जानकारी : मास्क के बाद भी कोरोना? जिम्मेदार आपके तौर-तरीके,मास्क के लेयर

ऐसी ब्रेफिक्री कहीं मामले और न बढ़ा दे:मास्क लगाने के वो तरीके जो संक्रमण को बढ़ाएंगे,कहीं आप भी तो ऐसे मास्क नहीं लगाते;अलर्ट हो जाएं
नई दिल्ली 16 जुलाई। देश में कोरोना के साढ़े नौ लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं,कई शहरों में शनिवार और रविवार को दोबारा लॉकडाउन लगाने की घोषणा हुई
विशेषज्ञों के मुताबिक,मास्क ऐसे लगाएं ताकि मुंह-नाक अच्छे से कवर हो जाए,इसे हटाकर गले-कान में टांगना संक्रमण की वजह बन सकता है।
देश में करीब 6 महीने से लगातार मास्क पहनने की सलाह दी जा रही है,लोग इसे लगा तो रहे हैं लेकिन अपने अंदाज में। नतीजा लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। कई शहरों में शनिवार और रविवार को दोबारा लॉकडाउन लगाने की नौबत आ गई है,इसके बावजूद वे बेफिक्र है।
विशेषज्ञों का कहना है,कई ऐसे मामले आ रहे हैं जो कहते हैं हमने मास्क तो लगाया फिर भी कोरोना का संक्रमण हो गया। इसकी वजह यह भी है लोग मास्क को लगाने में गंभीरता नहीं दिखा रहे और न ही मुंह-नाक को ठीक से ढंकना उचित समझ रहे हैं।

देश में कोरोना के साढ़े नौ लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं,इस बीच लोगों के मास्क लगाने के तरीकों को कैमरे में कैद किया गया ताकि दूसरे लोग ऐसा न करें। देखिए कुछ ऐसी ही तस्वीरें…

गमछा,रुमाल और घर पर बने मास्क कितने सेफ हैं?


एम्स भोपाल के पैथोलॉजी डिपार्टमेंट की हेड डॉक्टर नील कमल कपूर के अनुसारनाक और मुंह को ढकने को जो कपड़े का इस्तेमाल किया जा रहा है वह सिंगल लेयर वाला नहीं होना चाहिए। अगर गमछा इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसे इस तरह आंख के नीचे से लेकर ठोड़ी तक इस तरह बांधें कि तीन लेयर बनें,तभी वायरस के कणों से बचाव हो सकता है। रुमाल सिंगल लेयर है तो यह सही नहीं है क्योंकि अक्सर रुमाल नीचे की तरफ से खुला रहता है इससे संक्रमण का खतरा रहता है।

मास्क लगाने वाले अक्सर क्या गलतियां करते हैं?
डॉक्टर नीलकमल कपूर कहती हैं,अक्सर लोग मास्क लगाते समय इसकी डोरियों को टाइट नहीं करते। कई बार ऊपरी डोरी बांधते हैं और नीचे की छोड़ देते हैं। कुछ लोग बार-बार मास्क नाक से खिसका देते हैं। ऐसा न करें। इस तरह मास्क लगाने से संक्रमण का खतरा रहता है। कहीं जा रहे हैं, ऑफिस में हैं या बाजार में हैं, घर से बाहर रहने पर हर समय मास्क लगाए रखें। मास्क हटाकर बिना हाथ धोए मुंह, नाक न छुएं।

मास्क कैसा होना चाहिए?
मास्क ऐसा होना चाहिए जो आंखों के नीचे से लेकर ठोड़ी तक कवर करे। यह ढीला नहीं होना चाहिए। चिकित्सा क्षेत्र में अलग-अलग लोगों के लिए मास्क अलग हैं,लेकिन आम जनता के लिए सबसे बेहतर है वे तीन लेयर वाला कपड़े का मास्क लगाएं। हर व्यक्ति अपने पास 2-3 मास्क रखे ताकि उसे धोकर इस्तेमाल किया जा सके। इसे रोजाना साबुन-पानी से धोएं और धूप में सुखाएं।

होममेड मास्क में कौन सा कपड़ा लगाएं?
डॉक्टर नीलकमल कपूर कहती हैं,इसे बनाने के लिए किसी खास तरह के कपड़े को लेकर कोई गाइडलाइन नहीं है। कॉटन का कपड़ा बेहतर है,इसकी तीन परतें बनाकर मास्क तैयार कर सकते हैं। यह संक्रमण से बचाता है,पसीना सोखता है और सांस लेने में दिक्कत नहीं होती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *