वेदांता,M&M और पेटीएम सबसे पहले कोरोना मोर्चे पर

कोरोना वायरस:देश की मदद को आनंद महिंद्रा ने वेतन और रिजोर्ट्स, वेदांता से 100 करोड़,पेटीएम से
केंद्र और राज्य सरकारें कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने के लिए अपने-अपने स्तर पर चिकित्सीय और जांच की सुविधाएं उपलब्ध करा रही हैं. ऐसी परिस्थिति में देश के उद्योगपति भी देश की मदद के लिए आगे आ रहे हैं.
कोरोना वायरस: देश की मदद के लिए आनंद महिंद्रा ने की ये पेशकश, वेदांता प्रमुख ने दिए 100 करोड
नई दिल्ली. देश भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 360 के करीब मामले सामने आ चुके हैं. कोरोना वायरस से भारत में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है. देश के 75 के करीब जिलों को 31 मार्च तक लॉकडाउन किए जाने की घोषणा हो चुकी है वहीं दिल्ली, तेलंगाना जैसे राज्यों ने भी 31 मार्च तक अपने बॉर्डर सील कर देने की घोषणा कर दी है. केंद्र और राज्य सरकारें कोरोना से लड़ने के लिए अपने-अपने स्तर पर चिकित्सीय और जांच की सुविधाएं उपलब्ध करा रही हैं. ऐसी परिस्थिति में देश के उद्योगपति भी देश की मदद के लिए आगे आ रहे हैं. वेदांता रिसोर्सेज लिमिटेड (Vedanta Resources Limited) के एक्सीक्यूटिव चेयरमैन अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal) मदद के लिए आगे आए हैं. अनिल अग्रवाल ने रविवार को ट्वीट किया कि- “मैं इस महामारी से निपटने के लिए 100 करोड़ देने का वादा करता हूं. #DeshKiZarooratonKeLiye एक प्रतिज्ञा है जिसे हमने शुरू किया और यह वह समय है जब हमारे देश को हमारी सबसे अधिक आवश्यकता है. बहुत से लोग अनिश्चितता का सामना कर रहे हैं और मैं दैनिक वेतन भोगियों के बारे में विशेष रूप से चिंतित हूं, हम मदद करने के लिए अपनी पूरी कोशिश करेंगें।
I am committing 100 cr towards fighting the Pandemic. #DeshKiZarooratonKeLiye is a pledge that we undertook & this is the time when our country needs us the most. Many people are facing uncertainty & I’m specially concerned about the daily wage earners, we will do our bit to help pic.twitter.com/EkxOhTrBpR
— Anil Agarwal (@AnilAgarwal_Ved) March 22, 2020
वहीं मंहिद्र ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कहा कि- “महामारी विशेषज्ञों की विभिन्न रिपोर्टों के अनुसार, यह अत्यधिक संभावना है कि भारत पहले से ही कोरोना के प्रसार के तीसरे चरण में है. इससे संक्रमित लोगों की संख्या में लाखों का इजाफा हो सकता है जिससे चिकित्सा बुनियादी ढांचे पर भारी दबाव पड़ेगा. अगले कुछ हफ्तों में लॉकडाउन स्थिति को ठीक करने में मदद करेगा और चिकित्सा देखभाल पर बने दबाव को मध्यम करेगा. -हालांकि, हमें अस्थायी अस्पतालों को बनाने की जरूरत है और हमारे पास वेंटिलेटर की कमी है.”
महिंद्रा ने आगे लिखा- “इस अभूतपूर्व खतरे में मदद करने के लिए, हम महिंद्रा समूह में तुरंत काम शुरू करेंगे, ताकि हमारी विनिर्माण सुविधाएं वेंटिलेटर बना सकें. महिंद्रा हॉलीडेज़ के अपने रिसॉर्ट्स को हम अस्थायी देखभाल सुविधाओं के रूप में देने के लिए तैयार हैं.”
Going by various reports from epidemiologists, it is highly likely that India is already in Stage 3 of transmission.
—Cases could rise exponentially with millions of casualties, putting a huge strain on medical infrastructure (1/5)
— anand mahindra (@anandmahindra) March 22, 2020
उन्होंने लिखा-“हमारी परियोजना टीम अस्थायी देखभाल सुविधाओं के निर्माण में सरकार / सेना की सहायता के लिए तैयार है.-महिंद्रा फाउंडेशन एक फंड का निर्माण करेगा जिससे एक वैल्यू चेन तैयार हो जिसकी मदद से हम अपने (छोटे व्यवसायियों और स्वरोजगार कर रहे लोगों की मदद कर सकें जिन पर इसका सबसे बुरा प्रभाव पड़ रहा है.”
महिंद्रा ने आगे कहा-“हम सहयोगियों को फंड में स्वेच्छा से योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे.मैं इसमें अपने वेतन का 100% योगदान दूंगा और अगले कुछ महीनों में इसे और बढ़ा दूंगा. मैं अपने सभी विभिन्न व्यवसायियों से आग्रह करता हूं कि वे उन लोगों के लिए भी अलग योगदान दें, जो अपने पारिस्थितिक तंत्र में सबसे ज्यादा परेशान हो रहे हैं.”
Paytm ने किया मदद का ऐलान, मेडिकल सॉल्यूशन के लिए देगा पैकेज
देश की लीडिंग ई-कॉमर्स और पेमेंटिंग सॉल्यूशन कंपनी Paytm ने सरकार को Coronavirus से लड़ने के लिए 5 करोड़ रुपये की मदद देने का ऐलान किया है। कंपनी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बात की घोषणा की है। कंपनी के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने भी अपने ट्विटर हैंडल से इसे ट्वीट किया था। Paytm ने अपने ट्वीट में लिखा है, कॉलिंग ऑल इनोवेटर्स- लेट्स फाइट #COVID_19 टूगेदर! (हम सभी इनोवेटर्स को कोरोनावायरस से लड़ने के लिए साथ में आना होगा),हम 5 करोड़ रुपये की मदद क्लिनिकल वेंटिलेटर्स और अन्य क्रिटिकल मेडिकल इक्वीपमेंट की पूर्ति के लिए कर रहे हैं।
Calling all Innovators – Let’s Fight #COVID_19 together!
We are committing ₹5 Cr to help companies building indigenous solutions to tackle potential shortage of clinical ventilators & other critical medical equipment.
➡️ https://t.co/ycEOnZ0oRJ” rel=”nofollow@narendramodi @MoHFW_INDIA https://t.co/K25YLyT3nd” rel=”nofollow
कंपनी के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, हमें और भी भारतीय इनोवेटर्स की जरूरत है दो COVID-19 से लड़ने के लिए वेंटिलेटर्स की कमी को पूरा कर सके। Paytm मेडिकल टीम के लिए 5 करोड़ रुपये मेडिकल सॉल्यूशन के लिए दे रहा है। उन्होंने अपने ट्वीट में IISc बेंगलूरू के प्रोफेसर गौरब बनर्जी के ब्लॉग पोस्ट का स्क्रीन शॉट भी पोस्ट किया है, जिसमें प्रोफेसर सभी से मदद की मांग करते हैं।
प्रोफेसर गौरब बनर्जी ने अपने पोस्ट में सभी से अपील करते हुए लिखा, मैं अपने नेटवर्क के सभी बायोमेडिकल इंजीनियर, जिनके पास क्लिनिकल वेंटिलेटर का एक्सपीरियंस है, उन तक पहुंचने की कोशिश कर रहा हूं। हम एयरोस्पेश के इंजीनियर्स की छोटी सी टीम हैं, जो भारतीय तरीके से एक प्रोटोटाइप वेंटिलेटर तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि कोरोनावायरस की स्तिथि और खराब होने पर इमरजेंसी में लोगों की मदद की जा सके।
—We will encourage associates to voluntarily contribute to the Fund. I will contribute 100% of my salary to it & will add more over the next few months. I urge all our various businesses to also set aside contributions for those who are the hardest hit in their ecosystems (5/5)
Paytm से पहले ऑटोमोबाइल कंपनी Mahindra की तरफ से भी मेडिकल वेंटिलेटर के लिए मदद का ऐलान किया गया था। कंपनी के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने अपने ट्विटर हैंडल से मदद वेंटिलेटर के लिए मदद करने की घोषणा की थी। आनंद महिंद्रा उन पहले भारतीयों में शामिल हैं, जिन्होंने भारत में कोरोनावायरस से लड़ने के लिए मदद का ऐलान किया है।
मृतक संख्या पहुंची 15 हजार
कोरोना वायरस (Coronavirus) से दुनिया भर में मरने वालों की संख्या 15 हजार पहुंच गई है.वहीं भारत में इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर सात हो गई है, जबकि कई राज्यों में रविवार को नए मामले आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 396 पर पहुंच गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि रविवार को गुजरात, बिहार और महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से मौत के एक-एक मामले सामने आए हैं. इससे पहले कर्नाटक, दिल्ली, महाराष्ट्र और पंजाब में एक-एक मौत हुई थी.
वहीं स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने अभूतपूर्व कदम उठाते हुए सभी यात्री ट्रेनों, अंतरराज्यीय बस सेवाओं और मेट्रो को 31 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया. वहीं केंद्र द्वारा घोषित भारत भर के 80 जिलों में लॉकडाउन के अलावा, 13 राज्य सरकारों ने भी अपने राज्यों को लॉकडाउन कर दिया है.
अमेरिका में कोरोना वायरस से 24 घंटे में 100 से अधिक लोगों की मौत
अमेरिका में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच न्यूयार्क में आने वाले कुछ दिनों में अस्पताल में मरीजों के उपचार के लिए आवश्यक उपकरणों की कमी होने की आशंका है. न्यूयार्क के मेयर बिल डी ब्लासियो ने कहा कि अमेरिका में कोविड 19 के सबसे अधिक मामले न्यूयार्क में ही सामने आए हैं.उन्होंने ‘सीएनएन’ से कहा,’साफ कहूं,तो 10 दिन बाद वेंटिलेटर,सर्जिकल मास्क और उन चीजों की कमी हो जाएगी जो अस्पताल प्रणाली को चलाने के लिए आवश्यक हैं.’उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अपील की कि वह तत्काल आवश्यक चिकित्सकीय आपूर्ति के वितरण एवं उत्पादन को बढ़ाने के काम में सेना को लगाएं.डी ब्लासियो ने कहा,’यदि हमें आगामी 10 दिन में और वेंटिलेटर नहीं मिले तो लोग मारे जाएंगे.’उन्होंने सचेत किया कि अभी ‘और बुरा समय आने वाला’ हैं और उन्होंने इस महामारी को 1930 की महामंदी के बाद का सबसे बड़ा घरेलू संकट करार दिया.
इटली में रविवार को इस खतरनाक संक्रमण से 800 लोगों की मौत हो गई.इसके साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण से मौत के मामले में इटली दुनिया में करीब 5500 मौतों के साथ सबसे ऊपर पहुंच गया इससे पहले कोरोना वायरस संक्रमण से शनिवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 793 लोगों की जान गई थी.वहीं, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 10.4 प्रतिशत की उछाल के साथ 59,138 तक पहुंच गया।
जर्मनी की चांसलर एजेंला मर्केल खुद को घर में ही पृथक रखेंगी.उस डॉक्टर को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने पर मर्केल ने यह फैसला लिया है,जिसने उनका इलाज किया था.सरकार के एक प्रवक्ता ने रविवार को यह जानकारी दी.
कोलकाता में रविवार को तीन और लोगों में कोरोना वायरस पाए जाने की पुष्टि हुई है,जिसके बाद पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामले बढ़कर सात हो गए हैं.स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिन तीन लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है उनमें से दो ब्रिटेन से लौटे 22 वर्षीय एक युवक के माता पिता हैं और तीसरी उनके घर में काम करने वाली घरेलू सहायक है।
अमेरिका में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से सौ से अधिक लोगों की मौत हुई है,जिसके साथ ही देश में इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 389 हो गयी है.जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय ने यह आंकड़ा जारी किया. अब तक सबसे अधिक न्यूयार्क (114 मौतें),वाशिंगटन (94 मौतें) और कैलीफोर्निया (28 मौतें) प्रांत प्रभावित हुए हैं. अमेरिका में कम से कम 30 हजार लोग इस विषाणु से संक्रमित हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *