तीन बच्चों समेत खुद को उड़ाया अमेरिकी सेना से घिरे इस्लामिक स्टेट सरगना बगदादी ने

सुरंग से भागने की कोशिश में मारा गया बगदादी:डोनाल्ड ट्रंप- बगदादी एक बीमार और बुरा आदमी था.डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, “वह किसी कायर की तरह मारा गया. अब दुनिया और भी सुरक्षित हो गई है. गॉड-ब्लेस अमेरिका. अबु बकर अल बगदादी मारा गया.” ट्रंप ने कहा कि बगदादी रोता-बिलखता हुआ मरा. उसने सुरंग के जरिए भागने की कोशिश की और वहीं पर मारा गया.
अमेरिकी सेना ने ये ऑपरेशन बीती रात चलाया. इस ऑपरेशन में बगदादी के साथ साथ उसके कई कमांडर और साथी भी मारे गए हैं.
नई दिल्ली: सीरिया में अमेरिकी हमले में इस्लामिक स्टेट का सरगना अबु बकर अल बगदादी मारा गया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकी बगदादी के मारे जाने की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि अमेरिकी सेना से घिरने के बाद बगदादी ने खुद को आत्मघाती धमाके से उड़ा लिया. इस आत्मघाती धमाके में उसके तीन बच्चों के भी मारे जाने की बात कही गई है.
दुनिया के सबसे बड़े आतंकी के खात्मे पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, “बगदादी की मौत अमेरिका के आतंकियों को खोजने के अथक प्रयासों को दिखाता है. साथ ही ये इस्लामिक स्टेट और अन्य आतंकी संगठनों को पूरी तरह से हराने की हमारी प्रतिबद्धता को भी दर्शाता है.”
उन्होंने कहा, “इस्लामिक स्टेट के लीडर ने अपने तीन बच्चों के साथ ऑपरेशन के दौरान खुद को ही उड़ा लिया.” ट्रंप के मुताबिक बगदादी एक सुरंग में छुपा हुआ था. जब अमेरिकी सेना ने उसे घरे लिया तो उसने आत्मघाती धमाका कर खुद की ही जान ले ली.
डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, “वो (बगदादी) अब दोबारा किसी बेगुनाह पुरुष, महिला या बच्चे को नुकसान नहीं पहुंचा पाएगा. वो कुत्ते की तरह मरा, वो कायर की तरह मरा. दुनिया अब और भी सुरक्षित हो गई है.ट्रंप ने बताया कि बगदादी अपने बच्चों के साथ सुरंग के जरिए भागने की कोशिश कर रहा था लेकिन कामयाब नहीं हो पाया. खुद को फंसता हुआ देख बगदादी ने अपनी सुसाइड वेस्ट जला ली और अपने तीन बच्चों समेत मारा गया.#WATCH US President Donald Trump: He (Abu Bakr al-Baghdadi) will never again harm another innocent man, woman or child. He died like a dog, he died like a coward. The world is now a much safer place.https://twitter.com/i/status/1188455769777328128
डोनाल्ड ट्रंप ने बगदादी और उसके सपोर्ट्स को लूजर बताया. ट्रंप ने कहा, “बगदादी एक बीमार और बुरा आदमी था लेकिन अब वो नहीं है. वह हिंसक था और हिंसा में ही मारा गया.” डोनाल्ड ट्रंप ने रूस, तुर्की, सीरिया, इराक और सीरियाई कुर्दों के सपोर्ट के लिए उन्हें धन्यवाद भी दिया. इसके अलावा डोनाल्ड ट्रंप ने अपने देश की इंटेलिजेंस और सेना को भी धन्यवाद दिया.
आपको बता दें कि अमेरिकी सेना ने ये ऑपरेशन बीती रात चलाया. इस ऑपरेशन में बगदादी के साथ साथ उसके कई कमांडर और लड़ाके भी मारे गए हैं.
इससे पहले आज राष्ट्रपति ट्रंप ने सीरिया में अमेरिकी सेना की कार्रवाई के बीच एक ट्वीट कर सभी को सस्पेंस में डाल दिया था. उन्होने कहा था कि अभी अभी कुछ बड़ा हुआ है. तभी से ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि अमेरिकी ने आतंकी सरगना बगदादी को लेकर कोई बड़ी कामयाबी हासिल की है.वहीं इराक की सरकारी टेलीविजन ने भी रविवार को बगदादी पर अमेरिकी हमले का एक फुटेज जारी किया. इसमें बम धमाके से जमीन में एक बड़ा गड्ढा बना हुआ दिखा. इसके पास ही खून से सने कपड़ों के चीथड़े बिखरे दिखे. टीवी रिपोर्ट में दावा किया गया कि अमेरिकी हमले में बगदादी की मौत हो गई है और ये कपड़े बगदादी के ही हैं.
Yeni Şafak English

@yenisafakEN
Iraqi state TV airs footage of raid on Baghdadihttps://www.yenisafak.com/en/video-gallery/news/iraqi-state-tv-airs-footage-of-raid-on-baghdadi-2202699 …

फुटेज में उस जगह का भी दिखाया गया है, जहां अमेरिकी सेना ने बीती रात बम बरसाए. यह फुटेज दिन के समय का है. फुटेज में आतंकवाद के एक विशेषज्ञ के हवाले से बताया गया है कि इराकी खुफिया एजेंसियों की मदद से बगदादी की लोकेशन ट्रेश की गई थी.अमेरिका के एक वरिष्ठ रक्षा अधिकारी और एक अन्‍य सूत्र के हवाले से सीएनएन की रिपोर्ट में कहा गया कि बगदादी की मौत की पुष्टि होनी अभी बाकी है. हालांकि डीएनए और बायोमेट्रिक जांच पूरी हो चुकी है. एक रक्षा अधिकारी के हवाले से यह भी कहा गया है कि बगदादी ने हमले के दौरान खुद को उड़ा लिया.
अभी भी बना है संशय
एक अमेरिकी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर रॉयटर्स को बताया कि बगदादी को रात में निशाना बनाया गया था, लेकिन यह अभी कंफर्म नहीं है कि ऑपरेशन सफल था या नहीं. हालांकि दो इराकी सुरक्षा सूत्रों और दो ईरानी अधिकारियों ने कहा है कि उन्‍हें सीरिया से बगदादी के मारे जाने की कंफर्म इंफार्मेशन मिली है.
वहीं न्यूजवीक ने अपनी खबर में बताया है कि दुनिया को सबसे ज्यादा जिस व्यक्ति की तलाश थी सभवत: वह मारा गया. बगदादी ने खुद को खलीफा भी घोषित कर रखा था और वह सार्वजनिक तौर पर सिर्फ एक बार जुलाई 2014 में मोसुल के अल-नूरी मस्जिद में नजर आया था और इराक तथा सीरिया में इस्लामिक स्टेट के जन्म की घोषणा की थी. इस मस्जिद पर इराकी सुरक्षाबलों ने 2017 में कब्जा कर लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *