चक्कर: कांग्रेस को हंग एसेम्बली में केजरीवाल

का मददगार बनने की उम्मीद!!

कॉन्ग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने कर दी 2013 वाली बात: राजनीतिक पंडित चकराए!

“चुनावों के नतीजे आ जाएँ, फिर हम इस पर चर्चा करेंगे। मुझे नहीं लगता कि एग्जिट पोल के सर्वे सही हैं। एग्जिट पोल के सर्वे की अपेक्षा कॉन्ग्रेस बेहतर करेगी।”

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मतदान शनिवार को खत्म हो गया। अब जहाँ सभी की निगाहें 11 फरवरी को होने वाली मतगणना पर है, वहीं दिल्ली कॉन्ग्रेस आगामी सरकार में अपनी भूमिका को लेकर आशान्वित नजर आने की कोशिशों में है। रिपोर्ट्स के अनुसार कॉन्ग्रेस के प्रभारी पीसी चाको ने समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन की संभावना पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस का AAP से गठबंधन चुनावी नतीजे पर निर्भर करता है।

एएनआइ से बात करते हुए चाको ने कहा, “चुनावों के नतीजे आ जाएँ, फिर हम इस पर चर्चा करेंगे। मुझे नहीं लगता कि एग्जिट पोल के सर्वे सही हैं। एग्जिट पोल के सर्वे की अपेक्षा कॉन्ग्रेस बेहतर करेगी।”

ANI

 @ANI
  PC Chacko, Congress on being asked about any possibility of Congress-AAP alliance: It depends on the results. Once results are out then only we can discuss it; I think the surveys are not correct. Congress is likely to do better than what surveys predict. #DelhiElections

View image on Twitter
 160
59 people are talking about this

मजे की बात यह है कि चुनाव बाद हुए एग्जिट पोल में कॉन्ग्रेस सत्ता की दौड़ में काफी पिछड़ती नजर आ रही है। कई एग्जिट पोल में तो कॉन्ग्रेस को एक भी सीट मिलती नहीं दिखती। ऐसी स्थिति में पीसी चाको का बयान आशावादियों के लिए एक बेंचमार्क ही समझा जाना चाहिए।

– लेख आगे पढ़ें –

हालाँकि जानकारों के मुताबिक कॉन्ग्रेस के वोटों में इस बार वृद्धि होने की संभावना है, जो दहाई की संख्या तक भी पहुँच सकती है। लेकिन उसको मिलनी वाली सीटों की संख्या मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 2-4 से ऊपर जाने की कोई उम्मीद, कम से कम एग्जिट पोल्स के अनुसार तो नहीं ही नजर आ रही।

ध्यातव्य है कि 2013 में विधानसभा परिणाम त्रिशंकु आने पर एक दूसरे के खिलाफ लड़ने वाली केजरीवाल की पार्टी और कॉन्ग्रेस के बीच पहले भी गठबंधन हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *