अंगद-मैराज ने सोना-चांदी जीत हासिल किया ओलंपिक कोटा

अंगद वीर सिंह बाजवा, मैराज अहमद और एश्वर्य तोमर ने एशियन शूटिंग चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए टोक्यो ओलंपिक का टिकट हासिल कर लिया है.
दोहा (कतर): एश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, अंगद वीर सिंह बाजवा और मैराज अहमद ने 14वें एशियन चैंपियनशिप (Asian Shooting Championships) में शानदार प्रदर्शन करते हुए टोक्यो ओलंपिक का टिकट हासिल कर लिया है. इसके साथ ही टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए निशानेबाजी में भारत के अब 15 कोटा हो गए हैं. रियो में भारत के 12 निशानेबाजों ने हिस्सा लिया था. इस लिहाज से भारत उस संख्या को पार कर चुका है. रियो ओलंपिक में शूटिंग में भारत को एक भी पदक नहीं मिला था. यहां लुसैन निशानेबाजी परिसर में स्कीट स्पर्धा के फाइनल में दोनों भारतीय खिलाड़ी 56 अंक के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर थे जिसके बाद विजेता का फैसला शूटआफ से हुआ। अंगद ने शूटआफ में मेराज को 6-5 से पछाड़ा। इससे पहले किशोर निशानेबाज तोमर ने पुरुषों की 50 मीटर थ्री पोजीशन में कांस्य पदक जीतकर भारत को निशानेबाजी में 13वां ओलंपिक कोटा दिलाया था।
तोमर ने आठ पुरुषों के फाइनल में 449.1 अंक बनाकर तीसरा स्थान हासिल किया। कोरिया के किम जोंगयुन (459.9) ने स्वर्ण ओर चीन के झोंगहाओ झाओ (459.1) ने रजत पदक जीता। इस 18 वर्षीय भारतीय निशानेबाज ने 120 शॉट के क्वालीफाईंग में 1168 अंक बनाकर फाइनल्स में जगह सुरक्षित की थी। इस स्पर्धा में तीन कोटा स्थान दांव पर लगे थे।
युवा निशानेबाज एश्वर्य प्रताप सिंह तोमर (Aishwary Pratap Singh Tomar) ने रविवार को भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक का 13वां कोटा दिलाया. 18 वर्षीय एश्वर्य ने एशियन चैंपियनशिप में पुरुष की 50 मीटर 3 पोजिशन राइफल स्पर्धा में 449.1 के स्कोर के साथ कांस्य पदक जीता. इसके साथ ही उन्होंने अगले साल होने वाले ओलंपिक के लिए क्वालिफाई भी कर लिया.
अंगद वीर सिंह बाजवा (Angad Vir Singh Bajwa) और मैराज अहमद (Mairaj Ahmad) ने भी रविवार को ही इसी चैंपियनशिप में शॉट गन स्पर्धा में क्रमश: गोल्ड और सिल्वर मेडल जीते. शॉट गन स्पर्धा में अभी तक अंगद और मैराज ही ओलंपिक कोटा पाने में सफल रहे हैं. केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने अंगद और मैराज को उनकी इस उपलब्धि पर बधाई दी है. इससे पहले इसी चैंपियनशिप में तेजस्विनी सावंत ने 12वां कोटा दिलाया था. भारत के निशानेबाजों ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, अंगद वीर सिंह बाजवा और मैराज अहमद खान ने 14वीं एशियाई निशानेबाजी प्रतियोगिता के छठे और अंतिम दिन रविवार को जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए देश को तीन ओलंपिक कोटा दिला दिए, जिससे भारत के टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए निशानेबाजी में ओलंपिक कोटा की संख्या 15 पहुंच गई है। भारत ने इसके साथ ही रियो ओलंपिक 2016 में निशानेबाजी में हासिल 12 कोटा के अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया।
लुसैल शूटिंग काम्प्लेक्स में प्रतियोगिता के अंतिम दिन पहले मध्य प्रदेश के खरगोन के 18 साल के प्रतिभाशाली निशानेबाज ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर ने पुरुषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने के साथ 13वां ओलंपिक कोटा हासिल किया।
इसके बाद अंगद वीर सिंह बाजवा और मैराज अहमद खान ने पुरुष स्कीट स्पर्धा में ऐतिहासिक स्वर्ण और रजत पदक हासिल करते हुए देश को 14वां और 15वां ओलंपिक कोटा दिला दिया। भारत को इस तरह पहली बार स्कीट स्पर्धा में एशियाई चैंपियन मिल गया। यह भी पहली बार होगा कि भारत इस स्पर्धा में दो निशानेबाजों को ओलंपिक में भेजेगा।
संयुक्त विश्व रिकॉर्डधारी 23 साल के अंगद और 44 साल के मैराज ने पुरुष स्कीट स्पर्धा में स्वर्ण और रजत पदक जीतकर भारत को दोहरी ख़ुशी दी। दोनों ने 154 शॉट में 142 का स्कोर किया और 60 शॉट के फाइनल में भी दोनों का स्कोर 54 रहा जिसके बाद शूट ऑफ का सहारा लिया गया जिसमें अंगद ने 6-5 से बाजी मार ली।
कुवैत के हबीब सऊद ने कांस्य पदक तीसरा उपलब्ध कोटा हासिल किया। मैराज और अंगद ने क्वालिफिकेशन में में भी 125 में से 120 का स्कोर किया था। मैराज ने पिछले ओलंपिक में भी कोटा हासिल किया था। इससे पहले मध्य प्रदेश के खरगोन के 18 साल के प्रतिभाशाली निशानेबाज ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर ने पुरुषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने के साथ भारत को 13वां ओलंपिक कोटा दिलाया। भारत ने इस स्पर्धा में उपलब्ध तीन कोटा में से एक हासिल कर लिया। इस 18 वर्षीय युवा निशानेबाज ने अपने शानदार प्रदर्शन से देश का नाम रौशन कर दिया।
ऐश्वर्य की सीनियर स्तर पर यह पहली बड़ी प्रतियोगिता थी। वह इससे पहले जूनियर विश्व कप में स्वर्ण पदक जीत चुके हैं जिसमें उन्होंने जूनियर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। वह एशिया में जूनियर स्तर पर भी जीत चुके हैं जहां उन्होंने संजीव राजपूत जैसे अनुभवी निशानेबाज को हराया था।
ऐश्वर्य ने 120 शॉट के वॉलीफिकेशन में 1168 का स्कोर किया और आठ निशानेबाजों में रहते हुए 45 शॉट के फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। उन्होंने 4491 के स्कोर के साथ कांस्य पदक जीता। व्यक्तिगत कांस्य के साथ ऐश्वर्य ने चैन सिंह (1155) और पारुल कुमार (1154) के साथ टीम स्पर्धा का भी कांस्य पदक जीता। भारत ने इस प्रतियोगिता से छह ओलंपिक कोटा हासिल किये। भारत ने इसके अलावा 10 मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम स्पर्धा में स्वर्ण और रजत पदक हासिल किया।
मनु भाकर और अभिषेक वर्मा ने यशस्विनी सिंह देसवाल और सौरभ चौधरी को 16-10 से हराकर स्वर्ण पदक जीत लिया। ईशा सिंह और सरबजोत सिंह की जूनियर एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम जोड़ी ने भी कोरिया की जोड़ी को 16-10 से हराकर स्वर्ण जीता। पुरुष स्कीट में अंगद, मैराज और स्मित सिंह ने टीम रजत जीता। महिला स्कीट स्पर्धा में दर्शना राठौर, गनेमत शेखों और सानिया शेख ने कुल 339 के स्कोर के साथ कांस्य पदक जीता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *