राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले रामदास कदम व संजय राउत

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले रामदास कदम व संजय राउत
मुंबई में शिवसेना नेता रामदास कदम और संजय राउत ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की।संजय राउत ने मुलाकात के बाद कहा कि हम चाहते है कि जल्द सरकार बने।
मुंबई, । शिवसेना नेता रामदास कदम और संजय राउत ने सोमवार को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। बताया जाता है कि इस मुलाकात के दौरान संजय राउत ने राज्यपाल के सामने अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनने में हो रही देरी के लिए शिवसेना कतई जिम्मेदार नहीं है। साथ ही, महाराष्ट्र में सरकार बनने की संभावनाओं पर भी चर्चा की। इसके अलावा इन तीनों नेताओं ने कई अन्य मसलों पर भी इस दौरान चर्चा की है। संजय राउत ने कहा कि राज्यपाल ने हमारी बातें धैर्यपूर्वक सुनी।इस मौके पर हमने कहा कि जिसके पास बहुमत है उसे सरकार बनाने की अनुमति दी जानी चाहिए।यह बैठक ऐसे समय हुई है जब एक दिन पहले ही राज्यसभा सदस्य राउत ने दावा किया था कि जल्द ही “170 विधायकों” के समर्थन से उनकी पार्टी का मुख्यमंत्री होगा।
प्रदेश में सरकार गठन को लेकर गतिरोध अभी बना हुआ है। इस बीच संजय राउत ने रविवार को कहा था कि भाजपा के साथ बातचीत सिर्फ मुख्यमंत्री पद के मुद्दे पर होगी।मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अकोला में रविवार को बताया था कि नयी सरकार का गठन जल्द होगा। गतिरोध के बीच, शिवसेना राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से भी संपर्क साधती दिख रही है क्योंकि राकांपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने रविवार को पत्रकारों के सामने राउत द्वारा उन्हें भेजे गए एक संदेश का खुलासा किया। संदेश में लिखा था: “नमस्कार, मैं संजय राउत। जय महाराष्ट्र।”
इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पवार ने कहा था कि इसका मतलब मुझे उन्हें फोन करना चाहिए। मैं फोन कर, जांच करूंगा। महाराष्ट्र में सरकार गठन पर अस्पष्ट स्थिति के बीच राकांपा अध्यक्ष शरद यादव का सोमवार को नयी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का कार्यक्रम है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का भी सोमवार को ही भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का कार्यक्रम है। महाराष्ट्र में 288 सदस्यीय विधानसभा के लिये हाल में हुए चुनाव में भाजपा ने 105 सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि शिवसेना के खाते में 56 सीटें आई हैं। राकांपा ने 54 सीटें जीतीं और कांग्रेस के खाते में 44 सीटें आई हैं।
शिवसेना का 170 से ज्यादा विधायकों के समर्थन का दावा
शिवसेना सांसद संजय राउत ने गौरतलब है कि रविवार को अपनी पार्टी के पास सरकार बनाने के लिए 170 से ज्यादा विधायकों का समर्थन होने का दावा किया था। उन्होंने कहा है कि यदि भाजपा सरकार बनाने में असमर्थ रही तो शिवसेना का मुख्यमंत्री र्गीय बालासाहब ठाकरे के समाधिस्थल शिवतीर्थ पर शपथ लेगा। राउत ने राकांपा नेता अजीत पवार को मोबाइल से संदेश भेजकर संपर्क साधने की कोशिश भी की।
शिवसेना के वरिष्ठ नेता राउत ने रविवार को पत्रकारों से कहा कि सरकार बनने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा झूठ बोलने वाले लोग हैं, जो अपने किए गए वादे से पीछे हटते दिखाई दे रहे हैं। महाराष्ट्र के मामले में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की चुप्पी को रहस्यमय करार देते हुए संजय राउत ने कहा कि हरियाणा जैसे छोटे राज्य में शुरू हुई अड़चन के समय अमित शाह ने पहल करके जिस तरह हल निकाला, महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्य में भी वह हल निकाल सकते थे। राउत का मानना है कि चूंकि लोकसभा चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे से अमित शाह की ही बात हुई थी। इसलिए अब भी यदि शाह एक बार उद्धव ठाकरे के सामने बैठ जाते तो समस्या का समाधान आसानी से निकल सकता था।
उद्धव ठाकरे बोले, जल्द हमारी सरकार बनते देखेंगे
इस बीच, बेमौसम बरसात से बेहाल किसानों का हाल जानने औरंगाबाद गए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मीडियाकर्मियों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि आप जल्दी ही शिवसेना की सरकार बनते हुए देखेंगे। संजय राउत से सरकार बनाने लायक विधायकों के समर्थन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हमें कल तक 170 विधायकों का समर्थन हासिल था। यह संख्या अब बढ़कर 170 से भी दो-तीन ज्यादा हो गई है। उनके अनुसार यह 175 तक भी पहुंच सकती है। राउत ने केंद्र में दो मंत्रीपद व दो राज्यपाल जैसी किसी मांग के फार्मूले से साफ इंकार करते हुए कहा कि शिवसेना बाजार में नहीं बैठी है। मुख्यमंत्री पद पर ही चर्चा होगी। अगर नहीं होती तो शिवसेना अपनी ताकत पर अपना मुख्यमंत्री बनाकर दिखाएगी।
अजीत पवार ने कहा, हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश
राउत के इस दावे पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) विधायक दल के नेता अजीत पवार का कहना है कि उन्हें शिवसेना के पास 175 विधायकों का समर्थन होने की कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। बता दें कि रविवार को संजय राउत ने कांग्रेस-राकांपा की एक बैठक के दौरान ही अजीत पवार को मोबाइल से एक संदेश भेजा था। अजीत पवार ने इसकी जानकारी मीडिया को देते हुए कहा कि चुनाव परिणाम आने के बाद पहली बार राउत ने उनसे संपर्क किया है। अब वह उनसे फोन पर बात करेंगे। लेकिन अजीत पवार ने फिर दोहराया कि उन्हें और कांग्रेस को मिलाकर 110 सीटें मिली हैं। जनता ने हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया है। सरकार बनाने का जनादेश भाजपा-शिवसेना गठबंधन को मिला है। उन्हें जल्द सरकार बनाकर राज्य की समस्याओं को दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *