ब्लैकमेलिंग आरोपित महिला ने भी पुलिस को बताई लिखित कहानी

सामने आई आरोपित महिला, भाजपा विधायक पर दुष्कर्म करने का लगाया आरोप
देहरादून,। भाजपा विधायक महेश नेगी की पत्‍नी की शिकायत पर ब्लैकमेलिंग का आरोप झेल रही महिला रविवार को सामने आई। उसने विधायक पर चार सालों के दौरान कई बार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया। साथ ही अदालत के माध्यम से अपनी बेटी का डीएनए टेस्ट कराने की मांग दोहराई। जिला पुलिस प्रमुख का डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने महिला की शिकायत मिलने की पुष्टि की, बताया कि इसकी जांच कराई जा रही है।
अल्मोड़ा जिले की द्वाराहाट सीट से विधायक महेश नेगी की पत्‍नी रीता नेगी ने इसी शुक्रवार पड़ोस में रहने वाली एक महिला के खिलाफ ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमे में उसका पति और मां भी नामजद हैं। महिला पर पांच करोड़ रुपये न देने पर विधायक को दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने और बेटे को जान से मारने की धमकी देने का आरोप है। इस सिलसिले में नेहरू कॉलोनी थाना पुलिस ने आरोपित महिला से पूछताछ भी की थी। उसी दिन महिला का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ,जिसमें वह विधायक पर गंभीर आरोप लगा रही है। रविवार को महिला ने जिला पुलिस प्रमुख को अपना शिकायती पत्र सौंप विधायक पर सनसनीखेज आरोप लगाये हैं।
पांच पन्नों के पत्र में महिला ने विधायक के संपर्क में आने से लेकर दुष्कर्म तक के आरोपों का सिलसिलेवार तारीखों के साथ उल्लेख किया है। शिकायत में महिला ने बताया कि वह और उसके स्वजन विधायक के परिवार से अक्सर मिलते रहते थे। जून 2016 में मां की तबीयत खराब होने पर डाक्टर ने उन्हें स्टीम दिलाने का सलाह दी। विधायक को यह बात पता चली तो उन्होंने उससे कहा कि उनके घर पर स्टीम देने वाली मशीन है, वह वहीं आकर मां को उपचार दिला दिया करे। इस पर वह मां को स्टीम दिलाने विधायक के घर जाने लगी। इसी दौरान एक दिन विधायक ने सेल्फी लेने के बहाने उससे अश्लील हरकतें कीं। विरोध करने पर फोटो वायरल करने की धमकी दी। विधायक पर आरोप है कि इसके बाद वह उसका शारीरिक शोषण और कई बार दुष्कर्म किया। महिला का आरोप है कि दिसंबर 2018 में शादी से दो रोज पहले भी विधायक उसे मसूरी ले आया, यहां एक होटल में उससे दुष्कर्म किया। इससे पहले वह उसे घुमाने नैनीताल, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश और नेपाल ले गया। वहां भी उसके साथ विधायक ने जबरन शारीरिक संबंध बनाए। विरोध करने पर हर बार यही कहा कि तुम चिंता मत करो,आगे जो भी होगा मैं खुद देख लूंगा।

शादी के बाद भी दवाब बनाने का आरोप

पुलिस को दी शिकायत में महिला ने एक सनसनीखेज आरोप यह भी लगाया कि दिसंबर 2018 में उसकी शादी हो गई। इसके बावजूद विधायक उस पर मायके आने का दबाव डालता रहा। पिछले साल अप्रैल में वह मायके लौटी तो विधायक ने उस पर ससुराल न लौटने का दबाव बनाया। कहा कि, वह पति से उसका तलाक करवा देगा। महिला का आरोप है कि इसके बाद विधायक ने उसके पति और ससुराल पक्ष के अन्य सदस्यों के खिलाफ घरेलू हिंसा का मुकदमा दर्ज करवाने को मजबूर किया। इस बीच, विधायक से रिश्ता होने का पता चलने पर पति ने उससे नाता तोड़ लिया।

अस्पताल में साथ रहा विधायक

महिला का आरोप है कि गर्भावस्था में पिछले साल देहरादून स्थित दो अस्पतालों में उसका परीक्षण किया गया। तब विधायक भी साथ था। इसी साल मई में उसने एक बच्ची को जन्म दिया। जुलाई में उसने बच्ची और अपने पति का डीएनए टेस्ट कराया,जिसकी रिपोर्ट चार अगस्त को मिली। बच्ची का डीएनए पति से मेल नहीं खाया। इसके बाद वह देहरादून अपने भाई के घर आ गई। उसने जब बेटी होने की बात विधायक को बताई तो वह उससे किए वायदों से मुकर गया।

विधायक की पत्नी ने दिया 25 लाख का ऑफर

महिला का आरोप है कि विधायक पत्‍नी ने मुंह बंद रखने को उसे 25 लाख का ऑफर दिया,लेकिन उसने इन्कार कर दिया। विधायक ने भी फोन करके पत्‍नी की बात मान लेने की बात कही, लेकिन उसने साफ कहा कि वह तो सिर्फ बेटी को हक दिलाना चाहती है। आरोप लगाया कि विधायक की पत्‍नी ने बचाव में उसके खिलाफ ब्लैकमेलिंग का झूठा मुकदमा दर्ज करवाया है।
द्वाराहाट विधायक महेश नेगी से ब्लैकमेलिंग, विधायक की पत्नी ने एक महिला सहित 4 लोगों के खिलाफ कराया मुकदमा दर्ज
इससे पहले द्वाराहाट विधायक महेश नेगी की पत्नी रीता नेगी ने देहरादून निवासी एक महिला और उसके पति समेत परिवार के चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने परिवार पर ब्लैकमेल कर पैसे मांगने का आरोप लगाया है। नेहरू कॉलोनी थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। आरोप है कि महिला ने विधायक से संबंध की बात कह विधायक पत्नी से पांच करोड़ रुपये मांगे । विधायक पत्नी रीता नेगी ने कहा कि महिला लगातार फोन कर उनका राजनीतिक करियर बर्बाद करने की धमकियां दे रही थी। पुलिस ने तत्परता से आरोपित युवती से पूछताछ के साथ ही जांच तेज कर दी है।
नेहरू कॉलोनी थाने में द्वाराहाट विधायक महेश नेगी की पत्नी के दर्ज कराये मुकदमें के मुताबिक आरोपित महिला के पति राजनीति में थे और समय-समय पर क्षेत्र की समस्यायें ले उनके पति विधायक महेश नेगी के पास आते रहते थे, यथा संभव विधायक उनकी मदद भी करते थे। यहाँ से उसका परिचय हो गया जिसका उसने गलत नीयत से फायदा उठाने की कोशिश की। विधायक पत्नी ने आरोप लगाया है कि उनके पुत्र को आरोपित महिला ने 9 अगस्त को फोन कर उसके पिता को रेप के आरोप में फंसाने की धमकी दे पैसे की मांग करते हुए दून में मिलने को कहा।
विधायक की पत्नी आरोपित महिला से मिलने दून पंहुची। घंटाघर के एक रेस्टोरेंट में महिला की मुलाकात विधायक पत्नी से हुई, जहां महिला ने पांच करोड रूपये मांगे। पैसे की व्यवस्था न होने पर विधायक पुत्र के साथ अनहोनी की भी धमकी देने का आरोप है। अगले दिन इनकी मुलाकात फिर धर्मपुर मे हुई वहाँ फिर पांच करोड रूपये न देने के पर रेप के मुकदमे मे फंसाने की बात दोहरायी। दर्ज मुकदमे में मैसेज करके भी पैसे के लेनदेन का आरोप आरोपित महिला पर लगाया गया है। विधायक पत्नी ने आरोपित महिला, उसके पति ,माँ व भाभी को भी षडयंत्र में शामिल होने का आरोप लगा उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया है।
मामले में देहरादून एसएसपी अरूण मोहन जोशी ने कहा है कि तहरीर के आधार पर मुकद्मा दर्ज कर लिया गया है, मामले की गहनता से जांच की जाएगी। यदि महिला इस मामले में कुछ कहना चाहती है तो वह पुलिस को बता सकती है। मामला विधायक से जुडा होने से राजनीतिक गलियारों में भी चर्चाा का विषय बना हैै। वहीं सोशल मीडिया पर आरोपित महिला का एक वीडियो भी वायरल है, जिसमेें महिला विधायक पर 2 साल से यौन शोषण का आरेप लगा रही हैं और विधायक से अपनी जान को खतरा बता रही हैं।
जान को खतरे की आशंका जताई

अब शिकायती पत्र में महिला ने खुद व स्वजनों की जान को खतरा होने की आशंका जता बताया कि डर से वह घर से बाहर नहीं निकल पा रही हैं।

आउट ऑफ रीच मिले विधायक के फोन
तमाम प्रयास के बाद भी भाजपा विधायक महेश नेगी से संपर्क नहीं हो पाया। उनके मोबाइल नंबर ‘आउट ऑफ रीच’ मिले।
बंशीधर भगत (प्रदेश अध्यक्ष भाजपा) का कहना है कि इस मामले में विधायक की पत्नी ने एफआइआर दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है, इसमें जो भी निकलकर आएगा, तभी कुछ कहा जा सकता है।

विधायक की पत्नी ने बच्चे को खतरे की आशंका जताई

भाजपा विधायक महेश नेगी की पत्‍नी रीता नेगी ने रविवार को पुलिस को एक और शिकायती पत्र सौंपा। पत्र में कहा गया है कि आरोपित महिला विधायक और उनके परिवार को झूठे मामले में फंसाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। दुष्कर्म की झूठी शिकायत वह कर चुकी है। विधायक की पत्‍नी ने महिला के बच्चे की जान को खतरा होने की आशंका जताई। साथ ही उसकी सुरक्षा की जरूरत बताई। डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि विधायक की पत्‍नी का शिकायती पत्र मिला है। इस मामले में भी जां कराई जा रही है।
विधायक पत्नी ने महिला के लिए सुरक्षा मांगी
विधायक महेश नेगी की पत्नी रीता नेगी ने ब्लैकमेलिंग के आरोप में घिरी महिला समेत अन्य आरोपितों की सुरक्षा की मांग की है। इस संबंध में रीता ने डीआईजी अरुण मोहन जोशी को पत्र लिखा है।
पत्र में उन्होंने दावा कि महिला कई राजनीतिकों के संपर्क में है और कुछ को पत्र भी लिखा गया है। कहा कि उनके पति के विधायक होने के चलते विपक्ष पार्टी के लोग राजनीतिक द्वेष में महिला और उसके बच्चे के साथ कुछ गलत कर उन पर आरोप लगा सकते हैं। रीता ने महिला समेत अन्य आरोपितों की सुरक्षा की मांग की है।

मामले में चार शिकायती पत्र मिले हैं जिनमें एक में मुकदमा दर्ज हुआ है। अन्य को थाने भेजा गया है।जांच में जो सामने आएगा,कार्रवाई की जाएगी। महिला और उसकी बेटी को सुरक्षा देने की बात कही गई है जिसे थाना स्तर पर देखा जा रहा है।
डीआईजी, अरुण मोहन जोशी

दुष्कर्म के आरोपों में घिरे भाजपा विधायक को कांग्रेस ने घेरा, डीएनए जांच की मांग उठाई
कांग्रेस ने दुष्कर्म के आरोपों में घिरे द्वाराहाट विधायक महेश नेगी की डीएनए जांच की मांग उठाई। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि महिला के आरेाप के बाद यह मामला बेहद गंभीर हो चुका है।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *