फैक्ट चैक: अनुजा युवक को जूते में पेशाब पिलाने का दावा झूठा, शरारतपूर्ण

फैक्ट चेक / लड़के को जूते में पेशाब पिलाने वाला वीडियो गलत दावे के साथ वायरल, ये जातिवाद नहीं प्रेम प्रसंग का केस है

क्या वायरल : सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें कुछ लोग एक युवक को जूते में कुछ भरकर पिलाते दिख रहे हैं, जिसे पेशाब बताया जा रहा है। इस वीडियो के साथ लोग भारत में जातिवाद और मनुवाद के विरोध में भड़काने वाली बातें लिख रहे हैं।

फैक्ट चेक पड़ताल

वीडियो के स्क्रीनशॉट्स को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर इस घटना से जुड़ी कई खबरें सामने आती हैं। दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर भी 17 जून, 2020 की एक खबर ,है।

सजा के नाम पर अमानवीयता / राजस्थान में शादीशुदा महिला से प्रेम प्रसंग होने पर युवक को जूते में पानी और पेशाब पिलाया, पांच गिरफ्तार
युवक को जूते में पेशाब पिलाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। फोटो- जयदीप पुरोहित
सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने दर्ज किया मामला
पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र यादव ने सिरोही के पुलिस अधीक्षक से घटना की रिपोर्ट तलब की

जोधपुर. पाली जिले के सुमेरपुर में सजा के नाम पर एक युवक के साथ अमानवीयता का मामला सामने आया है। कुछ लोगों ने यहां के भारुंदा गांव से एक युवक का अपहरण कर सिरोही के निकट सुपरणा (सरदारपुरा) गांव के एक कृषि कुएं पर अमानवीयता की हदें पार कर दी हैं।
आरोपित, पीड़ित के गांव की ही स्वजाति विवाहिता से प्रेम प्रसंग रखने से नाराज थे। आरोपितों ने मारपीट के दाैरान शराब की बाेतल में पेशाब और जूताें में पानी भरकर युवक काे पिलाया। आराेपितों ने पीड़ित के चाचा व भाई काे माैके पर बुलाया और उन्हें भी रातभर पेड़ से बांध कर रखा। दूसरे दिन सुबह पीड़ित के माता-पिता माैके पर पहुंचे ताे आराेपितों ने दंड स्वरूप उनसे 5 हजार रुपए वसूले।
आरोपितों ने पीड़ित पक्ष काे गांव छाेड़ने की धमकी देकर छाेड़ा। सुमेरपुर पुलिस ने 11 जून के घटनाक्रम से जुड़ा यह मामला 15 जून की रात दर्ज किया है। मंगलवार सुबह इस मामले में पांच आरोपित लक्ष्मणराम देवासी, जवानाराम, भीमाराम, नवाराम व दरगाराम देवासी काे गिरफ्तार किया गया है। एक बाल अपचारी काे भी संरक्षण में लिया गया है।

पीड़ित को जूते में डालकर पानी पिलाते आरोपित।
धमकियों से घबराकर रिश्तेदारों के यहां रह रहा परिवार

आराेपितों की धमकियाें से घबराया पीड़ित परिवार अपने माैसा के गांव भारूंदा में रह रहा है। इधर, पुलिस बाकी आराेपितों की तलाश तेज कर दी है। एसपी कल्याणमल मीणा ने बताया कि इस घटनाक्रम के बारे में स्टेट कंट्रोल रूम समेत उच्च अधिकारियों को जानकारी दे दी गई है। चूंकि यह मामला पाली जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र का है। इसलिए वहीं की पुलिस कार्रवाई कर रही है।

वीडियो वायरल होते एक्शन में आया प्रशासन

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो प्रशासन एक्शन में आ गया। अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव स्वरूप और पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र यादव ने सिरोही के पुलिस अधीक्षक से घटना की रिपोर्ट तलब की।

इसके बाद पुलिस टीम युवक की तलाश में उसके घर गई। वहां कोई नहीं मिला। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ दिन पहले परिवार के लोग कहीं चले गए हैं। मामले में ज्यादती करने वाले पंच भी गायब हैं। पुलिस दोनों पक्षों को तलाश कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जांच कर रहे हैं। पीड़ित पक्ष को तलाश रहे हैं, ताकि पूरा घटनाक्रम सामने आ सके।

खबर में तस्वीरें उसी घटना की हैं, जिसका वीडियो वायरल हो रहा है। इस खबर के अनुसार : राजस्थान के पाली जिले के सुमेरपुर में सजा के नाम पर एक युवक को विवाहिता से प्रेम प्रसंग रखने पर पंचों ने उसके साथ ज़्यादती की। आरोपित, पीड़ित के गांव की ही स्वजातीय विवाहिता से प्रेम प्रसंग रखने से नाराज थे। आरोपितों ने मार पीट के दाैरान शराब की बाेतल में पेशाब और जूताें में पानी भरकर युवक काे पिलाया। आराेपितों ने पीड़ित के चाचा व भाई काे माैके पर बुलाया और उन्हें भी रातभर पेड़ से बांध कर रखा। दूसरे दिन सुबह पीड़ित के माता-पिता माैके पर पहुंचे ताे आराेपितों ने दंड स्वरूप उनसे 5 हजार रुपए वसूले। सुमेरपुर पुलिस ने 11 जून के घटनाक्रम से जुड़ा यह मामला 15 जून की रात दर्ज किया। पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है।

यह घटना बेशक अमानवीय है। लेकिन, इस खबर से ये स्पष्ट है कि मामले में जाति वाला कोई एंगल नहीं है।
निष्कर्ष : घटना का जातिवाद से कोई संबंध नहीं है। युवक के साथ विवाहित महिला से प्रेम प्रसंग रखने के चलते ज्यादती की गई है। इस घटना का वीडियो भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *