आईएसआईएस के बंदी आतंकियों से सनसनीखेज खुलासा, हिंदू नेताओं की करनी थी हत्‍या

गिरफ्तार किए गए तीनो आतंकियों ने साल 2014 में एक हिंदू नेता की हत्या की थी. इसके पहले साल 2018 में भी दिल्ली में ISIS मॉड्यूल के खुलासे की बात सामने आई थी.

नई दिल्ली: दिल्ली में गिरफ्तार आईएसआईएस के 3 आतंकियों के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. दिल्ली पुलिस के अनुसार ये सभी आतंकियों का पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया से कनेक्शन है. CAA को लेकर हुई हिंसा में पुलिस की कार्रवाई का बदला लेने के मकसद से इनको दिल्ली, यूपी और गुजरात में पुलिस वालों की हत्या करनी थी. पूछताछ के दौरान पता चला कि हिंदू नेताओं की हत्या का भी प्लान बनाया गया था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजधानी के वजीराबाद इलाके से इन तीनों आतंकियों को गिरफ्तार किया था. ये सभी आतंकी हथियारबंद थे. उनके पास से पिस्तौल और कारतूस बरामद किए गए हैं.

गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकी तमिलनाडु के रहने वाले हैं. ये पहले भी आपराधिक घटनाओं में लिप्त रहे हैं. गिरफ्तार किए गए तीनो आतंकियों ने साल 2014 में एक हिंदू नेता की हत्या की थी. जिसके बाद से इन तीनो आतंकियों समेत 6 लोग तमिलनाडु से फरार चल रहे थे.

क्या गणतंत्र दिवस समारोह था निशाना
दिल्ली में 71वें गणतंत्र दिवस के जश्न की तैयारियां चल रही हैं. इस दौरान राजपथ पर परेड भी निकाली जाती है. आशंका है कि आतंकवादी गणतंत्र दिवस के जश्न को प्रभावित करने की तैयारी कर रहे थे. ये तीनों आतंकवादी किसी बड़ी वारदात की फिराक में थे. इन सभी को विदेश में बैठे एक हैंडलर से आदेश प्राप्त हो रहा था. ये सभी मोबाइल एप के जरिए अपने हैंडलर के संपर्क में थे.  ISIS से प्रभावित ये आतंकी बेहद कट्टर हैं.

तमिलनाडु से भागने के बाद हत्या के 6 आरोपियों में से 3 नेपाल में हैं. बाकी तीन आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.  ये तीनों आतंकवादी नेपाल के रास्ते उत्तर प्रदेश में घुसकर एनसीआर इलाके में आ गए. ये तीनों दिल्ली NCR और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हमला करने की बड़ी साजिश रच रहे थे.

लगातार निशाने पर है दिल्ली 
इसके पहले साल 2018 में भी दिल्ली में ISIS मॉड्यूल के खुलासे की बात सामने आई थी.  तब एनआईए ने दिल्ली और उत्तर प्रदेश में 16 ठिकानों पर छापेमारी की थी. चार दिन पहले 5 जनवरी को भी खबर आई थी कि आईएसआईएस से जुड़े आतंकवादीउत्तर प्रदेश में दाखिल हो गए हैं. इस खुफिया सूचना के बाद पाल की सीमा से सटे जिलों को अलर्ट कर दिया गया है. इन आतंकियों को आखिरी बार पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी में देखा गया था. एस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *