पापा की मर्जी के खिलाफ अजितेश से शादी करना मेरी सबसे बड़ी भूल:साक्षी मिश्रा

साक्षी मिश्रा ने कहा- पापा की मर्जी के खिलाफ अजितेश से शादी करना मेरी सबसे बड़ी भूलसाक्षी ने कहा कि जब वे आईएएस बन जाएंगी तब पिता को फोन करेंगी. (फाइल फोटो)
अंतरजातीय प्रेम विवाह (Inter Caste Marriage) के बाद सुर्खियों में आई बरेली (Bareilly) से बीजेपी विधायक (BJP MLA) राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी मिश्रा (Sakshi Mishra) अब संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की तैयारियों में जुटी हैं. न्यूज़ 18 से बातचीत में साक्षी मिश्रा ने कहा कि मेरे पापा की सबसे बड़ी तमन्ना थी कि उनकी बेटी आईएएस (IAS) बनकर देश की सेवा करे. उन्होंने बताया कि शादी के बाद पापा बहुत नाराज हैं.साक्षी ने कहा- अब आईएएस (IAS) बनकर ही पापा से फोन पर बात करूंगी, वो खुश होकर माफ कर देंगे मेरी गलती.
बरेली. पहले प्यार, फिर घरवालों की मर्जी के खिलाफ शादी. अब साक्षी मिश्रा (Sakshi Mishra) को अहसास हुआ कि यह उसकी सबसे बड़ी गलती थी. विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी कुछ दिनों पहले देशभर में सुर्खियों में थीं. कारण था कि उन्होंने अजितेश के साथ घरवालों की मर्जी के खिलाफ शादी की थी. इसके बाद अपनी जान का खतरा बताकर दोनों ने सोशल मीडिया (Social Mishra) पर एक वीडियो भी जारी किया. इस वीडियो में साक्षी ने बताया था कि उसे अपने पिता राजेश मिश्रा, भाई विक्की भरतौल और पिता के करीबी राजीव राणा से जान का खतरा है. लेकिन अब साक्षी ने खुलासा किया है कि परिवार की इच्छा के खिलाफ अजितेश से शादी करना उसकी सबसे बड़ी गलती थी. अब उसे गलती का अहसास है और भरोसा भी है कि मां-पिता उसे माफ कर देंगे.
भाई को बहुत मिस करती हूं
साक्षी ने कहा कि हालांकि अजितेश का परिवार उसकी खयाल बेटी की तरह रखता है लेकिन अपने परिवार की बहुत याद आती है. खासकर भाई विक्की को बहुत मिस करती हूं. साक्षी ने कहा कि जन्म से लेकर शादी तक का समय कम नहीं होता है. परिवार के साथ बिताए हर पल को याद कर वह काफी दुखी हो जाती है.
साक्षी ने कहा कि वह जल्द ही इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेंगी और परीक्षा की तैयारी करेंगी. (फाइल फोटो)
घरवालों की इच्छा के विरुद्ध अजितेश से रचाई थी शादी
बता दें कि बरेली से बीजेपी के विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा पिछले साल तीन जुलाई को अपने घर से अचानक चली गई थीं. इसके बाद उन्होंने अजितेश से लव मैरेज कर लिया था. 10 जुलाई को दोनों ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर परिजनों से ही अपनी जान को खतरा बताया था. इसके अगले दिन यानी 11 जुलाई को साक्षी ने एक और वीडियो जारी कर अपने पिता राजेश मिश्रा, भाई विक्की भरतौल और पिता के करीबी राजीव राणा से जान को खतरा बताया था. ये दोनों वीडियो वायरल हो गए थे जिसके बाद मामले ने काफी तूल पकड़ लिया था.
पिता चाहते थे डॉक्टर बनूं लेकिन…
साक्षी ने बताया कि पिता राजेश मिश्रा चाहते थे कि मैं डॉक्टर बनूं. इसके लिए उन्होंने मुझे कोटा भी भेजना चाहा लेकिन मैं वहां भी नहीं गई. इसके बाद उन्होंने पुणे के भारतीय विद्या पीठ में मेरा दाखिला करवा दिया, लेकिन मुझे बीडीएस मिल रहा था. हमने पापा की बात नहीं मानी और दाखिला नहीं लिया. साक्षी कहती हैं कि उसने हाई स्कूल- इंटरमीडिएट बरेली के माधव राव सिंधिया और ग्रेजुएशन जयपुर वुमन यूनिवर्सिटी से पास किया. सभी विषयों में बहुत अच्छे नंबर आए थे.
आईएएस बनने की तमन्ना
साक्षी ने बताया कि वो दिल्ली के एक निजी कोचिंग इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेकर जल्द आईएएस बनने की तैयारी शुरू करने वाली हैं. उन्होंने कहा कि अब मैं आईएएस या पीसीएस की परीक्षा पास करके ही पापा को फोन करूंगी. उन्होंने दावा किया इसके बाद मम्मी-पापा बहुत खुश होंगे और मेरी गलती को माफ कर देंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *