ईद पर सऊदी अरब में कर्फ्यू,मिश्र में टोटल लॉक डाउन

कोरोना दुनिया में LIVE / अब तक 47.19 लाख संक्रमित: दक्षिण कोरिया में 20 मई से स्कूल खुलेंगे; इटली में कल से रेस्टोरेंट्स और हेयर सैलून भी शुरू होंगे
इटली के मिलान में एक डिपार्टमेंटल स्टोर की कर्मचारी सामान जमाते हुए। यहां सोशल डिस्टेंसिंग और कुछ दूसरी गाइडलाइंस के साथ सोमवार से दुकानें खुलेंगी।
स्पेन में अब तक दो लाख 77 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं, जबकि 27 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है
अमेरिका में अब तक 90 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है,जबकि संक्रमण के केस 15 लाख हो गए हैं
वॉशिंगटन.दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 47 लाख 19 हजार 812 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 18 लाख 11 हजार 611 ठीक हुएहैं। वहीं,मौतों का आंकड़ा 3 लाख 13 हजार 215 हो गया है।साउथ कोरिया में 20 मई यानी बुधवार से स्कूल शुरू हो जाएंगे। फिलहाल,सिर्फ हाईस्कूल खोले जा रहे हैं। छोटी कक्षाओं पर फैसला बाद में लिया जाएगा। वहीं,इटली में दो महीने से ज्यादा सख्त लॉकडाउन के बाद कल से दुकानें,रेस्टोरेंट्स और हेयर सैलून खुल जाएंगे।

इटली : कल से राहत
इटली में कल यानी सोमवार से दुकानें,रेस्टोरेंट्स और हेयर सैलून खुल जाएंगे। करीब ढाई महीने बाद बाजारों में कुछ रौनक नजर आ सकती है। सरकार ने एक बयान में कहा- हम सोच-समझकर रिस्क ले रहे हैं। इटली यूरोप की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। हालांकि,सरकार ने साफ किया है कि हर ढील की गहन समीक्षा की जाएगी। अगर कोई लापरवाही हुई तो पाबंदियां फिर से लगा दी जाएंगी।

साउथ कोरिया : स्कूल खुलेंगे
शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक, देश में बुधवार 20 मई से हाईस्कूल खुल जाएंगे। हालांकि,प्राईमरी और किंडर गार्डन कुछ दिनों बाद शुरू हो सकेंगे। देश में संक्रमण पर काबू पा लिया गया था। लेकिन, सियोल के एक नाइटक्लब में बीते दिनों एक शख्स की वजह से 168 लोग संक्रमित हुए। एजुकेशन मिनिस्टर पार्क बियोम ने कहा- हम सभी बातों का ध्यान रख रहे हैं। लेकिन,छात्रों के भविष्य का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।
दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में खेल शुरू हो गए हैं। रविवार को एक गोल्फ टूर्नामेंट के दौरान खिलाड़ी और स्टाफ। यहां सरकार 20 मई से स्कूल भी खोलने जा रही है।
वीडियो लिंक से जुड़ेंगे मंत्री
‘द गार्डियन’ के मुताबिक, सोमवार को कई देशों के मंत्री वीडियो लिंक से जुड़ेंगे। यह कार्यक्रम सालाना वर्ल्ड हेल्थ असेंबली के तहत होगा। इसमें इस बात पर विचार किया जा सकता है कि किस तरह अमीर देश कोविड-19 के संभावित वैक्सीन और दवा को लेकर दबाव की रणनीति पर काम कर रहे हैं। इस बीमारी में कारगर कुछ दवाओं की कमी हो गई है। ट्रम्प प्रशासन वैक्सीन रिसर्च में जुटी कंपनियों पर दबाव डाल रहा है कि वो पहले इसकी सप्लाई अमेरिका को करें।

मिस्र : ईद पर भी सख्ती रहेगी
प्रधानमंत्री मुस्तफा मेदबोली ने रविवार को कहा कि ईद पर कर्फ्यु का दायरा और घंटे बढ़ाया जाएगा। रविवार शाम 5 बजे से यह कर्फ्यु शुरू हो गया। यह शुक्रवार तक जारी रहेगा। इस दौरान सभी दुकानें, शॉपिंग मॉल्स, बीच और पार्क बंद रहेंगे।
इस्लामिक शिक्षा के सबसे पुराने अल अजहर विश्व विद्यालय को 1200 सालों में पहली बार बंद किया गया है।

नॉर्वे : फीकी रही परेड
रविवार को नॉर्वे का संविधान दिवस था। हर साल यहां इस मौके पर हजारों लोग जुटते हैं। लेकिन, इस बार यह काफी फीका नजर आया। कुछ समारोह जरूर हुए लेकिन यह पहले की तरह नहीं थे। राजधानी ओस्लो में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ परेड हुई। इसका लाइव टेलिकास्ट हुआ। यहां 50 से ज्यादा लोगों के जुटने पर रोक है।
नॉर्वे का शाही परिवार अपनी बालकनी से लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए। रविवार को यहां संविधान दिवस था। हालांकि, इस बार यह बहुत सादगी से मनाया गया।
बीजिंग : मास्क पहनना जरूरी नहीं
चीन की राजधानी बीजिंग में लोगों को घर से बाहर मास्क पहनना जरूरी नहीं होगा। संक्रमण के मामले कम होने के बाद सरकार ने यह फैसला लिया। इस तरह का कदम उठाने वाला बीजिंग चीन का और संभवत: दुनिया का पहला शहर होगा। ‘चाइना डेली’ ने सरकार के हवाले से कहा- लोगों को अब घर से बाहर मास्क पहनना जरूरी नहीं होगा। हालांकि, दूसरों से संपर्क में दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) अब भी रखनी होगी। वो बाहर एक्सरसाइज भी कर सकते हैं। बीजिंग में 22 मई से सत्तारूढ़ पार्टी नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की सालाना बैठक भी शुरू हो रही है।

स्थानीय प्रशासन ने कहा है कि घर से बाहर अब मास्क लगाना जरूरी नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पहले की तरह पालन करना होगा।
ट्रम्प का सवाल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को ट्वीट किया- चीन की जनसंख्या हमसे ज्यादा होने के बावजूद भी वह डब्ल्यूएचओ, संयुक्त राष्ट्र और सबसे बुरी बात विश्व व्यापार संगठन को इतनी कम रकम क्यों देता है। यहां उन्हें कथित तौर पर विकासशील देश माना जाता है। उन्हें अमेरिका या किसी अन्य की तुलना में ज्यादा सहूलियतें दी जाती हैं। चीन से फैले इस महामारी से पहले हमारी अर्थव्यवस्था सबको पीछे छोड़ रही थी। हम किसी भी देश के मुकाबले अच्छे थे। हम एक बार फिर वहां होंगे और जल्दी होंगे।

कोरोनावायरस:10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 15,07,773 90,113 3,39,232
रूस 2,81,752 2,631 67,373
स्पेन 2,77,719 27,563 1,92,253
ब्रिटेन 2,40,161 34,466 उपलब्ध नहीं
ब्राजील 2,33,511 15,662 89,672
इटली 2,24,760 31,763 1,22,810
फ्रांस 1,79,365 27,625 61,066
जर्मनी 1,76,247 8,027 1,52,600
तुर्की 1,48,067 4,096 1,08,137
ईरान 1,18,392 6,937 93,147
ये आंकड़ेhttps://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।
थाईलैंड:अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 30 जून तक प्रतिबंध

महामारी के बीच थाईलैंडने सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 30 जून तक प्रतिबंध लगा दिया है।यह प्रतिबंध राज्य या सैन्य विमान, आपातकालीन लैंडिंग, टेक्निकल लैंडिंग, मानवीय सहायता, चिकित्सा और राहत उड़ानों पर लागू नहीं होंगी। देश में अब तक तीन हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।

थाईलैंड के एक मार्केट में जाने से पहले लोगों का तापमान चेक करते स्टाफ। देश में सैन्य विमानों समेत चिकित्सा विमानों पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है।
रूस: दूसरा संक्रमित देश

रूस में 24 घंटे में 9700 मामले सामने आए हैं। देश में संक्रमण का आंकड़ा अब 2 लाख 81 हजार 752 हो गया है। इसके साथ ही रूस अमेरिका के बाद दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा संक्रमित देश हो गया है। लगातार तीसरे दिन नए मामले 10 हजार से कम हैं। यहां एक दिन में 94 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही यहां मरने वालों की संख्या 2631 हो गई है। देश में मॉस्को सबसे ज्याा प्रभावित शहर है।

इजराइल में फंसे भारतीय अपने देश लौटने को उत्साहित

इजराइल में फंसे भारतीय नागरिकों ने राहत की सांस ली है। दरअसल, वंदे भारत मिशन के तहते 25 मई को एयर इंडिया का विमान उन्हें लाने के लिए भेजा जाएगा। भारत सरकार 7 मई से ही इस मिशन के तहत अलग-अलग देशों में फंसे अपने लोगों को निकाल रही है। पहले फेज में ब्रिटेन, अमेरिका, बांग्लादेश जैसे कई देशों से 6527 लोगों को निकाला गया है। एयर इंडिया के अधिकारीने बताया कि हम भारत में फंसे इजराइल के नागरिकों से भी वापस जाने का आग्रह करेंगे।

अमेरिका: एक दिन में 1237 जान गई

अमेरिका में 24 घंटे में 1237 लोगों की मौत हुई है। यहां मरने वालों की संख्या 90 हजार 113 हो गई है, जबकि संक्रमण के 15 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य न्यूयॉर्क में शनिवार को 157 लोगों की मौत हुई है। छह दिनों से यहां मौतों की संख्या 200 के नीचे है। राज्य में अब तक 28 हजार लोगों की जान जा चुकी है।

टेक्सास में ग्रॉसरी शॉप में जाने के लिए लाइन में लगे लोग।
ब्रिटेन: 19 लोग गिरफ्तार
लंदन में शनिवार को लोगों ने लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन किया। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी उल्लंघन किया। पुलिस ने इस दौरान 19 लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक लोग लॉकडाउन के नियमों के खिलाफ हाइड पार्क में प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान लोगों का एक समूह काफी नजदीक आ गया। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। 10 लोगों पर जुर्माना भी लगाया गया है। ब्रिटेन में 13 मई से लॉकडाउन के नियमों में कुछ ढील देते हुए लोगों को पार्कों में जाने की इजाजत दी गई थी।

लंदन के हाइड पार्क में लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन करते लोगों को हिरासत में लेती पुलिस।
चीन: पांच नए मामले मिले
चीन में 24 घंटे में पांच नए मामले सामने आए हैं। इसी दौरान आठ मरीज ठीक भी हुए। देश में एक सप्ताह से संक्रमण से किसी की मौत की रिपोर्ट नहीं है। पांच नये मामलों में से दो बाहर से आए लोगों के है। चीन में बाहर से आए कुल 1700 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। देश में संक्रमितों की संख्या अब 82,947 हो गई है, जबकि 4633 की मौत हो चुकी है।बीजिंग में अब घर से बाहर जाने पर मास्क पहनना जरूरी नहीं होगा। संक्रमण के मामले कम होने पर सरकार ने यह फैसला किया है। हालांकि, प्रशासन ने लोगों से दूरी बनाए रखने के लिए कहा है।

तस्वीर चीन के सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत की है। लोग वुहान रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं।
इजराइल: 2 नए मामले
इजराइल में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के केवल दो नए मामले सामने आए हैं और एक व्यक्ति की मौत हुई है। यहां शनिवार से स्कूल दोबारा खोल दिए गए हैं। यहां संक्रमण के 16,608 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 268 लोगों की मौत हुई है। स्कूलों में कक्षाएं छोटे-छोटे समूहों में आयोजित की जा रही हैं। सभी छात्रों को परिजन के हस्ताक्षर वाला हेल्थ सर्टिफिकेट भी दिखाना होगा। मास्क पहनना भी अनिवार्य होगा। बच्चों को एक-दूसरे से 6.5 फीट की दूरी बनाए रखनी होगी। 20 मई से लोगबीच पर जा सकेंगे। वहीं,50 से ज्यादा लोगों के एक स्थान पर जमा होने पर पाबंदी जारी रहेगी।

जर्मनी: लोगों का प्रदर्शन
जर्मनी में लोग शनिवार को लॉकडाउन के खिलाफ सड़कों पर उतर आए। खास बात ये है कि जर्मनी में ज्यादातर पाबंदियां हटाई जा चुकी हैं। चांसलर एंजेला मर्केल पहले ही कह चुकी हैं कि संक्रमण से बचने के लिए कुछ बंदिशें जारी रखना सरकार की मजबूरी है।लोग अब रेस्त्रां और बार में जा रहे हैं। हालांकि रेस्त्रां कर्मचारी और ग्राहक दोनों कोरोना के लेकर जारी गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है। एक रेस्त्रां ने ग्राहकों के बीच दूरी बनाए रखने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग कैप बनाई है। यह कैप ग्राहकों को पहनाई जाती है। इसको पहनने से ग्राहकों के बीच एक मीटर की दूरी बनी रहती है। वेटर भी मास्क और दस्ताने पहनकर खाना सर्व कर रहे हैं। यहां अब तक आठ हजार लोग मारे जा चुके हैं,जबकि एक लाख 76 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।

नेपाल: पहली मौत

नेपाल में शनिवार को एक महिला की मौत हो गई। संक्रमण से मौत का यह पहला मामला है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बयान में कहा कि हाल में बच्चे को जन्म देने के कुछ समय बाद बीमार हुई एक महिला की अस्पताल ले जाने के दौरान मौत हो गई। महिला के नाक और गले के नमूनों का विश्लेषण करने के बाद पता चला कि उसकी मौत कोरोना से हुई है। 29 वर्षीय महिला ने छह मई को बच्चे को जन्म दिया था। अगले दिन मां और बच्चे दोनों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उस समय मां और बच्चे दोनों स्वस्थ थे। देश में कोरोना के 281 मामले हैं।

न्यूजीलैंड: संक्रमण का एक नया मामला

न्यूजीलैंड में रविवार को संक्रमण का एक और नया मामला सामने आया। अब यहां संक्रमितों की संख्या 1499 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि न्यूजीलैंड में शनिवार को पांच लोग ठीक हुए। देश में अब तक 21 लोगों की मौत हुई है।

पाकिस्तान: संक्रमितों की संख्या 40 हजार के पार
पाकिस्तान में संक्रमितों की संख्या40 हजार 151 हो गईहै। वहींं, अब तक 873 लोगों की मौत हो चुकी है।सिंध प्रांत सबसे गंभीर रूप से प्रभावित है। यहां अब तक 15,590 मामले सामने आए हैं। इसके बाद पंजाब प्रांत में हालत गंभीर है जहां कुल 14,584 लोग संक्रमित हुए हैं।पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 112 मरीज मिल चुके हैं।
सऊंदी अरब में ईद पर कर्फ्यू
सऊदी सरकार (Saudi Arabia) ने घोषणा की है कि रमजान (Ramadan) महीने के आखिर में ईद उल फितर के साथ 23 मई से 27 मई तक पूरे देश में 24 घंटे का कर्फ्यू लगाया जाएगा ।
कोरोनावायरस (Coronavirus) की वजह से सऊदी अरब (Saudi Arabia) में ईद (Eid) के मौके पर भी कर्फ्यू (Curfew) रहेगा. सऊदी अरब में ईद की पांच दिनों की छुट्टियों के दौरान पूरे देश में 24 घंटों का कर्फ्यू लागू रहेगा. कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनज़र सऊदी अरब के अंतरिक मंत्रालय ने कर्फ्यू का ऐलान किया है.
सऊदी सरकार ने घोषणा की है कि रमजान महीने के आखिर में ईद उल फितर के साथ 23 मई से 27 मई तक पूरे देश में 24 घंटे का कर्फ्यू लगाया जाएगा. 5 दिनों तक चलने वाले इस कर्फ्यू में कोई भी ढील या रियायत नहीं दी जाएगी और ये पूर्ण लॉकडाउन होगा.
हालांकि इससे पहले भी सऊदी अरब कोरोनावायरस की वजह से देश के कई हिस्सों में 24 घंटों का कर्फ्यू लगा चुका है. लेकिन रमजान की वजह से कुछ जगहों पर कर्फ्यू में ढील दी गई थी. हालांकि कोरोनावायरस से ज्यादा संक्रमित इलाकों में कर्फ्यू में ढील नहीं दी गई थी. मक्का में पूरी तरह प्रतिबंध जारी है और यहां कर्फ्यू में ज़रा भी रियायत नहीं दी गई है. मक्का में कोरोना संक्रमण के अब तक 9 हज़ार से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं. सऊदी अरब में मक्का सबसे ज्यादा कोरोनावायरस से प्रभावित शहर बन चुका है.
फिलहाल सऊदी अरब में जिस तरह से कमर्शियल और बिज़नेस प्रतिष्ठान खुले हैं वो अपने समयानुसार और नियमानुसार जारी रहेंगे. सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक लोग अपने जरूरी कामों से घर के बाहर निकल सकते हैं. ईद से पहले तक सभी लोग पुराने आदेश के मुताबिक रोज़मर्रा की आवाजाही को बरकरार रख सकेंगे. लेकिन ये छूट मक्का में नहीं मिलेगी.

मार्च महीने में सऊदी सरकार ने कोरोना महामारी की वजह से उमरा तीर्थयात्रा पर रोक लगा दी थी. साथ ही सऊदी अरब ने दूसरे देशों से उड़ानों पर भी रोक लगा रखी है ताकि कोरोनावायरस के संक्रमण पर रोक लग सके.
सऊदी के किंग सलमान ने कोविड 19 के खिलाफ जंग को बेहद मुश्किल बताया है क्योंकि इसकी वजह से सऊदी अरब को दे भारी झटके लगे हैं. न सिर्फ शट डाउन की वजह से अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा बल्कि तेल की गिरती कीमतों ने सऊदी अरब को बेहद नुकसान पहुंचाया है.
सऊदी अरब में अब तक कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की तादाद 42925 पहुंच गई है जबकि आधिकारिक तौर पर 264 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है. मंगलवार को सऊदी अरब में कोरोना संक्रमण के 2520 मामले सामने आए थे जो कि अब तक एक दिन में आए मामलों से बहुत ज्यादा थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *