शुक्र शाम 68 नये कोरोना केसों में 41 ऊधमसिंहनगर से,प्रदेश में 3373

Update: शादी समारोह में शामिल 22 लोगों समेत 68 कोरोना पॉजिटिव, 34 मरीज हुए ठीक
देहरादून, । उत्तराखंड में कोरोना का संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को कोरोना के 68 नए मामले सामने आए हैं,जिनमें सबसे अधिक 41 मामले ऊधमसिंहनगर से हैं। इनमें शादी समारोह में शामिल 22 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा 11 देहरादून,चार नैनीताल,सात हरिद्वार,दो चंपावत,एक-एक मामले पौड़ी गढ़वाल,उत्तरकाशी और टिहरी में सामने आए हैं। वहीं,34 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। प्रदेश में अब संक्रमितों का आंकड़ा 3373 पहुंच गया है,जबकि 2706 पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। वर्तमान में 592 मामले एक्टिव हैं,जबकि 46 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 29 लोग राज्य से बाहर चले गए हैं।
उत्तराखंड में संतोष यह है कि रिकवरी रेट अभी भी 80 प्रतिशत से ऊपर है। फिलहाल रुद्रप्रयाग के बाद बागेश्वर दूसरा ऐसा जिला बन गया है,जहां कोरोना का कोई एक्टिव केस अभी नहीं है। पांच दिन पहले टिहरी में भी भर्ती मरीजों की संख्या शून्य हो गई थी, पर यहां फिर सात मामले आ चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को कुल 2061 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें 1993 की रिपोर्ट निगेटिव और 68 पॉजीटिव आई हैं। ऊधमसिंहनगर में सबसे अधिक 41 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 25 लोग ऐसे हैं,जिनकी ट्रेवल हिस्ट्री नहीं पता लग पाई है।

12 जन पूर्व में संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोग हैं, जबकि तीन क्रमश:दिल्ली,यूपी और कुवैत से लौटे हैं। देहरादून में भी 11 नए मामले आए। हरिद्वार में सात नए मामले मिले । इनमें छह लोग पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए हैं और एक हैदराबाद से वापस लौटा है। नैनीताल में भी चार व्यक्ति संक्रमित पाए गए। इनमें एक स्वास्थ्यकर्मी भी है। चंपावत में दो लोग पॉजिटिव मिले जिनकी ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं है। इसके अलावा पौड़ी, टिहरी और उत्तरकाशी में एक-एक मामला हैं। ये लोग गाजियाबाद,सऊदी अरब और बिहार से वापस लौटे हैं। इधर,देहरादून से 21,बागेश्वर से सात,ऊधमसिंहनगर से पांच और पौड़ी से एक मरीज ठीक हुआ ।

शादी समारोह में शामिल लोगों 22 लोग पॉजिटिव

ऊधमसिंहनगर जिले के काशीपुर में एक लापरवाही के चलते सैकड़ो लोगों पर कोरोना पॉजिटिव होने का खतरा मंडराने लगा है। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में शादी समारोह में शामिल 22 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है,जिससे कोविड व्यवस्था की कलई खुलती नजर आ रही है। समारोह में शामिल 40 से ज्यादा लोगों के काशीपुर से सैंपल भेजे गए थे। सरकारी नियमों ताक पर रखकर कार्यक्रम आयोजित कराने की चर्चा ने सरकारी मशीनरी के कान खड़े कर दिए हैं।

देहरादून में कोरोना मरीजों का डबलिंग रेट हो गया 61 दिन

देहरादून के जिलाधिकारी डॉक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि देहरादून में कोरोना मरीजों का डबलिंग रेट 61 दिन हो गया है। वर्तमान में अबतक मिले 800 से अधिक केस में केवल 118 एक्टिव केस ही हैं। वहीं प्रति दस लाख पर 14120 जांच हो रही है,देश मे यह दर 8262 है। कोरोना को लेकर घबराने की जरूरत नही है। स्थिति नियंत्रण में है। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि इस समय कोरोना के साथ डेंगू को लेकर भी सावधानी बरतने की आवश्यकता है। यदि किसी के घर दुकान के सामने पानी एकत्रित पाया गया तो उसके खिलाफ भी आपदा प्रबंधन अधिनियम में कार्रवाई की जाएगी।

चार लोग क्‍वारंटाइन सेंटर से फरार

देहरादून के पटेलनगर कोतवाली स्थित देहरखास में क्‍वारंटाइन किए गए चार लोग भाग गए। पुलिस ने चारों पर मुकदमा किया है। इंस्पेक्टर प्रदीप बिष्ट ने बताया कि देहराखास बस्ती में,मोहम्मद जावेद के घर पर ठेकेदार मोहम्मद रिजवान ने नजीबाबाद से लेबर बुलाई थी। लेबर दो जुलाई को 14 दिनो को होम क्‍वारंटाइन की गई थी । जानकारी ठेकेदार मोहम्मद रिजवान को दे दी गई थी। लेबर 9 जुलाई को होम क्वाटरीन नियम तोडकर घर से भाग गई। आरोपितों में इरशाद ,निशार ,साकिर और फ़िरोज शामिल हैं।
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार गुरुवार को 1894 सैंपलों की जांच रिपोर्ट मिली है। इनमें 1847 की रिपोर्ट निगेटिव और 47 मामले पॉजिटिव हैं। देहरादून में सबसे अधिक 20 संक्रमित मिले। नैनीताल में 12 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इनमें पांच दिल्ली,तीन बरेली व एक बिहार से लौटा जन है। दो व्यक्ति कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आए हुए और एक की ट्रेवल हिस्ट्री पता नहीं है। पौड़ी में भी दिल्ली से लौटे पांच लोग कोरोना संक्रमित मिले । टिहरी में भी पांच नए मामले सामने आए। इनमें चार कुवैत से और एक दिल्ली से लौटा जन है। ऊधमसिंहनगर में तीन लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। इनमें एक मुंबई से लौटा व्यक्ति,जबकि दो अन्य कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए लोग हैं। चंपावत में भी दिल्ली व नोएडा से वापस लौटे दो और लोग संक्रमित मिले हैं।

सेना के दो जवान व स्वास्थ्य कर्मियों सहित 20 लोग संक्रमित

दून में कोरोना का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। बीती 15 मार्च से संक्रमण का जो सिलसिला शुरू हुआ था वह थमने का नाम नहीं ले रहा। स्थिति यह कि अब तक यहां पर कोरोना के मरीजों का आंकड़ा आठ सौ पार कर गया है। गुरुवार को बीस नए मरीज मिलने के बाद अब तक की संख्या 805 हो चुकी है। सुकून की बात यह कि इनमें 78 फीसद अब तक ठीक हो गए हैं। जबकि 132 मरीज फिलहाल विभिन्न अस्पतालों व कोविड केयर सेंटर में भर्ती हैं। कोरोना संक्रमित 27 व्यक्तियों की मौत भी जनपद में हो चुकी है।
सीएमओ डॉक्टर बीसी रमोला ने बताया कि गुरुवार को जिन बीस मामलों में कोरोना की पुष्टि हुई है उनमें दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल की एक स्टाफ नर्स, एक वार्ड ब्वॉय और एक सफाई कर्मी भी शामिल हैं। इसके अलावा एम्स ऋषिकेश के एक नर्सिंग अफसर समेत पांच लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। जबकि सेना के दो और जवानों में भी कोरोना संक्रमण पाया गया है। इसी तरह एमडीडीए कॉलोनी केदारपुरम में एक,द्वारिकापुरी मोहब्बेवाला में एक और पटेलनगर में दो लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव है। वहीं, दून अस्पताल में संदिग्ध कोरोना मरीजों के रूप में भर्ती छह मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। संक्रमित पाए गए लोग मथुरा, मुंबई, गाजियाबाद, यमुनानगर, नोएडा, दिल्ली व गुरुग्राम से लौटे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *