कैबिनेट मंत्री का आवास भी क्वारंटाइन,रात तक कोरोना केस हुए 471

कोरोना:कैबिनेट मंत्री के घर के बाहर लगा क्वारंटाइन का नोटिस

पयर्टन मंत्री सतपाल महाराज के आवास को क्वारंटाइन कर दिया गया है। उनके सर्कुलर रोड स्थित आवासीय परिसर के बाहर प्रशासन ने होम क्वारंटाइन का नोटिस चस्पा किया है।
इसमें आवासीय परिसर को 20 मई से 3 जून तक क्वारंटाइन करने का जिक्र किया गया है। सर्कुलर रोड स्थित सतपाल महाराज के निजी आवास पर चस्पा नोटिस में साफ तौर पर लिखा गया है कि ‘इस आवासीय परिसर को सुरक्षा की दृष्टि से 20 मई 2020 से 03 जून 2020 तक होम क्वारंटाइन किया गया है।
कृपया इस अवधि में इस घर के सदस्य घर पर ही रहें तथा बाहरी व्यक्तियों से न मिलें।’ नोटिस पर देहरादून जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्साधिकारी के पदनाम लिखे गए हैं। मंत्री के दो रिश्तेदारों के चालक और गनर के साथ दिल्ली से लौटने के बाद यह कार्रवाई की गई है।
महाराज के आवास के दो तरफ से गेट खुलते हैं। जिस सर्कुलर रोड वाले गेट पर नोटिस चस्पा किया गया है, वहां से उनका स्टाफ, मेहमान और अन्य लोग प्रवेश करते हैं, जबकि महाराज और उनके परिवार की एंट्री इसी आवास पर मिन्युनिसिपल रोड वाले गेट से होती है।
अंदर आवास भी दो हिस्सों में बंटा है। सर्कुलर रोड वाली तरफ से उनके स्टाफ,सेवक और बाहरी लोगों के प्रवेश के साथ ही स्टाफ के कार्यालय,गेस्ट रूम,किचन आदि की व्यवस्था है।
जिलाधिकारी डाक्टर आशीष श्रीवास्तव का कहना है कि सर्कुलर रोड वाले हिस्से को क्वारंटाइन किया गया है,जो गेस्ट हाउस की तरह प्रयोग होता है। मंत्री सतपाल महाराज प्रतिबंधित हिस्से से अलग रहते हैं,वह हिस्सा क्वारंटाइन नहीं है।

दो रिश्तेदार दिल्ली से आए हैं, जो पूरी तरह स्वस्थ हैं। तय गाइडलाइन के अनुसार उन्हें एक सर्कुलर रोड वाले घर के गेस्ट हाउस वाले हिस्से में होम क्वारंटाइन किया गया है जबकि मुख्य घर 13 म्युनिसिपल रोड वाली एंट्री से है। वह गेस्ट हाउस वाले हिस्से से बिल्कुल अलग है। मैं और मेरा पूरा परिवार स्वस्थ हैं।
-सतपाल महाराज, सिंचाई एवं पर्यटन मंत्री

डेढ़ साल के बच्चे समेत 48 कोरोना पॉजिटिव, 471 हुई संक्रमितों की संख्या
उत्तराखंड में बुधवार को डेढ़ साल के बच्चे समेत कोरोना के 48 नए मामले सामने आए हैं,जिनमें 14 पौड़ी,11 टिहरी, सात ऊधममिंहनगर,तीन-तीन नैनीताल और पिथौरागढ़ के साथ ही एक देहरादून जिले का है। प्रदेशभर में अब कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 471 पहुंच गया है,जिसमें 383 मामले एक्टिव हैं। वहीं, स्वस्थ होने वालों वालों की कुल संख्या 81 हो गई है। वहीं,तीन मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं। इसके अलावा चार कोरोना संक्रमितों की अब तक मौत भी हो चुकी है।
ऊधमसिंहनगर में सात मामले

ऊधमसिंह नगर जिले में क्वारंटाइन किए गए सात और लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये है। इसमें चंपावत,पिथौरागढ़, खटीमा,सितारगंज के मरीज शामिल हैं। सभी की जानकारी ट्रेस की जा रही है। सभी संक्रमित 19 तारीख को मुंबई से चलकर 20 को हरिद्वार पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन से लौटे हैं और उन्हें पंतनगर के क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है।

डेढ़ साल के बच्चा कोरोना पॉजिटिव

ऋषिकेश की बैराज कॉलोनी के ए ब्लॉक ऋषिकेश निवासी दंपत्ति की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब उनके डेढ़ वर्षीय पुत्र की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह दंपत्ति अपने बच्चे के साथ 13 मई को दिल्ली से लौटे थे।

महिला के कोरोना पॉजिटिव आने पर कॉलोनी को किया पाबंद

बैराज कॉलोनी ऋषिकेश निवासी 38 वर्षीय महिला की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसके आवासीय क्षेत्र कॉलोनी को प्रशासन है पाबंद कर दिया है। यह महिला एम्स ऋषिकेश में दो डॉक्टर फैमिली के यहां मेड का कार्य करती थी। उन्हें भी होम क्वॉरंटाइन कर दिया गया है। दोनों चिकित्सकों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। स्वास्थ्य ठीक न होने के कारण इस महिला का 24 मई को एम्स ऋषिकेश में सैंपल लिया गया था,जो पॉजिटिव पाया गया। बुधवार को उप जिलाधिकारी प्रेमलाल कोतवाली के प्रभारी अमित शाह की मौजूदगी में बैराज कॉलोनी डी टाइप क्षेत्र जहां महिला रहती है, को बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिया गया। करीब 30 परिवार पाबंद किए गए। महिला के आसपास रहने वाले आठ लोगों,उसके परिवार के तीन लोगों को क्वारंटीन सेंटरर भेजा गया है।
तीन दिन में दो सौ से ज्यादा मामले
उत्तराखंड में तीन दिन के अंतराल में दो सौ से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इस दरिम्यान राज्य के नौ पर्वतीय जनपदों में भी मरीजों का सैकड़ा पूरा हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मंगलवार को 794 सैंपल की रिपोर्ट मिली है, जिनमें 65 केस पॉजिटिव हैं।
टिहरी जिले में सर्वाधिक 19 और संक्रमित मिले हैं। यह सभी हाल ही में मुम्बई से लौटे हैं और संस्थागत क्वारंटाइन हैं। पिथौरागढ़ में 14 मामले आए हैं। इनमें 13 लोग बाहर से लौटे हैं। नैनीताल जिले में 10 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 9 रामनगर और एक कालाढूंगी का रहने वाला है। यह लोग 24 मई को रोडवेज की बस से दिल्ली से हल्द्वानी पहुंचे थे। हरिद्वार में नौ साल के एक बच्चे समेत 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव है,जिनमें जिला अस्पताल में संविदा पर तैनात एक नर्स में भी कोरोना की पुष्टि हुई है।
ऊधमसिंहनगर में दो लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। मूल रूप से पिथौरागढ़ और चंपावत के रहने वाले यह दोनों युवक 21 मई को मुम्बई से हरिद्वार ट्रेन से और वहां से बस के जरिये रुद्रपुर पहुंचे थे। अल्मोड़ा में पॉजिटिव मिले तीन लोग 23 मई को ठाणो मुम्बई से ट्रेन के जरिये काठगोदाम और वहां से बस से अल्मोड़ा पहुंचे थे।
देहरादून में निरंजनपुर सब्जी मंडी का एक आढ़ती,एक मुनीम और निजी अस्पताल में भर्ती एक महिला कोरोना संक्रमित मिली है। आढ़ती सेवला कलां का है। कोरोना संक्रमित मेरठ 75 वर्षीय महिला शुगर की समस्या के चलते 24 मई से अस्पताल में भर्ती है। दून के तीनों मरीजों की जांच निजी लैब में हुई है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। देर रात जारी एम्स की रिपोर्ट में दून के दो और मरीज सामने आए ।
डेढ़ साल के बच्चे समेत 48 कोरोना पॉजिटिव, 471 हुई संक्रमितों की संख्या
उत्तराखंड में बुधवार को डेढ़ साल के बच्चे समेत कोरोना के 48 नए मामले सामने आए हैं,जिनमें 14 पौड़ी,11 टिहरी, सात ऊधमिंहनगर,तीन-तीन नैनीताल और पिथौरागढ़ के साथ ही एक देहरादून जिले का है। प्रदेशभर में अब कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 471 पहुंच गया है,जिसमें 383 मामले एक्टिव हैं। वहीं,स्वस्थ होने वालों वालों की कुल संख्या 81 हो गई है। वहीं,तीन मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं। इसके अलावा चार कोरोना संक्रमितों की अब तक मौत भी हो चुकी है। वहीं,चंपावत में क्वारंटाइन पूरा कर घर रह रही एक लड़की की मंगलवार देर शाम अचानक मौत हो गई।

ऊधमसिंहनगर में सात मामले

ऊधमसिंह नगर जिले में क्वारंटाइन किए गए सात और लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसमें चंपावत, पिथौरागढ़, खटीमा, सितारगंज के मरीज शामिल हैं। सभी की जानकारी ट्रेस की जा रही है। बताया जा रहा है कि सभी संक्रमित 19 तारीख को मुंबई से चलकर 20 को हरिद्वार पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन से वापस लौटे हैं और उन्हें पंतनगर के क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है।

डेढ़ साल के बच्चा कोरोना पॉजिटिव

ऋषिकेश की बैराज कॉलोनी के ए ब्लॉक ऋषिकेश निवासी दंपत्ति की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब उनके डेढ़ वर्षीय पुत्र की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह दंपत्ति अपने बच्चे के साथ 13 मई को दिल्ली से लौटे थे।

महिला के कोरोना पॉजिटिव आने पर कॉलोनी को किया सील

बैराज कॉलोनी ऋषिकेश निवासी 38 वर्षीय महिला की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसके आवासीय क्षेत्र कॉलोनी को प्रशासन है पाबंद कर दिया है। यह महिला एम्स ऋषिकेश में दो डॉक्टर फैमिली के यहां मेड का कार्य करती थी। उन्हें भी होम क्वॉरंटाइन कर दिया गया है। दोनों चिकित्सकों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। स्वास्थ्य ठीक न होने के कारण इस महिला का 24 मई को एम्स ऋषिकेश में सैंपल लिया गया था, जो पॉजिटिव पाया गया। बुधवार को उप जिलाधिकारी प्रेमलाल कोतवाली के प्रभारी अमित शाह की मौजूदगी में बैराज कॉलोनी डी टाइप क्षेत्र जहां महिला रहती है, उस क्षेत्र को बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिया गया है। करीब 30 परिवार पाबंद किए गए हैं। महिला के आसपास रहने वाले आठ लोगों, उसके परिवार के तीन लोगों को क्वारंटीन सेंटरर भेजा गया है।
ऋषिकेश के बैराज कॉलोनी निवासी एक महिला के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन सक्रिय हो गया है। इस क्षेत्र को कंटेनटमेंट घोषित कर दिया गया है। साथ ही इसे पाबंद भी कर दिया गया है। बिहार जाने की मांग को लेकर देहरादून के दिलाराम चौक पर मजदूरों ने प्रदर्शन किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने मजदूरों को समझाया और डीबीएस पीजी कॉलेज में उनके रुकने की व्यवस्था कराई।
तीन दिन में दो सौ से ज्यादा मामले
उत्तराखंड में तीन दिन के अंतराल में दो सौ से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इस दरिम्यान राज्य के नौ पर्वतीय जनपदों में भी मरीजों का सैकड़ा पूरा हो गया है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को 794 सैंपल की रिपोर्ट मिली है, जिनमें 65 केस पॉजिटिव हैं।
टिहरी जिले में सर्वाधिक 19 और संक्रमित मिले हैं। यह सभी हाल ही में मुम्बई से लौटे हैं और संस्थागत क्वारंटाइन हैं। पिथौरागढ़ में 14 मामले आए हैं। इनमें 13 लोग बाहर से लौटे हैं। नैनीताल जिले में 10 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 9 रामनगर और एक शख्स कालाढूंगी का रहने वाला है। यह लोग 24 मई को रोडवेज की बस से दिल्ली से हल्द्वानी पहुंचे थे। हरिद्वार में नौ साल के एक बच्चे समेत 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव है, जिनमें जिला अस्पताल में संविदा पर तैनात एक नर्स में भी कोरोना की पुष्टि हुई है।
जनपद ऊधमसिंहनगर में दो लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। मूल रूप से पिथौरागढ़ और चंपावत के रहने वाले यह दोनों युवक 21 मई को मुम्बई से हरिद्वार ट्रेन से और वहां से बस के जरिये रुद्रपुर पहुंचे थे। अल्मोड़ा में पॉजिटिव मिले तीन लोग 23 मई को ठाणो मुम्बई से ट्रेन के जरिये काठगोदाम और वहां से बस से अल्मोड़ा पहुंचे थे।
देहरादून में निरंजनपुर सब्जी मंडी का एक आढ़ती,एक मुनीम और निजी अस्पताल में भर्ती एक महिला कोरोना संक्रमित मिली है। आढ़ती सेवला कलां क्षेत्र में रहने वाला है। कोरोना संक्रमित मेरठ 75 वर्षीय महिला शुगर की समस्या के चलते 24 मई से अस्पताल में भर्ती है। दून के तीनों मरीजों की जांच निजी लैब में हुई है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। देर रात जारी एम्स की रिपोर्ट में दून के दो और मरीज सामने आए हैं।
नए मरीज मिलने के बाद प्रशासन अब संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की तलाश करने में जुट गया है। सभी संक्रमित देहरादून व टिहरी जिले में मिली हैं।
संक्रमण के बढ़ते ग्राफ के मद्देनजर अब प्रशासन प्रवासियों पर पैनी नजर बनाए हुए रखा है।
अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि पॉजिटिव पाए गए सभी मरीज प्रवासी हैं और दूसरे राज्यों से लौटने के बाद से उन्हें क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया था।
उन्होंने बताया कि अब सभी मरीजों को इलाज के लिए अस्पतालों में भर्ती किया जा रहा है। अपर सचिव ने बताया कि बुधवार को राज्यभर से कुल 1017 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।
इसमें से सबसे अधिक 191 देहरादून जिले से जबकि 185 हरिद्वार जिले से और 150 सैंपल नैनीताल जिले से जांच के लिए भेजे गए हैं। बागेश्वर जिले से बुधवार को एक भी सैंपल जांच के लिए नहीं भेजा गया।
कोरोना से निपटने के लिए एक्सपर्ट ग्रुप तैयार
सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए एक्सपर्ट ग्रुप तैयार कर लिया है। यह सरकार को अहम सुझाव और सहयोग देगा। इसमें एम्स और आईएमए समेत राज्य के प्रमुख अस्पतालों के एक्सपर्ट शामिल हैं। स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी की ओर से मंगलवार देर शाम आदेश किए गए। यह ग्रुप एचएनबी मेडिकल विवि के कुलपति प्रोफेसर हेमचंद्रा की अध्यक्षता में गठित होगा।

वर्किंग ग्रुप भी बनाया गया
राज्य सरकार ने कोरोना से निपटने की प्रभावी रणनीति बनाने के लिए अफसरों में भी कार्य विभाजन किया। एक वर्किंग ग्रुप बनाया गया है। प्रभारी सचिव डॉक्टर पंकज पांडेय के नेतृत्व में टेस्टिंग,अपर सचिव युगल किशोर पंत को रिसोर्स मैनेजमेंट ,सर्विलांस प्रोफेसर हेमचंद्रा एवं क्लीनिकल मैनेजमेंट डॉक्टर आशुतोष सयाना के साथ ही ट्रेनिग का जिम्मा निदेशक स्वास्थ्य डॉक्टर एसके गुप्ता को दिया गया है।
राज्य में कोरोना संक्रमण की दर में फिर वृद्धि
प्रवासियों में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राज्य में संक्रमण दर भी बढ़ गई है। सोमवार तक संक्रमण दर 1.86% थी,जो बढ़कर दो से ऊपर पहुंच गई है।राज्य की कुल संक्रमण दर 2.15 प्रतिशत के करीब है।

हालांकि,यह आंकड़ा बाकी राज्यों की तुलना में कम है। राज्य में पहले भी संक्रमण दर दो से ऊपर गई थी। लेकिन, 42 दिनों से यह दर दो प्रतिशत से कम पर रही। अपर सचिव (स्वास्थ्य) युगल किशोर पंत ने बताया कि सरकार संक्रमण को रोकने के लिए पूरे प्रयास कर रही

प्रवासियों के अधिक संक्रमित मिलने के कारण यह आंकड़ा बढ़ रहा है। पर कई प्रवासी नैनीताल जिले से बाहर के भी हैं। अच्छी बात यह है कि अब तक स्थानीय स्तर पर कोई कोरोना पॉजीटिव नहीं मिला है।
डॉक्टर रशिम पंत, एसीएमओ हल्द्वानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *