ईश्वरन के पहले बिल्डर बत्रा का घर लूटने को था बर्खास्त डिप्टी कमांडेंट

अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी मालिक के घर में लूट का खुलासा, बीएसएफ से बर्खास्त अधिकारी समेत पांच गिरफ्तार पकड़े गए आरोपी
खास बातें
दिल्ली एनसीआर में देर रात तक चली कार्रवाई, कई संदिग्धाें को दबोचा
अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक के घर लूटपाट का मामला
बंगाल क्रिकेट टीम के कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन के पिता और अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक आरपी ईश्वरन की कोठी में हुई लाखों की डकैती का पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया।
गिरोह के सरगना और बीएसएफ के बर्खास्त डिप्टी कमाडेंट समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 11 लाख 70 हजार की नगदी और जेवरात बरामद किए गए। जबकि, तीन आरोपी अभी फरार हैं।
इससे पहले डकैतों के गैंग ने भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ के नाम का सहारा लेकर बिल्डर राकेश बत्रा के घर में डाका डालने का प्रयास किया था। यहां से नाकामी मिलने के बाद ईश्वरन के परिवार को निशाना बनाया।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी ने बताया कि घटना की तह तक जाने के लिए पुलिस को दिन रात एक करना पड़ा। एसपी सिटी श्वेता चौबे के नेतृत्व में एसओजी प्रभारी ऐश्वर्य पाल और उप निरीक्षक यासीन आदि की टीम के अथक प्रयासों के बाद मामले में आठ दिन बाद कामयाबी मिली। घटना में प्रयुक्त शेवरले बीट कार के आधार पर पुलिस ने पहले दिल्ली से अदनान निवासी पान मंडी सदर बाजार नई दिल्ली को गिरफ्तार किया।
जेवरात बेचकर आपस में बांट लिए पैसे
अदनान से पूछताछ के बाद मुख्य आरोपी वीरेन्द्र ठाकुर को दिल्ली के पहाड़गंज से दबोचा गया। ठाकुर पत्नी और बेटी के साथ कार से फरार होने के प्रयास में था। वीरेन्द्र ठाकुर मास्टर माइंड होने के साथ बीएसएफ से बर्खास्त डिप्टी कमांडेंट है।
इसके बाद रायपुर के आजाद नगर निवासी सैलून संचालक मुजिब्बुर रहमान उर्फ पीरू, फुरकान निवासी अलावलपुर हरिद्वार और फईम निवासी रघुबीर नगर नई दिल्ली की गिरफ्तारी हुई।
एसएसपी जोशी के मुताबिक इन लोगों ने कोठी से लूटे गए सोने के जेवरात 33 लाख रुपये में बेचे थे और पैसे आपस में बांट लिए थे। इनमें से करीब 11 लाख 69 हजार रुपये की नकदी के अलावा काफी माल बरामद हो गया है।
फरार हैदर ( निवासी नूरपुर बिजनौर), मिश्रा और फिरोज (निवासी रघुवीर नगर नई दिल्ली ) की गिरफ्तारी के प्रयास चल रहे हैं। लूट में प्रयुक्त कार भी जल्द मिलने की उम्मीद है। पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी ने पुलिस टीम को 20 हजार और पीड़ित ईश्वरन ने एक लाख 51 हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।
ये था मामला
बता दें कि मसूरी रोड स्थित अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक आरपी ईश्वरन की कोठी में 22 सितंबर की रात हथियार बंद बदमाशों ने परिजनों को आतंकित कर 60 लाख रुपये से अधिक की संपत्ति लूट ली थी।
कई दिन की भागदौड़ के बाद पुलिस के हाथ कुछ पुख्ता इनपुट लगे। इसी इनपुट पर कार्रवाई को आगे बढ़ाया गया। पुलिस दो दिन से संदिग्ध बदमाशों की तलाश में उत्तर प्रदेश और दिल्ली में दौड़ लगा रही थी।
अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के घर डकैती डालने में यूं धरे गये पांचों डकैत, तीन हैं फरार
राजपुर थाना पुलिस ने अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के घर डकैती डालने वाले पांच डकैतों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि तीन आरोपित फरार हैं। पुलिस ने आरोपितों के पास से 11 लाख की 69 हजार रुपये की नकदी और ज्वेलरी बरामद की है। आरोपितों में शामिल मुख्य आरोपित वीरेंद्र सिंह उर्फ ठाकुर साहब बीएसएफ में डिप्टी कमांडेंट पद से बर्खास्त है। पुलिस कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी ने बताया कि राजपुर थाना क्षेत्रांतर्गत मैक्स हॉस्पिटल के समीप रहने वाले अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक और चार्टर्ड एकाउंटेंट पश्चिम बंगाल क्रिकेट टीम कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन के पिता आरपी ईश्वरन की आलीशान कोठी में 22 सितंबर को डकैतों ने धावा बोला था। डकैतों ने ईश्वरन के घर से साठ लाख से अधिक की ज्वेलरी और नगदी लूटी थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की थी। पुलिस ने शहर और देहात में लगे हजारों सीसीटीवी कैमरे चेक किए थे। इसमें संदिग्ध कार की पहचान शेवरले की बीट के रूप में हुई। पुलिस ने कार के नंबर से मालिक का पता किया,जिसके बाद मालिक की पहचान शैलेंद्र (पुत्र चुन्नी लाल निवासी बीबी 261 बगरियान बस्ती थाना नवी करीम पहाड़गंज नई दिल्ली) के रूप में हुई।
पुलिस के संपर्क करने पर शैलेंद्र ने कार को सुनील को बेचने की बात कही, जिस पर पुलिस ने सुनील से संपर्क किया। सुनील ने कार अदनान (निवासी पान मंडी सदर बाजार नई दिल्ली) को दी थी। पुलिस ने अदनान को दिल्ली के थाना सदर बाजार से हिरासत में लिया था। इसके बाद पुलिस ने मास्टर माइंड वीरेंद्र सिंह उर्फ ठाकुर साहब (पुत्र अमेसिंह निवासी बी 247 छतरपुर थाना मैदानगढ़ी दिल्ली) को पहाड़ गंज दिल्ली, मुजिब्बुर रहमान उर्फ पीरू( पुत्र वहीद अली निवासी आजाद नगर थाना रायपुर) को घर से, फुरकान (पुत्र मुस्ताक निवासी अलावलपुर थाना भगवानपुर) को छुटमलपुर से, फिरोज (पुत्र सहाबुद्दीन निवासी रघुवीर नई दिल्ली) को भी गिरफ्तार किया है। एसएसपी ने बताया कि गिरोह में हैदर( पुत्र इस्माइलपुर निवासी महदूद गांव नूरपुर चांदपुर बिजनौर,उप्र),फईम (पुत्र सहाबुद्दीन निवासी रघुवीर नगर नई दिल्ली) और मिश्रा की तलाश में दबिशें दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि जांच में यह सामने आया है कि मास्टर माइंड वीरेंद्र सिंह बीएसएफ से वर्ष 2000 में रिश्वतखोरी में बर्खास्त हुआ है। बताया कि आरोपितों के पास से 11.69 लाख पांच सौ रुपये, गणेश की मूर्ति, आदि ज्वेलरी बरामद की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *