क्या वाकई महाराष्ट्र-हरियाणा चुनाव छोड़कर बैंकॉक चले गए राहुल? भाजपा ले रही है चुटकी

राहुल गांधी के बैंकॉक जाने की खबर आ रही है. फाइल तस्वीर
बचाव में उतरी कांग्रेस, कहा- पेशेवर और निजी जीवन में फर्क समझे
राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बैंकॉक (Bangkok) जाने की खबर इसलिए भी अहम मानी जा रही है क्योंकि हरियाणा और महाराष्ट्र में चुनाव के बीच में उनकी पार्टी भयंकर आतंरिक कलह से जूझ रही है.
नई दिल्ली: महाराष्ट्र और हरियाणा (Haryana Assembly Elections 2019) में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं. ऐसे में खबरें आ रही हैं कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी बैंकॉक चले गए हैं. इस पर बीजेपी नेता ने चुटकी लेते हुए कहा है, ‘बैंकॉक क्यों ट्रेंड कर रहा है?’ राहुल गांधी के बैंकॉक जाने की खबर इसलिए भी अहम मानी जा रही है क्योंकि हरियाणा और महाराष्ट्र में चुनाव के बीच में उनकी पार्टी भयंकर आतंरिक कलह से जूझ रही है. हरियाणा में जहां पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने पार्टी छोड़ दी है, वहीं महाराष्ट्र में मुंबई के पूर्व पार्टी अध्यक्ष संजय निरुपम ने बगावती सुर अपना लिए हैं.
सूत्रों के मुताबिक शनिवार (6 अक्टूबर) को राहुल गांधी विस्तारा की फ्लाइट से बैंकॉक के लिए रवाना हो गए और 10 अक्टूबर तक वापस लौट आएंगे. ये साफ नहीं है कि राहुल गांधी किस वजह से बैंकॉक गए हैं. दो सप्ताह बाद ही दो राज्यों में चुनाव हैं और कांग्रेस अंदरुनी जंग में उलझी हुई है. ऐसे में राहुल गांधी के बैंकॉक जाने पर सवाल उठ रहे हैं. महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राहुल गांधी के विदेश जाने से कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि राहुल गांधी किस लिए बैंकॉक गए हैं। दो सप्ताह बाद ही दो महत्वपूर्ण राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं और कांग्रेस अंदरुनी जंग में उलझी हुई है, तब राहुल गांधी के बैंकॉक जाने पर सवाल उठ रहे हैं। गौरतलब है कि इससे पहले 2015 में भी राहुल गांधी के बैंकॉक जाने को लेकर सवाल उठे थे। इस बीच ट्विटर पर बैंकॉक टॉप पर ट्रेंड कर रहा है। महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव में कांग्रेस ने राहुल गांधी को अपने स्टार प्रचारकों की सूची में भी शामिल किया है।
भाजपा नेताओं ने ली चुटकी
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बैंकॉक जाने पर चुटकी लेते हुए भाजपा आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने ट्वीट किया कि क्या आप भी हैरान हैं कि बैंकॉक क्यों ट्रेड कर रहा है। अभी तक कांग्रेस का इस पर कोई बयान नहीं आया है।
पार्टी की तरफ से भी इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है. हरियाणा की 90 सीटों और महाराष्ट्र की 288 सीटों पर 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होने वाला है. दोनों राज्यों के नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे.
इससे पहले 2015 में भी राहुल के बैंकॉक जाने पर सवाल उठे थे. खास बात ये है कि महाराष्ट्र और हरियाणा में कांग्रेस ने पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को स्टार प्रचारकों की लिस्ट में शामिल किया हुआ हैं, लेकिन दोनों राज्यों के चुनावों को वह छोड़कर चले गए हैं. वहीं हरियाणा बीजेपी के नेता जवाहर यादव ने ट्वीट कर कहा है, ‘अहमद पटेल साहब कल भूपेंद्र सिंह हुड्डा से पूछ रहे थे पार्टी गई कहां? आज पता चला पार्टी बैंकॉक गई है.’
अहमद पटेल साहब कल @BhupinderSHooda साहब से पूछ रहे थे पार्टी गई कहा ? आज पता चला पार्टी बैंकॉक गई है ।@narendramodi @mlkhattar @TajinderBagga pic.twitter.com/iHiYmh84PV
— Jawahar Yadav (@jawaharyadavbjp) October 5, 2019Just in case you are wondering why is Bangkok trending… https://t.co/1uhgdvaXqZ
— Amit Malviya (@amitmalviya) October 5, 2019
महाराष्ट्र और हरियाणा में प्रत्याशियों के नॉमिनेशन हो चुके हैं. 21 अक्टूबर को दोनों राज्यों में वोट डाले जाएंगे. 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे. दोनों राज्यों में कांग्रेस नेता आपस में ही भिड़े हुए हैं.
हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने शनिवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया. तंवर पिछले महीने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद से नाराज चल रहे थे और इसी सप्ताह उन्होंने समर्थकों के साथ पार्टी अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के यहां स्थित आवास के बाहर धरना दिया . उन्होंने पार्टी पर चुनावको सीटों पर उम्मीदवार चुनने में धांधली का आरोप लगाया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि हरियाणा में धन बल का उपयोग किया गया है और आम कार्यकर्ताओं को नजरंदाज किया गया है. पार्टी के दलित चेहरा रहे तंवर ने ट्वीट किया,”पार्टी कार्यकर्ताओं से लंबे विचार-विमर्श के बाद और सभी कांग्रेसियों और जनता की भलाई के लिए मैं पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं.”वहीं महाराष्ट्र में संजय निरुपम को नाम स्टार प्रचारकों की लिस्ट में नहीं रखा गया
बचाव में उतरी कांग्रेस, कहा- पेशेवर और निजी जीवन में फर्क समझे
हरियाणा और विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में जारी आंतरिक विवाद के बाद खबर आई कि पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी छुट्टी मनाने बैंकॉक चले गए हैं। इससे पार्टी की और मुसीबतें बढ़ गईं हैं। राहुल के बैंकॉक ट्रीप पर जाते ही कांग्रेस पार्टी की फजीहत शुरू हो गई। विरोधियों ने इसे हाथों-हाथ लपक राहुल गांधी के बहाने कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा। इसके बाद अब कांग्रेस राहुल के बचाव में उतर आई है।
कांग्रेसी नेता अभिषेक मनु सिंघवी रविवार को पार्टी नेता राहुल गांधी के बचाव में सामने आ ट्वीट करके कहा कि पेशेवर जीवन के साथ व्यक्तिगत जीवन को न मिलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘ हमें हर किसी के स्वतंत्रता और गोपनीयता का ध्यान रखना चाहिए और इसमें दखल नहीं देना चाहिए। आखिरकार, यह एक प्रगतिशील और उदार लोकतंत्र का मूल और स्पष्ट सिद्धांत है।’ उन्होंने अपने ट्वीट में बैंकॉक और राहुल गांधी हैशटैग इस्तेमाल किया। गौरतलब है कि ट्वि‍टर पर बैंकॉक और राहुल गांधी ट्रेंड कर रहा है।
विपक्षियों को पार्टी पर निशाना साधने का मौका
महाराष्ट्र और हरियाणा में मतों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी। दोनों राज्यों में पार्टी के भीतर कलह की खबर है। ऐसे में राहुल का अचानक विदेश चले जाने से न सिर्फ पार्टी कि सिरदर्द बढ़ गई है, बल्कि विपक्षियों को पार्टी पर निशाना साधने का एक और मौका मिल गया।
2015 में भी गए थे बैंकॉक
बता दें कि, यह पहला ऐसा अवसर नहीं है जब राहुल गांधी विदेश गए हों और पार्टी की फजीहत हुई हो। भाजपा हमेशा से राहुल पर निशाना साधने के लिए इस मुद्दे का जिक्र करती रहती है। इससे पहले वो साल 2015 में भी वे अहम वक्त पर बैंकॉक चले गए थे। इसके बाद से ही भाजपा इसे लेकर उन पर हमलावर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *