अनिल सिंह तथा असलम रायनी ने कहा कि बसपा अपने उद्देश्यों से भटक गई है। विधानमंडल के विशेष सत्र में किसी दल की बात नहीं हो रही थी।
महात्मा गांधी की जयंती पर विधानमंडल के विशेष सत्र से पार्टी के किनारा कर लेने के बाद भी पहुंचे बहुजन समाज पार्टी के दो विधायकों तथा एक विधान परिषद सदस्य ने कार्यवाही में भाग लिया। सदन में शिकरत करने के बाद विधायक असलम रायनी व अनिल सिंह तथा विधान परिषद ब्रजेश सिंह ‘प्रिंसू’ ने सदन में खुलकर अपनी पार्टी की नीति का विरोध किया। विधानमंडल की कार्यवाही के बाद बाहर आने पर पार्टी लाइन की बात को छोटी चीज बताया।
बसपा के विधायक अनिल सिंह तथा असलम रायनी ने कहा कि बसपा अपने उद्देश्यों से भटक गई है। विधानमंडल के विशेष सत्र में किसी दल की बात नहीं हो रही थी। महात्मा गांधी की जयंती पर इस सत्र का विरोध हमसे नहीं हो सका। श्रावस्ती से विधायक असलम रायनी ने सदन में बसपा का खुलकर विरोध किया। उन्होंने कहा कि मुझ जैसे विधायकों की पार्टी में कोई वैल्यू नहीं है। पार्टी में जोनल इंचार्ज की सुनी जाती है। बसपा अपने उद्देश्यों से भटक गयी है।
उन्नाव की पुरवा सीट से बसपा विधायक अनिल ने पार्टी से बगावत करते हुए कहा जिस तरह पुत्र को पिता की जरुरत होती है, वैसे ही भारत को नरेंद्र मोदी तथा योगी आदित्यनाथ की जरुरत है। पिछली सरकारों में राजनीति भोग और पैसा कमाने का जरिया था। बसपा के बागी विधायक अनिल सिंह ने विशेष सत्र की कार्यवाही में न केवल बढ़चढ कर हिस्सा लिया वरन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर सराहना की। उन्होंने अपने क्षेत्र में किए विकास कायरे की जानकारी दी और पूर्ववर्ती सरकारों को जन विरोधी करार दिया।
उन्होंने अपने गरीबी वाले दिनों का जिक्र किया और पीएम को गरीबों का सच्चा हमदर्द बताया। उन्होंने कहा कि उनका संकल्प था, यदि पीएम मोदी न जीतते तो वह भी विधायक पद से इस्तीफा दे देते। सदन में उस समय ठहाका गूंजा जब अनिल सिंह को अधिष्ठाता सुरेश श्रीवास्तव ने समय पूरा होने का हवाला देकर बैठने को कहा। इस पर अनिल का कहना था पहली बार सदन में भड़ास निकालने का मौका मिला है तो वह अपनी पूरी बात कहकर ही मानेंगे।
जौनपुर से बसपा एमएलसी ब्रजेश सिंह ‘प्रिंसू’ ने भी पार्टी की सख्ती के बाद भी सदन की कार्यवाही में हिस्सा लिया। एमएलसी प्रिंसू ने कहा कि गांधी जी के नाम पर सत्र ऐतिहासिक काम है। वाकआउट के लिए पार्टी के कोई स्पष्ट निर्देश नहीं है।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव पहुंचे विधानसभा की कार्यवाही में

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर आयोजित विधानसभा के विशेष सत्र में गुरुवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव पहुंचे। शिवपाल सिंह यादव विधानभवन में विधानसभा की कार्यवाही में शामिल हुए।
उत्तर प्रदेश विधानमंडल के विशेष सत्र में शिवपाल सिंह यादव ने प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया। कई जगहों पर मुकदमा नही लिखा जा रहा है। शिवपाल ने कहा कि कल मैं बदायूं के दौरे पर था। जहां पर एक घंटे में 15 बार बिजली गई। आज भी यह एक बड़ी समयस्या है। इस पर ध्यान देना चाइए। बिजली की स्थिति सही नही है। उन्होंने इन्वेस्टर्स समिट के बारे में कहा कि जितने निवेश की बात हुई है उतना निवेश नही आया है।
शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि ऐसा नहीं की कुछ अच्छा काम नहीं हुआ है। महिलाओं को गैस सिलिंडर दिया गया यह एक अच्छी योजना है। मेरा सुझाव है कि गैस सिलेंडर के लिए गरीबों को सब्सिडी दी जाए। उन्होंने कहा कि पीएम आवास योजना में उत्तर प्रदेश ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, यह अच्छी बात है। इसके बाद भी अभी काफी लोगों को आवास की जरूरत है। सरकार उस पर ध्यान दे। इस प्रदेश का नेतृत्व एक ईमानदार मुख्यमंत्री के हाथ में है। उनके काम करने का तरीका हमको पसंद है। मुख्यमंत्री मेहनती है , पर प्रदेश की पुलिस को अभी कसने की जरूरत है।
शिवपाल सिंह यादव बतौर विधायक सदन की कार्यवाही में शामिल हुए हैं। शिवपाल सिंह यादव इटावा के जसवंतनगर से समाजवादी पार्टी से विधायक हैं। वह सपा विधायक के रूप में कार्यवाही में शामिल हैं। इस विदेश सदन की कार्यवाही से प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी समाजवादी पार्टी ने किनारा किया है। ऐसे में समाजवादी पार्टी के विधायक के रूप में शिवपाल सिंह यादव तथा नितिन अग्रवाल ने शामिल होकर यहां दलगत राजनीति से ऊपर उठकर काम किया है।
शिवपाल सिंह यादव पार्टी लाइन से विपरीत विधानसभा में बैठे। समाजवादी पार्टी ने पखवारा भर पहले ही शिवपाल सिंह यादव की सदस्यता रद करने को पत्र दिया था। इसके बाद पार्टी ने नोटिस देकर वापस लेने की चर्चा चरम पर थी। फिलहाल समाजवादी पार्टी ने शिवपाल सिंह यादव के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं की है। हरदोई से सपा विधायक नितिन अग्रवाल ने चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि विपक्षी नेता तब सदन छोड़ कर भाग जाते हैं जब जनता के हितों की बात होती है। 2017 और 2019 में जनता उन्हें सबक सिखा चुकी है। आगे भी सिखाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *