रोहित शर्मा ने रचा इतिहास, छक्‍के से दोहरा शतक पूरा कर डॉन ब्रेडमैन तक को छोड़ा पीछे

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) वनडे और टेस्ट में दोहरा शतक जड़ने वाले दुनिया के चौथे बल्लेबाज बन गए हैं
रांची. भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का शानदार प्रदर्शन जारी है. साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के पहले ‌दिन उन्होंने शतक पूरा किया था, जिसे दूसरे दिन उन्होंने दोहरे शतक में बदल दिया है. इससे पहले टेस्ट क्रिकेट में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का सर्वाधिक स्कोर 177 रन था. टेस्ट क्रिकेट में बतौर ओपनर पहली सीरीज खेल रहे रोहित ने पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जड़ा था. साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 176 रन बनाए थे, लेकिन उस समय वो दोहरे शतक से चूक गए थे. दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाज के बल्ले से 127 रन निकले थे. हालांकि रोहित शर्मा को अपना दोहरा शतक पूरा करने के लिए 40 मिनट का इंतजार करना पड़ा. जब वह 199 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे तभी लंच हो गया, जिसके बाद लंच ब्रेक से लौटने के बाद पहले ओवर में उन्होंने सिंगल लेने की कोशिश की, लेकिन असफल रहे. दूसरे सेशन का पहला ओवर लुंगी एंगिडी ने मेडन करवाया. रबाडा का दूसरा ओवर भी मेडन रहा. तीसरे ओवर में लुंगी एंगिडी की पहली गेंद को रोहित ने डीप मिड विकेट के ऊपर से गेंद को बाउंड्री के पार पहुंचाकर टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला दोहरा शतक पूरा किया.
रोहित शर्मा वनडे और टेस्ट में दोहरा शतक जड़ने वाले दुनिया के चौथे बल्लेबाज बन गए हैं. उनसे पहले सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और क्रिस गेल ऐसा कर चुके हैं.
रोहित शर्मा टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में छक्के के साथ दोहरा शतक पूरा करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं.
यह भी काफी दिलचस्प है कि रोहित ने इस मैच में अपना शतक और दोहरा शतक छक्के से ही पूरा किया.
साउथ अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ इस सीरीज में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने 500 से अधिक रन बना लिए हैं. 14 साल बाद कोई भारतीय ओपनर एक सीरीज में इस आंकडे तक पहुंच पाया. रोहित ऐसा करने वाले पांचवें भारतीय ओपनर बन गए हैं. आखिरी बार ऐसा कमाल वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने किया था. 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में सहवाग ने 500 से अधिक रन बनाए थे. विनोद मांकड, बुधि कुंदन और सुनील गावस्कर भी ऐसा कर चुके हैं. गावस्कर ने पांच बार ऐसा कमाल किया है.
रोहित शर्मा ने घर में टेस्ट क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ औसत के मामले में डॉन ब्रेडमैन को भी पीछे छोड़ दिया है. रोहित का औसत 99.84 है, जबकि ब्रेडमैन का औसत 98.22 का रहा.
रोहित शर्मा एक सीरीज में 500 से अधिक रन बनाने वाले पांचवें भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं
रोहित शर्मा (Rohit Sharma) साउथ अफ्रीका के खिलाफ दो बार 150 से अधिक रन की पारी खेलने वाले पहले भारतीय ओपनर भी बन गए हैं. वहीं ओवरऑल आठवें खिलाड़ी बन गए. माइकल क्लार्क के बाद ऐसा करने वाले वह दुनिया के पहले खिलाड़ी हैं. क्लार्क ने 2012-2013 में ऐसा किया था.
रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और अजिंक्य रहाणे (Ajinka Rahane) के इस पारी में 267 रन की साझेदारी हुई, जो साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच में भारत की तीसरी सर्वश्रेष्ठ पार्टनरशिप है. मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा के बीच पहले टेस्ट मैच में 317 रन की हुई पार्टनरशिप सर्वश्रेष्ठ है. इसके बाद 2008 में राहुल द्रविड और वीरेंन्‍द्र सहवाग के बीच 268 रन की पार्टनरशिप है.
एक सीरीज, तीन मैच; तीनों में दोहरे शतक, टीम इंडिया ने पहली बार किया यह कारनामा…
भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेली जा रही सीरीज ऐतिहासिक साबित हो रही है. इस सीरीज में ऐसा बहुत कुछ हो चुका है, जो विश्व क्रिकेट या कम से कम इन दोनों देशों के इतिहास में पहली बार हुआ. ऐसा ही एक रिकॉर्ड रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के दोहरा शतक लगाते ही बना. रोहित शर्मा ने तीसरे टेस्ट में 212 रन बनाए. यह रोहित शर्मा का सीरीज में तीसरा शतक और पहला दोहरा शतक है.
भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच खेली जा रही मौजूदा सीरीज में यह तीसरा मौका है जब किसी भारतीय ने दोहरा शतक लगाया है. विशाखापत्तनम में खेले गए मैच में मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने दोहरा शतक बनाया था. उन्होंने तब 215 रन की पारी खेली थी. इसके बाद पुणे में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने 254 रन की नाबाद पारी खेली. यह 2019 में टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ा स्कोर भी है.
यह भारतीय क्रिकेट इतिहास में सिर्फ दूसरा मौका है, जब किसी एक टेस्ट सीरीज में भारत की ओर से तीन दोहरे शतक लगे हैं. इससे पहले 1955-56 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई सीरीज में ऐसा बेहतरीन प्रदर्शन देखने को मिला था. तब वीनू मांकड़ (223, 231) ने सीरीज में दो और पॉली उमरीगर (223) ने एक दोहरा शतक लगाया था. लेकिन यह क्रिकेट इतिहास में पहला मौका है, जब भारत के तीन बल्लेबाजों ने एक ही सीरीज में दोहरे शतक लगाए हैं.
इसी तरह यह सिर्फ दूसरा मौका है, जब भारत के बल्लेबाजों ने लगातार तीन टेस्ट मैचों में दोहरे शतक लगाए हैं. इससे पहले 2015-16 में ऐसा अवसर आया था. तब इंग्लैंड के खिलाफ विराट कोहली ने 235 और करुण नायर ने 303 रन की पारियां खेली थीं. इसके बाद विराट कोहली ने बांग्लादेश के खिलाफ 204 रन बनाए थे.
भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट की बात करें तो मैच के दूसरे दिन रोहित शर्मा ने अपना दोहरा शतक पूरा किया. रोहित ने अपनी पारी में छह छक्के और 28 चौके लगाए. वे छक्के की तलाश में फाइन लेग बाउंड्री पर कैच हुए. उन्होंने छक्के लगाकर शतक व दोहरा शतक पूरा किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *