ऋषिकेश से सीएम राहत कोष में 5.33 तो पीएम केयर्स में 2.13 लाख

ऋषिकेश 15 मई। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से देहरादून स्थित उनके शासकीय आवास पर भेंट की। इस दौरान श्री अग्रवाल ने कोरोना संक्रमण में राहत कार्यों के लिए ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के लोगों एवं संस्थाओं द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए दिये गये 5 लाख 33 हजार रुपये की सहायता राशि के चेक मुख्यमंत्री को सौंपे।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने गंगा सेवा समिति ,ऋषिकेश के 5,11000 रुपये, व्यवसायी साकेत कनौडिया के 11000 रुपये एवं डॉक्टर रामेश्वर दास महाराज, हनुमंत मंदिर के पीठाधीश्वर के 11,100 रुपये राहत कोष के लिए दिये गये चेक मुख्यमंत्री को सौंपे। इस दौरान अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि व्यवसायी राकेश कनौडिया ने 1,02000 रुपये एवं डॉक्टर रामेश्वर दास महाराज ने 1,11000 के चेक प्रधानमंत्री केयर फंड में जमा करने के लिए प्रेषित कर दिए हैं।
इस अवसर पर दोनों ही नेताओं के बीच कोविड-19 से संबंधित राहत बचाव कार्यों पर भी चर्चा हुई । साथ ही प्रदेश में वापस लौट रहे प्रवासियों की व्यवस्था एवं प्रबंधन के संबंध में भी वार्ता हुई।
क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से फोन पर बात
कोरोना संक्रमण को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत नगर निगम पार्षदों सहित ग्रामीण क्षेत्रों के ग्राम प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों एवं जिला पंचायत सदस्यों से फोन पर वार्ता कर सभी का हालचाल जाना। इस दौरान अग्रवाल ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं राहत कार्यो के संबंध में जानकारी प्राप्त की।

विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से क्षेत्र में गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को दी जा रही राहत सामग्री, मास्क एवं सैनिटाइजर के प्रबंधन के संबंध में वार्ता की।इस दौरान अग्रवाल ने विभिन्न राज्यों से आने वाले प्रवासियों को रहने के लिए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर के बारे में भी जानकारी ली।श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रवासियों में भी कोरोना संक्रमण की जानकारी प्राप्त हो रही है इसलिए क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों को सतर्कता एवं मुस्तैदी से कार्य करना होगा। अग्रवाल ने कहा कि क्वॉरेंटाइन किए गए लोगों को सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराना सबकी जिम्मेदारी है।
अग्रवाल ने कहा कि राज्य सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में आने वाले प्रवासियों की व्यवस्था की जिम्मेदारी प्रधानों को सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि ऐसे में प्रवासियों को लॉकडाउन का पालन करने एवं सरकार के निर्देशों की जानकारी देना प्रधानों की बड़ी जिम्मेदारी होगी। अग्रवाल ने इस दौरान सभी जनप्रतिनिधियों से फोन पर कहा कि क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाना आवश्यक है साथ ही मास्क कवर एवं स्वच्छता रखे जाने को जागरूक करने की जरूरत है।
विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्र के नगर निगम पार्षदों,प्रधानों, उपप्रधानों क्षेत्र पंचायत सदस्यों एवं जिला पंचायत सदस्यों से अनुरोध किया कि सभी मिलकर अपने सामाजिक दायित्व का पालन कर कोरोना की लडाई में आत्मबल के साथ एकजुटता से सेवा करें होगी जिससे इस लड़ाई में हमें विजय प्राप्त होगी। अग्रवाल ने इस दौरान सभी जनप्रतिनिधियों के क्षेत्र में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किये जा रहे सामाजिक कार्यों पर उनका आभार भी व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *