बरेली,  नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने समीक्षा बैठक के बाद भोजीपुरा औद्योगिक क्षेत्र में बरेली वुडन क्राफ्ट एक्सपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड का निरीक्षण किया। यह फैक्ट्री पूर्व मंत्री भगवत सरन गंगवार के बेटे अमित की है। कामकाज देखकर नवनीत सहगल  ने उनसे कहा कि सरकार ने आपको 11 करोड़ अनुदान दिया है। यह आपकी व्यक्तिगत प्रापर्टी नहीं है। कुछ काम आम लोगों के लिए भी करें।केवल उत्पाद बनाना, निर्यात करना पर्याप्त नहीं। प्रमुख सचिव नवनीत सहगल शाम को फैक्ट्री पहुंचे। यहां दस्तावेजों को देखे। निरीक्षण के दौरान ही अमित गंगवार भी पहुंच गए। प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने उनसे अनुदान की रकम से आम लोगों के लिए भी कार्य करने को कहा। पूर्व मंत्री के बेटे ने जवाब दिया आम लोग फैक्ट्री में आते ही नहीं हैं। इस पर प्रमुख सचिव नवनीत सहगल बोले आपने लोगों को जागरूक किया ही नहीं होगा। डीएम नितीश कुमार से उन्होंने स्कूलों का फर्नीचर इसी फैक्ट्री में बनवाने के लिए कहा। यहां सरकारी कार्यो वाला फर्नीचर केवल यूजर चार्ज देकर बनवा सकते हैं। डीएम ने खुद इस मामले को देखने की बात कही।

नोडल अधिकारी का चढ़ा पारा कोटेदार पर दर्ज करवाया मुकदमा

बरेली के नोडल अधिकारी एवं प्रमुख सचिव नवनीत सहगल गुरुवार को जमीनी हकीकत से रूबरू हुए। थाने से लेकर बिजली उपकेंद्र तक देखा। यूरिया से लेकर राशन वितरण तक की स्थिति परखी। हर जगह कमियां मिलने पर पारा चढ़ा तो कार्रवाई मौके पर की। महिला अपराध नियंत्रण न होने पर हाफिजगंज थाना प्रभारी को फटकार लगाई। उपकेंद्र से गैरहाजिर जेई को चेतावनी जारी की। यूरिया वितरण का हिसाब न दे पाने पर समिति सचिव पर कार्रवाई तो गरीबों को कम राशन बांटने पर कोटेदार से वसूली व मुकदमा के आदेश दिए।

साधन सहकारी समित पहुंचे  नोडल अधिकारी

ट्रेन लेट होने पर दोपहर पौने दो बजे सर्किट हाउस पहुंचे। स्वागत, अफसरों से औपचारिक भेंट कर चंद मिनट बाद ही हालात परखने निकल पड़े। सेटेलाइट चौराहे पर ओवरब्रिज निर्माण कार्य देख रुक गए। सेतु निगम के अफसरों को दोनों ओर स्लैब डालकर काम जल्द पूरा करने को कहा। वहां से नवाबगंज की ओर मुड़े और रिठौरा के मोहनपुर में साधन सहकारी समिति पहुंचे।

यूरिया के हिसाब किताब में गड़बड़ाया सचिव

समिति सचिव सत्यपाल से यूरिया वितरण का हिसाब मांगा। वह नहीं दे सके तो कार्रवाई के निर्देश दिए। फिर पशु आश्रय गृह जा पहुंचे। पशुओं के भोजन में चोकर व हरा चारा कम होने पर नाराजगी जताई। हाफिजगंज उपकेंद्र में जेई नहीं मिले। दर्ज शिकायतों का निस्तारण मिला न बिजली चोरी पर लगाम।

प्रमुख सचिव ने देखा सेटेलाइट ओवरब्रिज का हाल

रसुइया रेलवे लाइन पर काम के चलते प्रमुख सचिव फरीदपुर के पितांबरपुर स्टेशन पर ही उतर गए थे। वहां से एसडीएम विशुराजा के साथ कार में सर्किट हाउस आए। इस दौरान उन्होंने नकटिया पर आरटीओ दफ्तर के बाहर भीड़-भाड़ देखकर पूछा। फिर सेटेलाइट तिराहे पर निर्माणाधीन ओवरब्रिज के बारे में जानकारी ली। सर्किट हाउस में उन्होंने सेतु निगम के उप परियोजना प्रबंधक को बुला लिया। उनसे निर्माण की प्रगति पूछी।

नवाबगंज को जाते वक्त फिर पुल निर्माण देखने को गाड़ी से उतर गए। शाहजहांपुर रोड की ओर पुल पर स्लैब का काम हो रहा था। शहर की ओर सिर्फ पिलर बने खड़े थे। इस पर उन्होंने कहा कि दोनों ओर से एक साथ स्लैब बनाने का काम करो, तभी काम में गति आएगी। उन्होंने स्लैब डालने से पहले लैब से टेस्टिंग किए जाने के बारे में पूछा। डीपीएम ने लैब टेस्टिंग कराने की जानकारी दी। इस पर उन्होंने सीडीओ को लैब टेस्टिंग रिपोर्ट लेने के निर्देश दिए। इसके बाद काफिला आगे बढ़ गया।

गाड़ी से उतरकर देखा पुल पर स्लैब डालने का काम

जलभराव के बीच से गुजरे

फैक्ट्री से निकलने के बाद प्रमुख सचिव नैनीताल रोड पर पेट्रोल पंप के पास जलभराव के बीच से गुजरे। इंडस्ट्री एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय शुक्ला ने औद्योगिक क्षेत्र में पानी की निकासी और जलभराव की समस्या प्रमुख सचिव के सामने रखी।

प्रमुख सचिव के सामने थाने के रजिस्टर ने उगला राज

फाइलों में आंकड़े और कागजों पर निस्तारण। हकीकत परखने आए नोडल अधिकारी नवनीत सहगल ने हाफिजगंज थाने में पुलिस का यही झूठ पकड़ लिया। समाधान दिवस के रजिस्टर से दुलारी देवी की शिकायत पर उन्हें फोन मिलवा दिया। पता चला शिकायत का निस्तारण ही नहीं किया गया था, जबकि निस्तारित दर्ज था। इस पर पारा चढ़ गया। स्टाफ से कहा निस्तारण न करोगे तो शिकायत करने कौन आएगा। अपराध का ग्राफ भी बढ़ेगा।

घंटे भर में थाने का ‘एक्स-रे’

नवनीत सहगल ने करीब एक घंटे में थाना दिवस, समाधान दिवस, क्राइम रजिस्टर चेक किए। अपहरण, दुष्कर्म, छेड़छाड़ सहित महिला अपराध के मामले बढ़ने पर नाराजगी जताई। ई-एफआइआर पोर्टल पर सिर्फ एक मुकदमा दर्ज दिखने पर हैरान हुए। बोले, समस्याओं का समाधान होगा तो क्राइम भी घटेगा। थाना प्रभारी को हिस्ट्रीशीटरों का रजिस्टर न दिखा पाने पर फटकार लगाई। हिस्ट्रीशीटरों का हर दस दिन में सत्यापन के निर्देश दिए।

बिजली चोरी नहीं रुकने पर कार्रवाई

थाने के पास ही उपकेंद्र पर पहुंचे। वहां तार फैले देखकर नाराज हुए। एक्सईएन सुशील गर्ग से कनेक्शन की संख्या, लाइन लॉस, थ्रू-रेट का ब्योरा पूछा। हाजिरी व शिकायत रजिस्टर चेक किया। दस जनवरी के बाद सिर्फ एक शिकायत थी। 90 फीसद शिकायतें अनिस्तारित मिलीं। ट्रांसफर बदलने का रजिस्टर मांग, जो नहीं मिला। इस पर भड़के नोडल अधिकारी ने फटकार लगाई। कहा, लोग परेशान घूम रहे हैं। बिजली चोरी काफी मिलने पर वहां जेई को चेतावनी जारी करने को कहा।

पशुओं को कम दे रहे चोकर व हरा चारा

रिठौरा पशु आश्रय गृह में प्रमुख सचिव के आने से पहले ही व्यवस्थाएं ठीक कर ली गई थीं। चारा, पानी, ठंड से बचने के इंतजाम मिले। नवनीत सहगल ने चारे में हाथ डालकर देखा। इसमें चोकर व हरा चारा कम मिला। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को हरा चारा बढ़ाने, गुड़ तोड़कर खिलाने के निर्देश दिए।

साल भर से रुका स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण

पशु आश्रय गृह के बगल में ही निर्माणाधीन स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया। वहां सिर्फ ढांचा बना है। पता चला एक साल से काम रुका है। 50 फीसद ही काम हुआ है। सीएमओ डॉ. विनीत शुक्ला ने बताया कि कार्यदायी संस्था सीएंडडीएस काम कर रही है। बजट खत्म हो चुका है। प्रोजेक्ट मैनेजर ने रिवाइज बजट भेजने की जानकारी दी।