मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना :प्री-प्राइमरी स्कूल में परिवर्तित होंगे आंगनबाड़ी केंद्र: योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना : योगी आदित्यनाथ बोले-प्री-प्राइमरी स्कूल के रूप में परिवर्तित होंगे आंगनबाड़ी केंद्र,मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर कहा कि धनतेरस पर बेटियां लक्ष्मी के रूप में मिली हैं।
लखनऊ, । उत्तर प्रदेश में धनतेरस के पर्व पर राज्यपाल आनंदीबेन के साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत की। लोकभवन में शुक्रवार को इस योजना की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि धनतेरस पर बेटियां लक्ष्मी के रूप में होती है। केंद्र व हमारी सरकार का प्रयास भी बेटियों के बेहतर रहन-सहन, पठन-पाठन तथा स्वास्थ्य पर ध्यान देने का है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर कहा कि धनतेरस पर बेटियां लक्ष्मी के रूप में मिली हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा आंगनवाड़ी केंद्र प्री प्राइमरी स्कूल में परिवर्तित किये जायेंगे। अगले सत्र से इस पर काम शुरू हो जाएगा। इसके अलावा बेसिक स्कूलों में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 92000 विद्यालयों में बेहतर सुविधाएं देने का प्रयास राज्य सरकार कर रही है। मुख्यमंत्री ने कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि इस योजना से महिला सशक्तिकरण को बल मिलेगा। लोग बेटियों के जन्म को उत्सव के रूप में मनाएंगे।
इस मौके पर केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने कहा कि प्रदेश सरकार की योजना आंदोलन से कम नहीं है। बेटियों के लिए यह योजना वरदान साबित होगी। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने कहा कि देश तथा प्रदेश में कन्या सुमंगला योजना शुरू हो रही है। सरकार महिलाओं के लिए काम कर रही है। इसी के साथ ही प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से सात लाख महिलाओं को मुआवजा दिया गया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि धनतेरस का त्योहार आज उत्तर प्रदेश अनोखे ढंग से मना रहा है। यहां कन्या सुमंगला योजना के रूप में बेटियों को सम्मान मिल रहा है। केन्द्र और राज्य सरकार में बेहतर समन्वय से अच्छे कार्य हो रहे है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना से अब प्रदेश व देश में कन्या के जन्म पर भी उत्सव मनेगा। कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि महिलाओं के साथ भेदभाव व हिंसा समाप्त करने के लिए समाज में जागरूकता लाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दृढ़ इच्छा शक्ति से हर लक्ष्य आसान हो जाता है।
उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में ‘कन्या सुमंगला योजना’ शुक्रवार से शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ राज्यपाल आनंदीबेन व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने लखनऊ में इसका विधिवत शुभारंभ किया। इसके साथ ही जिलों में प्रभारी मंत्री की मौजूदगी में योजना का आगाज किया गया।
महिला कल्याण विभाग की ओर से लोकभवन में होने वाले समारोह में मुख्यमंत्री ने योजना के लिए तैयार पोर्टल को भी लॉन्च किया। इसके साथ ही लाभार्थियों के खाते में ऑनलाइन प्रोत्साहन राशि भी भेजी गई और मुख्यमंत्री लाभार्थियों को पंजीकरण प्रमाण पत्र भी सौंपा। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना कन्या भ्रूण हत्या जैसी कुप्रथा को समाप्त करने और परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की जा रही है। इस योजना में सरकार लाभार्थियों को बेटी के जन्म लेने से लेकर उसके स्नातक पास होने तक सरकार प्रोत्साहन स्वरूप छह चरणों में कुल 15 हजार रुपये देगी। जिलों में होने वाले कार्यक्रमों में प्रभारी मंत्री के अलावा सांसद, विधायक,महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष और नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के अध्यक्षों समेत अन्य जनप्रतिनिधियों को भी बुलाया गया। योजना के ऑनलाइन पोर्टल पर अब तक 2.82 लाख आवेदकों ने पंजीकरण हो चुका है और 1.45 लाख आवेदकों का ऑनलाइन फॉर्म फीड हो चुका है।
लोकभवन में आयोजित कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, मंत्री सुरेश खन्ना, महिला आयोग अध्यक्ष विमला बाथम, राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह, कार्यवाहक मुख्य सचिव और यूनीसेफ की राज्य प्रतिनिधि यास्मीन अली हक कार्यक्रम मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *