अल्ट्रासाऊंड मशीनों के औचक निरीक्षण से रोकें दुरूपयोग,डीएम ने सुनी 22 फरियाद

देहरादून 23 जुलाई 2020।‘औचक निरीक्षण करते हुए अल्ट्रासाउंड के दुरुपयोग पर लगाएं लगाम।
जिलाधिकारी/ समुचित प्राधिकारी पी.सी.पी.एन.डी.टी डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने एनआईसी सभागार में पी.सी.पी.एन.डी.टी (गर्भाधान पूर्व एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक (विनियम एवं दुरुपयोग निवारण) अधिनियम) जिला सलाहकार समिति की बैठक में समिति के सदस्यों को निर्देश दिए कि जनपद में संचालित सभी अल्ट्रासाउंड केंद्रों और क्लीनिकों पर बारीकी से निगरानी रखें तथा गोपनीय सूचना पर तथा अपने स्तर से भी बीच-बीच में रेंडम निरीक्षण करें कि किसी भी केंद्र पर अल्ट्रासाउंड का दुरुपयोग तो नहीं हो रहा है और अवैध तरीके से क्लीनिक और अल्ट्रासाउंड केंद्रों का संचालन तो नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि समिति से जुड़े प्रत्येक चिकित्सक कम से कम 10 ऐसे लोगों पर निगरानी रखे जिनके पास एक बेटी है और दूसरी संतान की तैयारी कर रहे हैं तथा जिनके पास पहले से ही 2 बेटीं है उन पर प्रेगनेंसी की स्थिति में लगातार निगरानी और पूछताछ करते रहें ताकि कोई अल्ट्रासाउंड तकनीक का दुरुपयोग ना कर सके।
इसके अतिरिक्त संपूर्ण जनपद में 1 वर्ष में विभिन्न क्लीनिक-अस्पतालों में प्रेगनेंसी के कितने अल्ट्रासाउंड हुए, कितनी डिलीवरी हुई, कितने मामलों में किस कारण से मिसकैरेज हुए और कितने मामले विधिक से सम्बन्धित पाये गये। इन सब का विवरण अगली बैठक में देने के निर्देश दिए।
आज सलाहकार समिति में 7 केन्द्रों के पंजीकरण के नवीनीकरण से संबंधित आवेदनों को समिति द्वारा उपयुक्त मानते हुए इनके केंद्रों के पंजीकरण के नवीनीकरण का अनुमोदन किया गया। केंद्रों के नवीन पंजीकरण के 4 आवेदनों का भी समिति द्वारा अनुमोदन किया गया।
समिति द्वारा बैठक में हीलिंग टच हॉस्पिटल सहस्त्रधारा रोड देहरादून में डॉ अवनीश कुमार को अल्ट्रासाउंड मशीन में कार्य की अनुमति, गुरु तेग बहादुर साहिब हॉस्पिटल रेसकोर्स देहरादून में नई अल्ट्रासाउंड मशीन इंस्टॉल पश्चात पुरानी अल्ट्रासाउंड मशीन सील करने, डॉक्टर एस.के अग्रवाल के डॉक्टर चित्रा अग्रवाल की मृत्यु पश्चात केंद्र की सील अल्ट्रासाउंड मशीन डिस्पोज आॅफ करने की अनुमति, एस.के मेमोरियल हॉस्पिटल ईसी रोड देहरादून में इंस्टॉल नई अल्ट्रासाउंड मशीन को पंजीकरण (फॉर्म बी) में दर्ज करने, जोशी मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल सेलाकुई देहरादून में केंद्र में नए अल्ट्रासाउंड मशीन क्रय करने,ऋतु साहनी इंदिरा आ.ई.वी.एफ हॉस्पिटल बल्लूपुर चौक देहरादून के केंद्र में इन्वेंशन प्रोसीजर करने की अनुमति तथा श्रीमती भारती जोशी सदानंद क्लीनिक एंड पैथोलॉजी सेंटर,सुभाष रोड देहरादून के केंद्र में इंस्टॉल मशीन को फॉर्म ‘बी’ में दर्ज करने के आवेदनों का समिति ने स्वीकृति व अनुमोदन किया।
इसके अतिरिक्त जनपद के 1 हॉस्पिटल से बिना अनुमति सीटी स्कैन मशीन को क्रय-विक्रय किए जाने एवं एक नई अल्ट्रासाउंड मशीन क्रय की अनुमति के संबंध में जिलाधिकारी ने समिति को निर्देश दिए कि बिना पूर्व अनुमति के मशीन के क्रय-विक्रय करने के चलते दोनों पक्षों को अस्पताल और संबंधित कंपनी से स्पष्टीकरण प्राप्त करें तथा स्पष्टीकरण में यदि कारण उपयुक्त ना हो तो अधिनियम में सख्त कार्रवाई करें। साथ ही नई मशीन क्रय करने की आवेदन पर विचार करते हुए उसके क्रय की स्वीकृति प्रदान की गई। अपोलो क्लीनिक में डॉक्टर नीरज वर्मा द्वारा संचालन की अनुमति के संबंध में जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि इस प्रकरण में पहले दून मेडिकल कॉलेज से संबंधित द्वारा किये गये कांटेक्ट में की गई शर्ताें का विवरण प्राप्त किया जाए, तदनुसार अग्रिम कार्रवाई की जाए।
अंत में जिलाधिकारी ने समिति के सदस्यों को निर्देश दिए कि अल्ट्रसाउण्ड मशीन के क्रय करने की अनुमति के दौरान ही मशीन के पंजीकरण और मशीन पर कार्य करने की अनुमति का भी समिति से पहले ही अनुमोदन कर लिया जाए तथा नोडल अधिकारी( मुख्य चिकित्सा अधिकारी) मशीन क्रय करने के समिति के अनुमोदन पश्चात 10 दिन के भीतर उसके पंजीकरण तथा सम्बन्धित को कार्य करने की अनुमति अपने स्तर पर दे सकें इस तरह का मैकेनिज्म बनायें। 10 दिन से अधिक की अवधि होने पर उसको समिति के अनुमोदनार्थ प्रस्तुत करना जरूरी होगा। इससे विभिन्न अनुमति सम्बन्धित बार-बार की औपचारिकताओं से बचा जा सकेगा।
पी.सी.पी.एन.डी.टी जनपद सलाहकार समिति में मुख्य चिकित्सा अधिकारी/ नोडल अधिकारी पीसीपीएनडीटी डॉक्टर बीसी रमोला,संयुक्त निदेशक विधि जी.सी पंचैली,वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डाॅक्टर एन.एस खत्री,डॉक्टर वंदना सेमवाल, जिला शासकीय अधिवक्ता (अपराध) जे पी. रतूड़ी, जिला समन्वय पी.सी.पी.एन.डी.टी ममता बहुगुणा,डॉक्टर चित्रा जोशी,सी.डी.पी.ओ शहर क्षमा बहुगुणा,सामाजिक कार्यकत्री कमला जायसवाल सहित संबंधित सदस्य उपस्थित थे।
जनसुनवाई में 22 की सुनी डीएम ने
जिला कार्यालय में जिलाधिकारी डॉक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जनसुनवाई का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर आम लोगों ने 22 शिकायतें/ समस्याएं प्रमुखता से उठाई जिनमें मुख्य रुप से माइग्रेशन प्रमाण पत्र, बाल विकास विभाग में नियुक्ति,पड़ोसियों से परेशानी,स्कूल से टी.सी निर्गन, पैतृक घर में प्रवेश, डीजल पंप खोलने हेतु आवेदन,सुरक्षा एवं अधिकार,शस्त्र लाइसेंस, पुस्ता निर्माण,जेल से रिहाई,भूमि पैमाइश करने,कंटेनमेंट जोन खोलने,बचपन बचाओ गतिविधियां,भूमि अपडेशन,बच्चों के प्रवेश,पीआरडी स्वयंसेवक तैनात करने एवं भू माफियाओं से भूमि का कब्जा दिलाए जाने संबंधी समस्याएं प्रस्तुत की गई।
जनसुनवाई में श्रीमती अनला ने अपनी पुत्री के इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश हेतु प्रवासी प्रमाण पत्र का अनुरोध किया गया,जिस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। सुद्दोवाला के शिव सिंह गुंसाई ने अपनी पौत्री को आंगनवाड़ी में सेवायोजित किए जाने का आवेदन किया,जिलाधिकारी ने बाल विकास विभाग की विज्ञप्ति प्रकाशन के उपरांत कार्रवाई का आश्वासन दिया। बिंगा देवी ने पड़ोसियों से परेशानी की शिकायत की जिस पर जिलाधिकारी ने सीओ सिटी को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जनसुनवाई में रजनी गुंसाईं ने अपने भाई को स्कूल से ट्रांसफर प्रमाण पत्र देने को कहा, जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को कार्रवाई करने को कहा। इसी प्रकार पंकज श्रीवास्तव ने कौलागढ़ क्षेत्र में वृक्षारोपण का मामला उठाया,जिस पर जिलाधिकारी ने स्मार्ट सिटी के माध्यम से आवश्यक कार्रवाई करने की बात कही। रेखा देवी ने अपनी जेठानी से पैतृक आवास में हक दिलाने जाने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने विधिक सेवा प्राधिकरण से मामला सुलझाए जाने की बात कही।
जनसुनवाई में अपर्णा ने स्वयंसेवी संस्था से बच्चों की देखभाल का मामला उठाया, इस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को कार्रवाई के निर्देश दिए। निर्मल आश्रम ऋषिकेश के सतीश श्रीवास्तव ने आश्रम के वाहनों के लिए डीजल पंप खोले जाने का आवेदन किया, इस पर उन्होंने आवश्यक कार्रवाई किए जाने का भरोसा दिया। जनसुनवाई में अनीशा ने परिवार की सुरक्षा का मामला उठाया इसको जिलाधिकारी ने विधिक सेवा प्राधिकरण से मामला सुलझाने की बात कही। विशाल एवं श्रीमती मंजू ने शस्त्र लाइसेंस को आवेदन किया, जिस पर जिलाधिकारी ने शस्त्र अनुभाग को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। राजपुर निवासी दिनेश गुंसाई ने क्षेत्र में पुस्ता निर्माण की मांग की। इसके अलावा शकुंतला चौधरी ने भूमि की पैमाइश के आवेदन पर, जिलाधिकारी ने उप जिला अधिकारी सदर को कार्यवाही करने के निर्देश दिए। पार्षद मनोज कुमार ने अपने क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन से मुक्त करने की प्रार्थना की,जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि निर्धारित 28 दिनों बाद क्षेत्र को कन्टेंमेंट जोन से मुक्त किया जाएगा। जनसुनवाई में प्रशांत,अनुज आदि नेें तहसील में पीआरडी स्वयंसेवकों की नियुक्ति की मांग की जिस पर उन्होंने आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बाबी सूद ने अपने पाल्यों के स्कूल प्रवेश, सुरेश अनमोल ने बचपन बचाओ अभियान,रामा गोयल ने बाल विकास विभाग में सेवायोजन का मामला उठाया, जिस पर जिलाधिकारी ने आवेदकों को आवश्यक कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *