लव जिहाद: हिंदू नाम रख शमशाद ने महिला का फ्लैट भी बेच खाया,भेद खुला तो मां-बेटी को मार मकान में किया दफन

लव-जिहाद : मेरठ में मां-बेटी की हत्या कर शव को घर के अंदर दफनाया, दोनों के गायब होने पर सहेली ने दर्ज कराया था मुकदमा
लव-जेहाद में परतापुर के भूड़ बराल में मां बेटी की हत्या करने के बाद शव को घर के अंदर जमीन में गाड़ दिया। सनसनीखेज वारदात को महिला के प्रेमी ने ही अंजाम दिया है।…

मेरठ, । मेरठ में अभी एक और लव जिहाद का मामला सामने आया है। लव-जेहाद में परतापुर के भूड़ बराल में मां बेटी की हत्या करने के बाद शव को घर के अंदर जमीन में गाड़ दिया। सनसनीखेज वारदात को महिला के प्रेमी ने ही अंजाम दिया है। प्रेमी से पूछताछ के बाद पुलिस ने घर की खोदाई करने के बाद दोनों के शवों को निकाल लिया है। महिला गाजियाबाद के लोनी की बताई जा रही है, जो पिछले पांच साल से अपनी बच्ची के साथ आरोपित की पत्नी बनकर रह रही थी।

हिंदु बताकर फंसाया था

गाजियाबाद के लोनी की रहने वाली प्रिया शादीशुदा थी। पांच साल पहले प्रिया को भूड़बराल में रहने वाले शमशाद से प्यार हो गया। शमशाद ने हिंदू नाम बताकर प्रिया को अपने प्रेम जाल में फंसाया था। प्रिया की एक बेटी कशिश भी उसके साथ रहती थी। शमशाद ने हिंदू नाम बदलकर प्रिया को अपने साथ रखा। इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्रा ने बताया कि शमशाद ने प्रिया और उसकी बेटी कशिश को पांच साल तक अपने साथ बतौर पत्नी बनाकर रखा। उसके बाद प्रिया को पता चला कि शमशाद विशेष संप्रदाय से जुड़ा हुआ है। इसी बात को लेकर प्रिया ने विरोध शुरू कर दिया। 28 मार्च को शमशाद ने मां-बेटी की हत्या करने के बाद शव घर के अंदर जमीन में गाड़ दिया।

प्रिया का फ्लैट बेचकर रकम भी हड़प ली

शमशाद ने प्रिया के काशीराम कालोनी स्थित फ्लैट को बेचकर रकम भी हड़प ली है। हत्या से एक माह पहले ही शमशाद ने उस मकान को बेचा था। माना जा रहा है कि शमशाद ने प्रिया और उसकी बेटी को पूरा प्लान बनाकर हत्या की है।

दस साल पहले ही पति ने छोड़ दिया था

प्रिया पहले से शादीशुदा थी। उसकी एक बेटी कशिश भी साथ रहती थी। पति को छोड़ देने के बाद प्रिया अपने मायके लोनी में रहने लगी थी। परिवार में कलह होने के कारण पिता का घर छोड़कर अपनी सहेली मोदीनगर निवासी चंचल के साथ रहने लगी थी। उसके बाद वहीं नाम बदले शमशाद से मुलाकात और घनिष्ठ संबंध बने । उसके बाद शमशाद के साथ पिछले पांच सालों से उसके मकान में रह रही थी। शमशाद भी मूल रूप से बिहार का रहने वाला है, जो पिछले 15 सालों से भूड़बराल में रह रहा है। एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह का कहना है कि सहेली चंचल की तहरीर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर शमशाद को गिरफ्तार किया। उसने पूछताछ में हत्या करना कबूल किया। शमशाद की निशानदेही पर घर के अंदर से मां बेटी के कंकाल बरामद कर लिए।
बताया जा रहा है कि इसके लिए जिस घर में वारदात हुई उसे जेसीबी की मदद से ढहा दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *