कोरोना:अब रोज 50,000 पॉजिटिव,मौत प्रति लाख पर22

देश में कोरोना के मामले 13 लाख के पार:हर 10 लाख आबादी पर अब 11,173 का टेस्ट, इनमें 947 पॉजिटिव मिल रहे, 22 की मौत हो रही; रिकवरी रेट बढ़कर 63%
देश में अब तक 1.54 करोड़ से ज्यादा लोगों की टेस्टिंग की जा चुकी है, यहां 897 सरकारी लैब और 393 प्राइवेट लैब काम कर रही हैं
भारत अब दुनिया का दूसरा देश जहां संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आ रहे,अमेरिका में भी हालात बहुत ख़राब
बेहद बुरी खबर है। देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा शुक्रवार को 13 लाख के पार हो गया है। इस बार एक लाख मरीज होने में केवल दो दिन लगे। इसके पहले तीन बार लगातार तीन-तीन दिन में एक-एक लाख नए केस बढ़े थे। देश में अब हर 10 लाख की आबादी में 11,173 लोगों की जांच हो रही और इनमें 947 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे। इतनी ही आबादी में 22 लोगों की मौत हो रही है।
राहत की बात यह है कि तेजी से बढ़ते संक्रमण के मामलों के बीच ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। अब देश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 63.45% हो गया है। मतलब हर 100 मरीज में 63 मरीज ठीक हो जाते हैं जबकि डेथ रेट 2.38% है। मतलब हर 100 मरीज में दो मरीजों की मौत हो रही है।

भारत में टेस्टिंग दर सबसे कम
आबादी के लिहाज से संक्रमण का स्तर भारत में कम है, लेकिन यहां हर 10 लाख की आबादी में टेस्टिंग की दर भी बहुत कम है। सबसे ज्यादा संक्रमित 10 देशों में होने वाली टेस्टिंग की तुलना यदि भारत से की जाए तो मैक्सिको के बाद भारत ही दूसरा देश है,जहां सबसे कम लोगों की जांच हो रही है।
इस मामले में इंग्लैंड पहले नंबर पर है,जहां हर 10 लाख की आबादी में 1.93 लाख लोगों की जांच हो रही है। रूस में इतनी ही आबादी में 1.69 लाख और अमेरिका में 1.43 लाख लोगों की जांच हो रही है। भारत में हर 10 लाख की आबादी में 10 हजार लोगों की जांच हो रही है। मैक्सिको में यह संख्या 6,195 है।

अब हर दिन करीब 50 हजार नए केस बढ़ रहे
देश में 30 जनवरी को कोरोना का पहला मामला सामने आया था। इसके 110 दिन बाद यानी 10 मई को यह संख्या बढ़कर एक लाख हुई। फिर संक्रमण की रफ्तार में इतनी तेजी आई कि महज 15 दिनों में ही आंकड़ा 2 लाख के पार हो गया।
इसके बाद संक्रमितों की संख्या 2 से बढ़कर 3 लाख होने में महज 10 दिन लगे। 3 से 4 लाख मामले होने में 8 दिन और 4 से 5 लाख मामले होने में केवल 6 दिन लगे। केस बढ़ने की यह रफ्तार लगातार तेज हो रही है।
5 से 6 लाख और 6 से 7 लाख मामले होने में केवल 5-5 दिन लगे। इस बार 7 से 8 लाख मामले होने में केवल 4 दिन लगे। इसके बाद हर तीन दिन में एक लाख नए केस बढ़े और महज 12 दिनों में संक्रमितों की संख्या 8 लाख से 12 लाख तक पहुंच गई। इस बार 12 लाख से 13 लाख केस होने में केवल दो दिन लगे। हर दिन अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा भारत में ही संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं।

अब तक 1.54 करोड़ लोगों का टेस्ट,इसमें 8.02% लोग पॉजिटिव निकले

देश में अब तक एक करोड़ 54 लाख 28 हजार 170 लोगों की कोरोना टेस्टिंग हो चुकी है। इनमें 8.02% लोग संक्रमित मिले हैं। देश में 897 सरकारी लैब और 393 प्राइवेट लैब काम कर रही हैं। अमेरिका में 5 करोड़ टेस्टिंग हुई है और इनमें 8.09% लोग पॉजिटिव पाए गए। सबसे खराब हालत ब्राजील की है। यहां अब तक 55 लाख लोगों की जांच हुई और इनमें 42.25% लोग संक्रमित मिले हैं।

भारत दुनिया का 7वां देश, जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं

भारत दुनिया का 7वां देश है, जहां संक्रमण के चलते सबसे ज्यादा जानें गई हैं। यहां हर 10 लाख लोगों में 22 मरीजों की मौत हो रही है। देश में अब तक 30 हजार 941 लोग जान गंवा चुके हैं। देश में मृत्यु दर 2.38% है। दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें अभी तक अमेरिका में हुई हैं। यहां 1.42 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। यहां हर 10 लाख की आबादी में 432 मौतें हो रहीं हैं। दूसरे नंबर पर ब्राजील है, जहां 78,817 लोगों की जान जा चुकी है। यहां 10 लाख की आबादी पर 371 मौतें हो रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *