एसपीजी संशोधन विधेयक रास से पास,केवल गांधी परिवार की ही सुरक्षा की बात क्यों?

राज्यसभा से SPG संशोधन बिल पास, अमित शाह बोले- केवल गांधी परिवार की ही सुरक्षा की बात क्यों?
राज्यसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के बाद जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि केवल गांधी परिवार की ही सुरक्षा की बात क्यों? गांधी परिवार सहित पूरे 130 करोड़ भारतीयों की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है.
नई दिल्ली: लोकसभा के बाद अब राज्यसभा से एसपीजी अधिनियम संशोधन बिल पास हो गया है. गृहमंत्री अमित शाह ने साफ किया कि यह संशोधन राजनीतिक प्रतिशोध के चलते किसी परिवार को ध्यान में रखकर नहीं बनाया गया है बल्कि इससे प्रधानमंत्री सुरक्षा को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी. राज्यसभा ने विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) अधिनियम संशोधन विधेयक को चर्चा के बाद ध्वनिमत से मंजूरी दी. इस दौरान कांग्रेस, वाम और डीएमके के सदस्यों ने सदन से वॉकआउट किया.
राज्यसभा में विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस सहित विपक्षी सदस्यों की उन चिंताओं को बेबुनियाद बताया जिसमें कहा गया था कि गांधी परिवार की सुरक्षा के संबंध में राजनीति के तहत काम किया गया है .
शाह ने कहा, ‘‘ऐसी भी बात देश के सामने लाई गई कि गांधी परिवार की सरकार को चिंता नहीं है. हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि सुरक्षा हटाई नहीं गई है. सुरक्षा बदली गई है. उन्हें जेड प्लस सीआरपीएफ कवर, एएसएल और एम्बुलेंस के साथ सुरक्षा दी गई है.’’
उन्होंने कहा, ”जब मनमोहन सिंह और अन्य पूर्व प्रधानमंत्रियों की एसपीजी सुरक्षा वापस ली गई थी तब कोई चर्चा नहीं हुई थी.” अमित शाह ने कहा, ”गांधी परिवार के तीन सदस्यों को उन कर्मियों की ओर से सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है जो पहले एसपीजी का हिस्सा थे.” उन्होंने आगे कहा, ”एसपीजी कानून में संशोधन गांधी परिवार को ध्यान में रख कर नहीं किया जा रहा है.”
उन्होंने कहा कि हम परिवार के विरोधी नहीं हैं, हम परिवारवाद के विरोधी हैं. केवल गांधी परिवार की ही सुरक्षा की बात क्यों ? गांधी परिवार सहित पूरे 130 करोड़ भारतीयों की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है.
गृह मंत्री ने कहा कि सुरक्षा‘स्टेटस सिंबल’नहीं हो सकता,एसपीजी के लिए यह हंगामा क्यों?
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की सुरक्षा में सेंध की घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं और तीन सुरक्षा कर्मियों को निलंबित किया गया है.
प्रियंका के घर में घुसे थे मेरठ के कांग्रेसी नेता की गाड़ी पर सवार लोग
प्रियंका गांधी वाड्रा की सुरक्षा में सेंध मामले में नया मोड़ आ गया है। उक्त संदिग्‍ध कार खरखौदा की पूर्व चेयरपर्सन व खरखौदा निवासी शारदा त्यागी के बेटे शेखर त्यागी की है।
मेरठ, जेएनएन। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा की सुरक्षा में सेंध मामले में नया मोड़ आ गया है। उनके घर में घुसकर फोटो खिंचाने की मांग करने वाले लोग मेरठ में कांग्रेस के नेता की कार पर सवार थे।
प्रियंका गांधी वाड्रा के नई दिल्ली के आवास में जिस टाटा सफारी कार से लोग पहुंचे थे, वह कार खरखौदा की पूर्व चेयरपर्सन व खरखौदा निवासी शारदा त्यागी के बेटे शेखर त्यागी की है। शेखर त्यागी भी कांग्रेस में हैं। शेखर त्यागी ने हाल ही में कांग्रेस के एमएलसी स्नातक का प्रत्याशी होने का दावा किया हुआ है। कार का नम्बर यूपी 15- सीडब्ल्यू 0002 है।
शेखर की 63 वर्षीय मां शारदा त्यागी कांग्रेस की पुरानी कार्यकर्ता है। वह करीब 40 वर्ष से कांग्रेस में हैं। शारदा देवी 90 के दशक में खरखौदा विधानसभा सीट से पार्टी से चुनाव भी लड़ चुकी है। शारदा त्यागी ने बताया कि बीती 26 नवंबर को वह अपनी बेटी के साथ टाटा सफारी कार में प्रियंका गांधी वाड्रा के घर उनसे मिलने पहुंचीं। उनका कहना है कि गेट पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने उनसे कोई पूछताछ नही की और न ही कार की तलाशी ली। तत्काल गेट खोल दिया था।
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के घर पर सुरक्षा में बड़ी चूक हुई थी। कुछ अज्ञात लोगों ने प्रियंका गांधी के घर में प्रवेश किया था। यह लोग बिना पूर्व नियुक्ति के वहां पहुंचे, इन्होंने सेल्फी लेने के लिए भी कहा था। सुरक्षा में सेंध लगाते हुए काली सफारी गाड़ी में मेरठ की कांग्रेस नेता शारदा त्यागी

मौजूद थीं। उन्होंने कहा कि मुझे प्रियंका गांधी वाड्रा का मकान नंबर नहीं पता था और कांग्रेस कार्यालय में फोन करके इसके बारे में पूछा। जब मैं वहां गई तो (सुरक्षा) ने यह देखने की भी परवाह नहीं की कि कार में कौन बैठा है। काली गाड़ी देखते ही बैरिकेड को तुरंत हटा दिया गया और गेट खोल दिया गया।
सुरक्षा में हुई इस चूक से शारदा त्यागी हैरान रह गईं। उनका मानना है कि यह प्रियंका गांधी की सुरक्षा में बहुत बड़ी चूक है, सरकार को उनकी सुरक्षा की प्रियंका गांधी की सुरक्षा बढ़ा देनी चाहिए। ऐसे तो कोई भी अप्रिय घटना हो सकती है। उन्होंने कहा सुरक्षा हटने के कारण ही राजीव गांधी की हत्या हो गई थी। उन्होंने सुरक्षा हटाने को लेकर भाजपा सरकार पर आरोप भी लगाए।
गौरतलब है कि प्रियंका गांधी वाड्रा के नई दिल्ली के आवास में 26 नंवबर को दिन में करीब दो बजे एक अनजान गाड़ी घुस आई। जिसमें कई लोग सवार थे। घर में पहुंचे यह सभी लोग प्रियंका गांधी के साथ फोटो खिंचाने की मांग पर अड़े थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *