प्रसूता की मौत की जांच करेंगे एडीएम पांडे,सप्ताहभर में मांगे सबूत

देहरादून 13 जून । अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविन्द पाण्डेय ने अवगत कराया है कि एक महिला श्रीमती सुधा निवासी देहराखास गर्भवती थी को 9 जून 2020 को गांधी अस्पताल से यह कहकर लौटाया गया कि डिलीवरी में अभी वक्त है, इसके बाद महिला की डिलीवरी घर पर हुई तथा दोनों बच्चों की मौत हो गई। 11 जून 2020 को जब उक्त महिला पैर में लगी चोट का उपचार कराने कोरोनेशन अस्पताल गई तो उसे वहां से गांधी अस्पताल भेज दिया गया। गांधी अस्पताल ने यह कहकर दून अस्पताल तथा हायर सेंटर भेज दिया गया कि कोविड टेस्ट होना है। महिला निजी अस्पताल में जाकर फिर वापस दून पंहुची जहां उपचार से पहले ही उसकी मृत्यु हो गयी। जिलाधिकारी ने घटना की मजिस्ट्रेटी जाचं हेतु अपर जिलाधिकारी प्रशासन को जांच अधिकारी नामित किया है।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने अवगत कराया है कि जिस किसी व्यक्ति को उक्त घटना/मृत्यु के कारणों की जानकारी हो और वह जानकारी लिखित अथवा मौखिक रूप से दर्ज कराना चाहता हो विज्ञप्ति प्रकाशित हाने के एक सप्ताह के भीतर किसी भी कार्यदिवस में उनके कार्यालय में उपस्थित होकर लिखित/मौखिक बयान दर्ज कराकर जानकारी उपलब्घ करा सकता है।
स्थिति बताई नियंत्रण में
डाॅक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया है कोविड-19 संक्रमण को लेकर जनपद में स्थिति पूर्ण रूप से निंयत्रण में हैं, प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग इस पर पूर्ण रूप से निगरानी कर रहा है। जनपद देहरादून में कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के निरन्तर चिन्हित होने से संक्रमण प्रसार रोकने हेतु सुरक्षात्मक उपाय के दृष्टिगत रविवार नगर निगम देहरादून क्षेत्रान्तर्गत एवं एवं छावनी परिषद क्लेमेंन्टाउन एवं गढीकैन्ट, अवस्थित सभी प्रतिष्ठान/दुकानें पूर्णतः बन्द रहेंगी। इस अवधि में नगर निगम देहरादून नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत सभी प्रतिष्ठानों, दुकानों, सभी कार्यालय तथा सार्वजनिक स्थलों पर सेनिटाइजेशन एवं साफ-सफाई करायेगा। इस दौरान आवश्यक सेवांए यथा अस्पताल में ओपीडी, पैट्रोल पम्प, गैस एजेंसी, दूध, फल-सब्जी की दुकानें, टिफिन सर्विस, मीट/मछली की दुकानें एवं औद्योगिक ईकायां खुली रहेंगी। इस दौरान आवश्यक सेवाओं में योजित वाहनों को छोड़कर अन्य सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर प्रतिबन्ध रहेगा ।
जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को चलाये जाने वाले डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान को कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु किये गये लाॅकडाउन अवधि में समस्त जन से डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान चलाकर अपने निवास स्थान के गमलों,खाली बर्तनों,टायरों में पानी इकठ्ठा न होने देने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी ने आमजन से इस अभियान से जुड़कर जनपद में डेंगू-मलेरिया के उन्मूलन में सहयोग प्रदान करते हुए इसके प्रसार को रोकने में प्रशासन का सहयोग करने की अपेक्षा की।
वायु सेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे प्रवासी 275 व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में क्वारेंटीन किया गया। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 257 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया। काठगोदाम से देहरादून रेलवे स्टेशन पर 152 व्यक्ति पहुंचे। इसी प्रकार देहरादून रेलवे स्टेशन से दिल्ली हेतु 251 तथा काठगोदाम के लिए 404 व्यक्ति गये।
जनपद के विभिन्न चयनित स्थानों पर प्रशासन अधिकृत 26 मोबाईल वैन के माध्यम से सस्ते दरों पर 234.00 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। जिला प्रशासन के बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में दुग्ध विकास विभाग ने आई.डी.पी.एल ऋषिकेश में 20 लीटर, भरत विहार लेन नंबर 4 में 15 लीटर, सोलंकी मौहल्ला में 15 लीटर, भागीरथी पुरम में 15 लीटर, मोहनी रोड़, डालनवाला में 15, सर्कुलर रोड़ में 10 लीटर, चमनपुरी में 15 लीटर, ब्रहा्रम्पुरी में 10 लीटर, वंसत विहार कालोनी में 15 लीटर, खुड़बुड़ा मौहल्ला में 15 लीटर, कंलिगा कालोनी में 10 लीटर और पूर्वी पटेल नगर में 15 लीटर, सहित कुल 170 लीटर दूध विक्रय किया। जिला प्रशासन ने थाना पटेल नगर अंर्तगत 45 अन्नपूूर्णा किट जरूरतमंदो को वितरित की। जिला प्रशासन की टीम ने स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से जनपद अन्तर्गत विकासखण्ड चकराता, विकासनगर, सहसपुर, रायपुर व डोईवाला एवं तहसील सदर में कुल 175 निराश्रित पशुओं 155 गौवंश एवं 20 अन्य पशुओं को चारा व पशु आहार उपलब्ध कराया । जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्याें में आतिथि तक 1244 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 17314 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए कार्योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅक्टर ए.के डिमरी, एवं जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी जी.सी कण्डवाल ने होटल तिरूपति , होटल पंजाब एसेंस एवं बंगाली स्वीटस के 20 कार्मिको को प्रशिक्षण दिया ।
कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत जिला आपदा परिचालन केन्द्र देहरादून में जन सहायता हेतु स्थापित कन्ट्रोलरूम में कुल 63 काॅल पास हेतु प्राप्त हुई। जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमण के प्रसार को रोके जाने के दृष्टिगत सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए निबन्धन कार्यालयों में आज जन सामान्य ने कुल 129 लेख पत्रों का पंजीकरण (रजिस्ट्री) कराई, जिससेे 95.71 ल़ाख का राजस्व प्राप्त हुआ।
लाॅक डाउन अवधि में सिविल सोसायटी व शासकीय विभागों द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों के दृष्टिगत आज के कोरोना वाॅरियर-
कोरोना वाॅरियर (सिविल सोसायटी से)
संम्भाल संस्था रजिस्टर्ड, उत्तराखण्ड, देहरादून।
हरीश नारंग,
अध्यक्ष
लाॅक डाउन अवधि में जरूरतमंदो को स्वंय के जेनेरिक जन औषधि केन्द्र से घर-घर जाकर जेनेरिक दवाईयों का वित्तरण के साथ ही भोजन पैकेट, खाद्य सामग्री, फेस मास्क, गलब्स वित्तरण कर , जिला प्रशासन को सहयोग प्रदान किया।

कोरोना वाॅरियर (शासकीय विभाग से),
इन्द्रेश चन्द्र,
कनिष्ट सहायक (आ.सो)े,
जिला सूचना कार्यालय देहरादून ।
लाॅकडाउन अवधि में जनपद अन्तर्गत कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु किये जा रहे कार्यों की सूचनाओं के संकलन का कार्य कर रहे हैं।
जिलाधिकारी डाॅक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कोरोना वायरस संक्रमण कोविड-19 की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जनपद अन्तर्गत समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों वितरण के प्रतिबन्ध हेतु पूर्व में दिये गये निर्देशों के क्रम में आज जिला प्रशासन द्वारा वास्तविकता जांच हेतु दून चिकित्सालय के निकट एवं चकराता रोड पर स्थित विभिन्न मेडिकल स्टोर पर ग्राहक के रूप में कार्मिकों को भेजा गया। वास्तविकता जांच के दौरान सामने आया कि बिना चिकित्सकीय पर्ची के खांसी, जुकाम, बुखार की दवा मांगने पर किसी भी मेडिकल स्टोर द्वारा सम्बन्धित को दवा नही दी गयी। जिलाधिकारी द्वारा कोविड-19 संक्रमण के बचाव में समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा किये गये सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है।
जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 110 सैम्पल जाचं हेतु भेजे गये तथा 106 जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिनमें 21 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पाॅजिटिव संक्रमितों की संख्या 447 हो गई है, जिनमें 163 व्यक्ति वर्तमान में उपचाररत् हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज कुल 335 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गये तथा 34 व्यक्तियों की रैण्डम सैम्पलंग की गयी ।
आज आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों की 18 टीमों द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में 433 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया। जनपद में आतिथि तक आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों ने Co-Morbidity अवस्था वाले कुल 2488 व्यक्ति चिन्हित कर लिए हैं। इसी प्रकार आशा कार्यकर्त्रियों ने जनपद में होम क्वारेंटीन किये गये 1069 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी की। अन्य राज्यों से जनपद में पंहुचे कुल 868 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत क्वारेंटाइन किया गया।
कोरोना वायरस संक्रमण कोविड-19 की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों का विक्रय प्रतिबन्धित किये जाने के उपरान्त समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा जनपद में कुल 93 व्यक्तियों को चिकित्सकीय पर्ची के आधार पर सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयां विक्रय की गयी।
कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत लाॅक डाउन अवधि के दौरान जनपद में बनाये गये 2 राहत शिविरों में ठहरे हुए 18 व्यक्तियों का चिकित्सकों एवं परामर्शदाताओं ने स्वास्थ्य परीक्षण उपरान्त कांउसिलिंग प्रदान की । कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत दिहाड़ी/मजदूरी करने आये 6 श्रमिकों जिन्हे जैन धर्मशाला देहरादून में बनाये गये राहत शिविर में ठहराया गया है, की साईकेट्रिक सपोर्ट टीम ने रिवाइस्ड कांउसिलिंग की। विभिन्न ड्यूटियों में तैनात कार्मिकों को 38 एन-95 मास्क, 310 ट्रिपल लेयर मास्क, 10 पीपीई किट, 50 वीटीएम वायल, 96 सेनिटाइजर, 167 सर्जिकल गलब्स, 400 एक्सामिनेशन गलब्स वितरित किये गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *